मैच (18)
सीपीएल (2)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
यूएई बनाम बांग्लादेश (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
रोड सेफ़्टी (2)
महिला विश्व कप क्वालिफ़ायर (4)
लेजेंड्स लीग (2)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
इंग्लैंड बनाम भारत (महिला) (1)
दलीप ट्रॉफ़ी (1)
काउंटी डिवीज़न एक (1)
ख़बरें

मोईन : दो साल बाद हम वनडे क्रिकेट को खो देंगे

इंग्लैंड के ऑलराउंडर ताज़ा बड़े खिलाड़ी बने जिन्होंने 50-ओवर क्रिकेट के भविष्य को लेकर चिंता ज़ाहिर की

Moeen Ali warms up before a Hundred game, Birmingham Phoenix vs Oval Invincibles, August 4, 2021

मोईन के अलावा कई प्रमुख खिलाड़ी वनडे क्रिकेट के भविष्य पर चिंता जता चुके हैं  •  ECB/Getty Images

मोईन अली एक और बड़े क़द के अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी बने हैं जिन्होंने व्यस्त क्रिकेट कार्यक्रम के चलते वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के भविष्य पर चिंता जताई है।
हाल ही के दिनों में मोईन के कई साथी, जैसे जॉस बटलर, जो रूट और बेन स्टोक्स, इस विषय पर बात कर चुके हैं। अपने कार्यक्रम के चलते इंग्लैंड ने भारत और साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध क्रमशः 25 दिनों में 12 सीमित ओवर मैच खेले थे।
'द हंड्रेड' प्रतियोगिता में अपनी टीम बर्मिंघम फ़ीनिक्स के पहले मुक़ाबले से पहले एक प्रायोजक के कार्यक्रम के दौरान मोईन ने कहा, "कार्यक्रम अभी बहुत विस्तृत है। आप चाहते हैं कि आप फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट के लिए ख़ुद को उपलब्ध रखें लेकिन इसका मतलब होगा टेस्ट या वनडे मैच मिस करना। आप चाहते हैं आप इंग्लैंड के लिए सारे ही मुक़ाबले खेल सकें। मेरे हिसाब से यह धारणीय नहीं है।"
"मुझे डर है दो साल बाद हम वनडे क्रिकेट को खो देंगे क्योंकि यह एक लंबा बोरिंग प्रारूप है। टी20 अपनी जगह सुरक्षित है और फिर आपके पास टेस्ट क्रिकेट भी है जो बढ़िया है। इन दोनों के बीच 50-ओवर क्रिकेट को महत्त्व नहीं मिलता। मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है बहुत ज़्यादा क्रिकेट खेला जा रहा है। एक हिसाब से यह खेल के लिए अच्छा भी है लेकिन इसके वजह से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट पर रुकावट नहीं होनी चाहिए।"
स्टोक्स ने हाल ही में अपने टेस्ट कप्तानी और टी20 क्रिकेट में खेलते रहने के लिए वनडे क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। मोईन का कहना है कि ऐसा क़दम कई और खिलाड़ी अपने स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए ले सकते हैं। उन्होंने ख़ुद 2021 में टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी लेकिन इस जून कहा था कि वह फिर से टेस्ट क्रिकेट खेलने के इच्छुक हैं।
मोईन ने कहा, "तीनों प्रारूप में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल पाना सबसे अच्छा विकल्प है। लेकिन आज कल इतनी भारी संख्या में मैच हो रहे हैं कि खिलाड़ी एक प्रारूप से संन्यास ले ही लेते हैं। जब तक कार्यक्रम इस प्रकार परस्पर चलेंगे तो ऐसा और होता रहेगा।"
मोईन ख़ुद फ़िलहाल किसी प्रारूप में इंग्लैंड के लिए मैच मिस नहीं करना चाहते। 35 वर्षीय मोईन को पाकिस्तान में होने वाले टेस्ट सीरीज़ के लिए टीम में शामिल किया जाना संभावित है, लेकिन उन्होंने क्रिकेट में घुस रहे युवा खिलाड़ियों के लिए एक या दो प्रारूप चुनने की कठिनाई पर रोशनी डाली।
उन्होंने कहा, "अगर आप युवा खिलाड़ी हैं तो आजकल अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को छोड़ कर भी आप इतना पैसा कमा सकते हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण हैं क्योंकि आप क्रिकेट की चोटी टेस्ट क्रिकेट के लिए अपनी भूख को खो सकते हैं। आप सोच सकते हैं कि अगर आप टेस्ट भी नहीं खेलते तो आपके पास इतने विकल्प बचते हैं। मुझे पता है यह भविष्यवाणी करना बहुत जल्दी होगा लेकिन कई बेहतरीन खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट से मुंह मोड़ लेंगे। आज के क्रिकेटरों के लिए टेस्ट ना खेल पाना कोई बड़ी बात नहीं जबकि 10-15 साल पहले तक यही वह कसौटी थी जिस पर आप सफल होना चाहते थे।"

विदूशन अहंतराजा ESPNcricinfo के एसोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।