मैच (19)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
ख़बरें

एंजियोप्लास्टी के बाद पाकिस्तानी बल्लेबाज़ आबिद की क्रिकेट में वापसी

हाल ही में उन्हें फ़ैसलाबाद में हुए एक स्थानीय टी20 टूर्नामेंट में खेलने की अनुमति मिली थी

आबिद ने कहा कि क्रिकेट उनकी ज़िंदगी रहा है  •  AFP/Getty Images

आबिद ने कहा कि क्रिकेट उनकी ज़िंदगी रहा है  •  AFP/Getty Images

एंजियोपलास्टी के चार महीने बाद पाकिस्तानी बल्लेबाज़ आबिद अली अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के लिए तैयार हैं। क़ायदे आज़म ट्रॉफ़ी मैच में बल्लेबाज़ी करते समय सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें पिछले साल दिसंबर में एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम (ACS) का पता चला था और एक दिन बाद उनकी एंजियोप्लास्टी करनी पड़ी थी।
आबिद पिछले साल दिसंबर से कंज़र्वेटिव कार्डियक रिहैबिलिटेशन पर थे और उन्हें हाल ही में फ़ैसलाबाद में एक स्थानीय टी20 टूर्नामेंट खेलने की अनुमति दी गई थी। इलाज के बाद उन्होंने ट्रेडमिल पर चलना शुरू किया और धीरे-धीरे उन्हें मैदान में एक निश्चित गति से दौड़ने दिया गया। उन्होंने पिछले महीने लाहौर के हाई परफ़ॉर्मेंस सेंटर में नेट्स पर खेलना शुरू किया था और कई परीक्षणों से गुज़रने के बाद उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) द्वारा प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलने के लिए मंज़ूरी दे दी गई थी।
आबिद ने ईएसपीएनक्रिकइंफो से कहा, "मैं पाकिस्तान के लिए फिर से खेलने की संभावना के बारे में सोचकर वास्तव में उत्साहित हूं। डॉक्टरों ने मुझे मैदान में वापस जाने की मंज़ूरी दे दी और मैं आख़िरकार सामान्य जीवन जीने के लिए वापस आ सकता हूं। मैं कुछ समय के लिए दवाओं पर रहूंगा क्योंकि स्टेंट लगाए गए हैं, लेकिन कुल मिलाकर शारीरिक रूप से मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं। मैं डाइविंग कर रहा हूं, दौड़ रहा हूं, जॉगिंग, बल्लेबाज़ी और फिर से सामान्य होना वास्तव में बहुत अच्छा है। हालांकि मुझे संदेह था कि क्या मैं फिर से दिल की स्थिति के साथ खेल सकता हूं? लेकिन मैंने उम्मीद नहीं खोई। मैंने कुछ समय के लिए क्रिकेट के बारे में सोचना बंद कर दिया और पहले स्वस्थ जीवन पाने पर ध्यान केंद्रित किया। यह कठिन था लेकिन अब सब कुछ पटरी पर लौट आया है।"
आबिद की गैरमौजूदगी में पाकिस्तान को सलामी बल्लेबाज़ के रूप में अब्दुल्ला शफ़ीक के साथ इमाम-उल-हक़ को प्रमोट करना पड़ा। वहीं शान मसूद को सलामी बल्लेबाज़ी के तीसरे विकल्प के तौर पर रखना पड़ा। पाकिस्तान की अगली टेस्ट सीरीज़ जुलाई-अगस्त में श्रीलंका में है और यह कहना जल्दबाज़ी होगी कि क्या चयनकर्ता इसके लिए आबिद पर विचार करेंगे। सितंबर में शुरू होने वाले घरेलू सत्र के साथ पाकिस्तान में वर्तमान में एक ऑफ़ सीज़न चल रहा है और आबिद के लिए अपनी फ़ॉर्म को साबित करने के लिए शायद ही कोई प्रतिस्पर्धी क्रिकेट आ रहा है, लेकिन आबिद इस समय का सदुपयोग फ़िट होने के लिए करने वाले हैं। जिसके लिए वह काफ़ी उत्साहित भी हैं।
आबिद ने राष्ट्रीय टीम में अपनी वापसी की संभावनाओं पर बात करते हुए कहा, "मुझे यकीन नहीं है कि अभी मेरे राष्ट्रीय चयन की स्थिति क्या है, लेकिन मैं अपनी वापसी के लिए पूरी तरह से तैयार हूं। पीसीबी ने मेरी बहुत अच्छी देखभाल करते हुए पूरे समय में बहुत मदद की है। मैं उनके समर्थन और मार्गदर्शन के लिए आभारी हूं। अभी के लिए मैंने फ़ैसलाबाद में रमज़ान टूर्नामेंट में तीन-चार मैच खेलकर छोटे प्रारूप के साथ शुरुआत की और यह अच्छा रहा।
उन्होंने आगे कहा, "इन दो मैचों ने मुझे अपने क्रिकेट करियर को पुनर्जीवित करने के लिए आत्मविश्वास दिया है। यह सिर्फ़ शुरुआत है और मैं चयन के लिए अपनी फ़िटनेस पर कड़ी मेहनत कर रहा हूं। मैंने (बांग्लादेश के ख़िलाफ़) पिछली सीरीज़ में अच्छे रन बनाए थे। मैं अच्छी लय में था और कराची में सीने में दर्द होने की वजह से गिर गया। मुझे खोए हुए समय को पकड़ने के लिए बहुत मेहनत करने की ज़रूरत है और मुझे पूरी उम्मीद है कि मैं इसे हासिल करने में सक्षम हूं। मेरे पास अभी भी बहुत क्रिकेट बाक़ी है और मैं वापस नहीं बैठना चाहता। क्रिकेट मेरी ज़िंदगी रहा है।"
आबिद ने आख़िरी बार दिसंबर में पूर्ण क्रिकेट खेला था। बांग्लादेश दौरे के बाद अपनी घरेलू टीम सेंट्रल पंजाब के लिए खेलने लौटे थे,जहां वह 87.66 के औसत से 263 रन बनाने के बाद टेस्ट के लिए प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ थे। वह सत्र का अपना छठा प्रथम श्रेणी खेल रहे थे और उन्होंने 51.89 के औसत से तीन शतकों के साथ 766 रन बनाए थे। कराची के यूबीएल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में ख़ैबर पख़्तूनख़्वा के ख़िलाफ़ खेल के आखिरी दिन जब उन्हें अस्पताल ले जाने की नौबत आई तब तक आबिद अर्धशतक बना चुके थे। उनकी एंजियोप्लास्टी के बाद से, वह एक सलाहकार कार्डियोलॉजिस्ट की देखरेख में थे, जो उनके इलाज के लिए पीसीबी मेडिकल टीम के साथ संपर्क कर रहे हैं।
34 वर्षीय आबिद 2019 में पदार्पण के बाद से दिसंबर तक पाकिस्तान के लिए टेस्ट में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी थे और 2021 में वह हरारे में ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध दोहरा शतक सहित नौ टेस्ट में 49.64 रन के साथ दुनिया में छठे स्थान पर थे।
उन्होंने 106 प्रथम श्रेणी खेलों में 7116 रन के लिए घरेलू क्रिकेट में 12 साल बिताने के बाद 2019 में रावलपिंडी में श्रीलंका के ख़िलाफ़ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया। उन्होंने 31 साल की उम्र में एक शतक के साथ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की और टेस्ट और वनडे दोनों में 30 वर्ष से अधिक की उम्र में डेब्यू करने वाले एकमात्र खिलाड़ी बन गए।

उमर फ़ारूक़ ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के पाकिस्तान कॉरेसपोंडेंट हैं। अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।