मैच (9)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
आईएलटी20 (2)
बीपीएल 2023 (1)
ख़बरें

हरमनप्रीत: अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट के बीच के अंतर को कम करेगा महिला आईपीएल

हरमनप्रीत और स्मृति जैसी सितारों का मानना है कि महिला आईपीएल से नए खिलाड़ियों को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के माहौल में ढलने में मदद मिलेगी

अगले साल मार्च में शुरू हो रहे महिला आईपीएल के पहले सीज़न को लेकर उत्साहित हैं हरमन  •  BCCI

अगले साल मार्च में शुरू हो रहे महिला आईपीएल के पहले सीज़न को लेकर उत्साहित हैं हरमन  •  BCCI

महिला आईपीएल का उद्घाटन सीज़न मार्च में होने वाला है और भारत के कुछ शीर्ष खिलाड़ी, कप्तान हरमनप्रीत से लेकर सीनियर सलामी बल्लेबाज़ स्मृति तक, इस इवेंट की प्रतीक्षा कर रही हैं, जिसमें विदेशी सितारे भी भाग लेंगे।
स्टार स्पोर्ट्स के शो 'फ़ॉलो द ब्लूज़' पर हरमनप्रीत ने कहा, "आईपीएल उन खिलाड़ियों के लिए एक अच्छा मंच होगा जो बहुत अच्छे हैं, लेकिन आप समझते हैं, अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट अभी भी ऐसा है कि वे अपने दृष्टिकोण और मानसिकता को रातों रात नहीं बदल सकते हैं।
"लेकिन आईपीएल में जब उन्हें विदेशी खिलाड़ियों के ख़िलाफ़ खेलने का मौक़ा मिलेगा, तो यह उन्हें एक मंच देगा, वे अच्छा खेल सकती हैं, वे समझ सकती हैं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट क्या होता है। लिहाज़ा, जब वे भारतीय टीम के लिए खेलेंगी, तो उन्हें किसी अतिरिक्त दबाव का सामना नहीं करना पड़ेगा, क्योंकि अभी जो खिलाड़ी घरेलू टीमों से चुने जाते हैं, कभी-कभी मैं देखती हूं कि वे कुछ समझ नहीं पाती हैं, उन्हें समझ नहीं आ रहा होता है कि अपने गेम प्लान को कैसे बदला जाए।
"उस अंतर को कम करने के लिए यह टूर्नामेंट एक प्रमुख भूमिका निभाएगा। इसलिए आने वाले वर्षों में आईपीएल में खेलने वाली लड़कियों में हम निश्चित रूप से उनके प्रदर्शन में कुछ बड़े बदलाव देखेंगे।"
भारतीय महिला टीम ने पिछले एक साल में काफ़ी प्रगति की है, लेकिन चैंपियनशिप जीतने में सफल नहीं हो पाए हैं। भारत ने वनडे विश्व कप के सेमीफ़ाइनल में जगह बनाई, श्रीलंका को टी20 और वनडे द्विपक्षीय सीरीज़ में हराया, राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता और इंग्लैंड में 3-0 से ऐतिहासिक जीत हासिल की, इसके बाद रिकॉर्ड सातवीं बार एशिया कप जीता।
आईपीएल के बारे में आगे बात करते हुए हरमनप्रीत ने कहा, "आईपीएल महिला क्रिकेट के लिए एक बड़ा क़दम है, क्योंकि इससे पहले हमने ऑस्ट्रेलिया बोर्ड और इंग्लैंड बोर्ड को देखा है, उन्होंने महिला बीबीएल और द हंड्रेड पर ध्यान दिया है।"
स्मृति ने महिला आईपीएली की तुलना द हंड्रेड और महिला बीबीएल जैसी लीगों से की और बताया कि कैसे उन लीगों ने अपने घरेलू खिलाड़ियों की मदद की है।
उन्होंने कहा, "हमने चर्चा की कि घरेलू और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के बीच एक बड़ा अंतर है, क्योंकि अगर आप घरेलू क्रिकेट में अच्छा खेलते हैं और फिर अचानक अंतरराष्ट्रीय मैच खेलते हैं, आप यह नहीं समझ पाते हैं कि क्या करना है और कैसे करना है।
"हम इस बारे में बात करते रहते हैं कि इससे बेंच स्ट्रेंथ कैसे बढ़ेगी।"
स्मृति ने आगे कहा, "लेकिन वास्तव में तथ्य यह है कि यह घरेलू लड़कियों की बड़े पैमाने पर मदद करेगा, क्योंकि इस तरह की लीग में खेलने के अनुभव से महिला क्रिकेट के लिए बहुत सारी चीज़ें सुलझ जाएंगी।
"हमने देखा है कि कैसे बिग बैश और द हंड्रेड ने क्रमशः ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को उनके घरेलू सेटअप के साथ-साथ अन्य चीज़ों में मदद की है।"