मैच (20)
WPL (2)
AFG v IRE (1)
BPL 2023 (1)
NZ v AUS (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (2)
Sheffield Shield (3)
QAT v HKG (1)
CWC Play-off (3)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
PSL 2024 (2)
Dang CL (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स : भारत की हार में चमके कोहली और बिश्नोई

पाकिस्तान से मिली हार में अर्शदीप के द्वारा छोड़ा गया कैच बना टर्निंग प्वाइंट

विराट कोहली ने एशिया कप 2022 में लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा  •  AFP/Getty Images

विराट कोहली ने एशिया कप 2022 में लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा  •  AFP/Getty Images

28 अगस्त को दुबई के मैदान पर भारत के हाथों मिली हार का पलटवार करते हुए पाकिस्तान ने सुपर 4 चरण के अपने पहले मुक़ाबले में भारत को हराया। 182 के लक्ष्य का पीछा करते हुए मोहम्मद रिज़वान ने अर्धशतक जड़ा जबकि ऑलराउंडर मोहम्मद नवाज़ ने चौथे नंबर पर आकर 42 रनों की तूफ़ानी पारी खेली। रोमांच से भरे मैच में पाकिस्तान ने एक गेंद शेष रहती जीत अपने नाम की। इस मैच में भारतीय एकादश के खिलाड़ियों को मिले अंकों पर एक नज़र डालते हैं।

क्या सही और क्या ग़लत?


ख़राब फ़ॉर्म से गुज़र रहे रोहित शर्मा और केएल राहुल के बीच पांच ओवरों के भीतर अर्धशतकीय साझेदारी हुई। इसके अलावा विराट कोहली का बल्ला फिर एक बार बोला जो आगामी टी20 विश्व कप से पहले टीम इंडिया के लिए बढ़िया संकेत है।
हालांकि सात बल्लेबाज़ों के साथ उतरने के बावजूद मध्य ओवरों में टीम ने लगातार अंतराल पर विकेट गंवाए और 10-15 रन पीछे रह गई। यह रन अंत में हार और जीत का कारण बने। साथ ही तेज़ गेंदबाज़ रन गति पर अंकुश नहीं लगा पाए और हार्दिक पंड्या को पांचवें गेंदबाज़ के रूप में देखना अभी के लिए जल्दबाज़ी होगी।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)


केएल राहुल, 7 : चोट और कोरोना से वापसी करने के बाद राहुल को रनों की तलाश थी। एशिया कप में अब तक संघर्ष करने वाले राहुल ने पांचवें गियर में बल्लेबाज़ी करना शुरू किया और आक्रामक रवैया अपनाते हुए टीम को तेज़ शुरुआत दिलाई। वह सेट हो चुके थे लेकिन बड़ा शॉट लगाने के चक्कर में वह लॉन्ग ऑन पर लपके गए।
रोहित शर्मा, 7.5 : इस मैच से पहले हमने सवाल पूछा था कि कप्तान रोहित का बल्ला कब बोलेगा? इसका उत्तर उन्होंने अपनी तेज़-तर्रार पारी के साथ दिया। 16 गेंदों का सामना करते हुए उन्होंने तीन चौकों और दो छक्कों की मदद से 28 रन बनाए। वह बढ़िया लय में नज़र आ रहे थे और यह भारत के लिए अच्छी बात है।
विराट कोहली, 9 : लंबे ब्रेक से वापसी करने के बाद से कोहली रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। एशिया कप में पिछले दोनों मैचों में अपनी छाप छोड़ने के बाद उन्होंने एक और अर्धशतक जड़ा। चार चौकों और एक छक्के से सजी उनकी पारी की विशेषता थी विकेटों के बीच उनकी तेज़ दौड़। गैप में गेंदों को धकेलकर उन्होंने सिंगल को डबल में तब्दील किया और भारत को 180 के पार पहुंचाया। हालांकि 136.36 का उनका स्ट्राइक अब भी सवालों के घेरे में रहेगा।
सूर्यकुमार यादव, 6 : जब सूर्यकुमार ने अपनी पारी की शुरुआत की तब ऐसा लग रहा था कि वह एक बार फिर बड़ा स्कोर बनाएंगे। हालांकि अपने पसंदीदा स्वीप शॉट को खेलते समय वह आउट हुए। इस शॉट ने उन्हें बहुत रन दिए हैं लेकिन आज उनका दिन नहीं था।
ऋषभ पंत, 6 : दिनेश कार्तिक की जगह एकादश में शामिल किए गए पंत से उम्मीद थी कि वह स्पिनरों को आड़े हाथों लेंगे। हालांकि ऐसा हुआ नहीं और पंत अपनी छोटी पारी में संघर्ष करते नज़र आए। जब टीम को साझेदारी की आवश्यकता थी तब रचनात्मक रिवर्स स्वीप लगाने के प्रयास में वह आउट हुए।
हार्दिक पंड्या, 5 : हार्दिक को इस मैच में पांचवें गेंदबाज़ी की भी भूमिका निभानी थी। लेकिन पहले बात करते हैं बल्लेबाज़ी की जहां हार्दिक अपना खाता भी नहीं खोल पाए और दूसरी ही गेंद पर चलते बने। गेंद के साथ उन्होंने अर्धशतकवीर रिज़वान को आउट ज़रूर किया लेकिन 11 की इकॉनमी ने उस विकेट को नदारद कर दिया।
दीपक हुड्डा, 5 : अंतिम ओवरों में जहां भारत को फ़िनिशिंग टच की आवश्यकता थी, हुड्डा आतिशबाज़ी नहीं दिखा पाए। 16 रन बनाने के लिए उन्होंने 14 गेंदों का सामना किया जो टीम के लिए फ़ायदेमंद नहीं रहा। गेंदबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला लेकिन उन्होंने फ़ील्डिंग में प्रभावित किया।
भुवनेश्वर कुमार, 5.5 : टीम के सबसे अनुभवी तेज़ गेंदबाज़ से सभी को भारी उम्मीदें थी। हालांकि भुवनेश्वर इस मैच में उन उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए। नई गेंद के साथ विकेट नहीं मिलने के बाद डेथ ओवरों में उन्होंने यॉर्कर गेंदों पर विश्वास नहीं किया और 19वें और संभवतः मैच के निर्णायक ओवर में 19 रन ख़र्च किए।
रवि बिश्नोई, 8 : इस प्रतियोगिता में अपना पहला मैच खेल रहे बिश्नोई को पावरप्ले में गेंद थमाई गई। अपने पहले ओवर में बाबर आज़म को पवेलियन भेजने के बाद उन्होंने किफ़ायती गेंदबाज़ी की और दबाव बनाए रखा। उन्हें मैच का दूसरा विकेट भी मिल जाता अगर अर्शदीप कैच नहीं टपकाते।
युज़वेंद्र चहल, 6 : चहल टीम के वरिष्ठ स्पिनर हैं लेकिन वह रन गति पर क़ाबू नहीं रख पाए। फ़ख़र ज़मान को आउट करने वाले चहल ने चार ओवरों में 43 रन दिए। उनकी शैली के गेंदबाज़ से इससे बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद होती है।
अर्शदीप सिंह, 5.5 : गेंद के साथ तो अर्शदीप ने बेहतरीन प्रदर्शन किया लेकिन वह इस मैच को जल्द से जल्द भूलना चाहेंगे। वह इसलिए क्योंकि एक आसान कैच को छोड़कर उन्होंने पाकिस्तान को मैच में वापस आना के मौक़ा दे दिया। इस कैच के लिए अंक ज़रूर कटेंगे लेकिन यह भी याद रखना आवश्यक है कि पिछले दो मैचों में संघर्ष करने के बाद इस मैच में वह कारगर साबित हुए।

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।