मैच (23)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
CAN T20 (2)
RHF Trophy (4)
फ़ीचर्स

यह जॉस ही हैं या यूनिवर्स बॉस ?

क्या जॉस बटलर जल्द ही सबसे ज़्यादा आईपीएल शतकों की सूची में क्रिस गेल को पछाड़ सकते हैं?

यह सोचना काफ़ी डरावना है कि जॉस बटलर इस आईपीएल में क्या कुछ कर सकते हैं। यह सीज़न इस वक़्त अपने आधे चरण पर पहुंतने की कगार पर है और इस दौरान सबसे ज़्यादा रन, सबसे ज़्यादा शतक, सबसे ज़्यादा छक्के, सबसे ज़्यादा चौके और कई कारनामे जिस एक खिलाड़ी के नाम दर्ज हैं, उसका नाम है जॉस बटलर।बटलर ने अपने प्रदर्शन से बल्लेबाज़ी करना काफ़ी आसान दर्शाया है। वह अब तक सात मैचों में तीन शतक लगा चुके हैं। आईपीएल के इतिहास में सबसे ज़्यादा छह शतकों का रिकॉर्ड क्रिस गेल के नाम है, जिन्होंने इसके लिए कुल 141 पारियां खेलीं थीं। गेल के बाद सबसे अधिक पांच शतक विराट कोहली के नाम हैं। कोहली ने अब तक आईपीएल में 206 पारियां खेली हैं।
आईपीएल में सबसे अधिक शतक लगाने वाले बल्लेबाज़ों की सूची में बटलर संयुक्त रूप से तीसरे नंबर पर हैं। बटलर ने आईपीएल की कुल 71 पारियों में चार शतक लगाए हैं। उनके साथ तीसरे पायदान पर डेविड वॉर्नर और शेन वॉटसन हैं, जिन्होंने क्रमशः 155 और 141 पारियां खेलीं हैं। वॉर्नर अब भी आईपीएल में खेल रहे हैं जबकि वॉटसन संन्यास ले चुके हैं।
दिलचस्प बात यह है कि बटलर विपक्षी थिंक टैंक को नेस्तनाबूत करने के लिए उसी तौर तरीक़े का इस्तेमाल कर रहे हैं, जैसा कि गेल किया करते थे। इस आईपीएल में अपने 491 रनों में से बटलर ने 356 रन सिर्फ़ बाउंड्री में बनाए हैं। बटलर बल्लेबाज़ी करते समय डबल और ट्रिपल चुराने के बजाय चौकों और छक्कों में अधिक विश्वास जता रहे हैं। ऊर्जा को बर्बाद करने के मुक़ाबले उसे संरक्षित कर के रखना ही बटलर का मंत्र है। ऊर्जा संरक्षित करने से बटलर को डेथ ओवरों में भी कुछ सबसे बड़ी सीमाओं को पार करने में मदद मिली है।
शुक्रवार को दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ उनकी 65 गेंदों में 116 रन की मैच जिताऊ पारी कुछ अलग नहीं थी। राजस्थान को बल्लेबाज़ी के लिए बुलाने के बाद दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत ने कहा कि उनके गेंदबाज़ों के लिए वानखेड़े की हरी-भरी पिच पर पहले गेंदबाज़ी करना फ़ायदेमंद साबित होगा। पंत को लगा कि अगर उनकी टीम राजस्थान को 150-160 पर रोक देती है तो दिल्ली इस मुक़ाबले को जीत सकते हैंराजस्थान ने पारी की शुरुआत काफ़ी धीमी गति से की थी। पांच ओवरों में बिना कोई विकेट खोए उन्होंने 29 रन बनाए थे। एक अच्छे टोटल तक पहुंचने के लिए यहां ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी की दरकार थी और बटलर इस काम के लिए सबसे मुफ़ीद खिलाड़ी थे। बटलर की धीमी शुरुआत अब उनकी आदत बन गई है।
मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ लगाए गए शतक में उन्होंने अपनी पहली 15 गेंदों में 12 रन ही बनाए थे। कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़िलाफ़ खेली गई 103 रनों की पारी में, उन्होंने पहली 15 गेंदों पर 17 रन ही बनाए थे। शुक्रवार को पहले ओवर में उन्होंने दो चौके ज़रूर लगाए, लेकिन वह पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं थे। 14 गेंदों के बाद वह महज़ 11 रन बनाकर खेल रहे थे।
इस सीज़न के तीनों शतकों में बटलर का डॉट-बॉल प्रतिशत सबसे अधिक है। दरअसल, मुंबई के विरुद्ध उन्होंने 68 गेंदों में 28 डॉट्स खाए। यह 41.20 फ़ीसदी है, आईपीएल में एक शतक में सबसे अधिक। कोलकाता के ख़िलाफ़ यह 34.40 फ़ीसदी (24/65) था और दिल्ली के विरुद्ध यह 36.90 फ़ीसदी (21/61) था। इसकी तुलना में कोहली के पांच शतकों में डॉट-बॉल प्रतिशत 17% से 30% के बीच रहा है। हालांकि, गेल और बटलर का डॉट बॉल प्रतिशत लगभग बराबर ही है। बटलर का औसत डॉट-बॉल प्रतिशत 35.70 है, जबकि गेल का 34.20 प्रतिशत और कोहली का 20.70 प्रतिशत है।
बटलर की बल्लेबाज़ी का तंत्र बहुत सरल है। एक बार जब वह अपनी नज़रें जमा लेते हैं, तो वह क्रीज़ का चतुराई से उपयोग करते हैं। कोणों का बुद्धिमानी से उपयोग करते हैं और उन शक्तिशाली, लचीले कलाई का उपयोग करके गेंद को जहां चाहे वहां भेजते हैं। पावर-हिटिंग में बटलर किसी से कम नहीं।
जहां तक आईपीएल 2022 का सवाल है यह सिर्फ़ अभी आधे चरण तक पहुंचा है और बटलर के पास 500 रन से नौ रन कम हैं। क्या वह इस सीज़न में 1000 रन बना सकते हैं? एक ऐसा कारनामा जो पहले कभी किसी संस्करण में हासिल नहीं किया गया है? क्या वह जल्द ही सबसे ज़्यादा आईपीएल शतकों की सूची में गेल को पछाड़ सकते हैं?

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।