मैच (14)
IND v ENG (1)
WPL (1)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
BPL 2023 (2)
PSL 2024 (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

अगली एफ़टीपी में पांच टेस्ट मैचों की होगी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी

वनडे त्रिकोणीय सीरीज़ की होगी वापसी, पांच मैचों की टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ की संख्या बढ़ेगी

नागराज गोलापुड़ी और मोहम्मद इसाम
16-Jul-2022
2023 से 2027 के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच टेस्ट खेले जाएंगे  •  Getty Images

2023 से 2027 के बीच बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी के लिए भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच टेस्ट खेले जाएंगे  •  Getty Images

1992 के बाद पहली बार भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेली जाएगी। मई 2023 से अप्रैल 2027 तक चलने वाली आईसीसी की अगली एफ़टीपी में यह निर्धारित किया गया है।
2018-19 में भारत, ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ जीतने वाला पहला एशियाई देश बना था। इसके दो साल बाद, कई बड़े खिलाड़ियों की ग़ैरमौजूदगी में टीम ने गाबा में एक धमाकेदार जीत करते हुए 2-1 से सीरीज़ अपने नाम की थी। दोनों मौक़ों पर चर्चा हुई थी कि बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी को पांच मैचों की सीरीज़ बनाया जाना चाहिए और अब यह सच हो रहा है। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) और क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) ने अगले चार सालों में दो ऐसी सीरीज़ खेलने पर सहमति जताई है।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को मिली जानकारी के अनुसार दिसंबर-जनवरी 2024-25 में पांच टेस्ट मैचों के लिए भारत, ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगा। इसके बाद साल 2027 की शुरुआत में यह दोनों टीमें भारत में टकराएंगी। यह दोनों ही सीरीज़ क्रमश: 2023-25 और 2025-27 विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) चक्र का हिस्सा होंगी।
इसके अलावा भारत को इंग्लैंड के विरुद्ध पांच मैचों की दो टेस्ट सीरीज़ खेलनी है - घर पर 2024 में और 2025 में इंग्लैंड जाकर। जहां घरेलू सीरीज़ 2023-25 डब्ल्यूटीसी का हिस्सा होगी वहीं अगली सीरीज़ 2025-27 चक्र के अंतर्गत खेली जाएगी।
नई एफ़टीपी के मसौदे के अनुसार जहां इंग्लैंड को 42 और ऑस्ट्रेलिया को 41 टेस्ट खेलने हैं, वहीं भारत 38 टेस्ट मैचों में हिस्सा लेगा। इसके अलावा बांग्लादेश (34) और न्यूज़ीलैंड (32) ही वह दो टीमें है जो 30 से अधिक टेस्ट मैच खेलेंगी।
मानदंड के अनुसार डब्ल्यूटीसी च्रक की सीरीज़, भाग लेने वाली टीमों द्वारा सहमति से निर्धारित की जाती है। जबकि आगामी दो डब्ल्यूटीसी च्रक के लिए सीरीज़ पर मुहर लगाई जा चुकी है, मैचों की संख्या और तारीख़ों में समायोजन के लिए जगह है। नतीजतन, आईसीसी, जो एफ़टीपी को अंतिम रूप देने में देशों की मदद करने के लिए एक सुविधाजनक भूमिका निभाता है, ने एफ़टीपी के मसौदे में कई सीरीज़ की पहचान की है, जिनपर इंग्लैंड के बर्मिंघम में 25 और 26 जुलाई को आईसीसी वार्षिक सम्मेलन के अंत तक अंतिम फ़ैसला लिया जाना है।
बाक़ी टेस्ट सीरीज़ - छोटी और सरल
ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड को छोड़कर भारत एक द्विपक्षीय सीरीज़ में दो से अधिक टेस्ट केवल एक बार खेलेगा - घर पर न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध अक्तूबर-नवंबर 2024 में। डब्ल्यूटीसी में भारत की अन्य सीरीज़ केवल दो मैचों की होंगी।
इसका एक कारण खिलाड़ियों का कार्यभार है और दूसरा विपक्षी टीमों का स्तर। उदाहरणस्वरूप साउथ अफ़्रीका जिसके विरुद्ध भारत ने अक्सर तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेली है लेकिन अगले एफ़टीपी में भारत और साउथ अफ़्रीका के बीच दो टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेली जाएगी।
वहीं दूसरी तरफ़ इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया चार सालों की इस अवधि में तीन टेस्ट मैचों की कई सीरीज़ में भाग लेंगे।
घर पर ऑस्ट्रेलिया दिसंबर 2023 में पाकिस्तान, सितंबर-अक्तूबर 2026 में साउथ अफ़्रीका और दिसंबर-जनवरी 2027 में न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध तीन टेस्ट मैचों की सीरीज़ खेलेगा। इसके अलावा जून-जुलाई 2025 में टीम तीन टेस्ट मैच खेलने के लिए वेस्टइंडीज़ जाएगी।
इस एफ़टीपी में इंग्लैंड को घर पर तीन और घर से दूर जाकर तीन मैचों की तीन टेस्ट सीरीज़ खेलनी है। घरेलू धरती पर यह सीरीज़ जून-जुलाई 2024 में वेस्टइंडीज़, जून 2026 में न्यूज़ीलैंड और अगस्त-सितंबर 2026 में पाकिस्तान के विरुद्ध खेली जाएगी। इसके अलावा इंग्लैंड को अक्तूबर 2024 में पाकिस्तान, दिसंबर 2024 में न्यूज़ीलैंड और दिसंबर-जनवरी 2027 में साउथ अफ़्रीका का दौरा करना है।
वनडे त्रिकोणीय सीरीज़ की वापसी
आईसीसी की वर्तमान एफ़टीपी में विश्व कप में प्रवेश करने के मार्ग के तौर पर रखी गई विश्व कप सुपर लीग के कारण बोर्ड अन्य द्विपक्षीय अथवा त्रिकोणीय सीरीज़ नहीं खेल रहे थे। हालांकि मई 2023 में सुपर लीग के हटने के बाद द्विपक्षीय वनडे सीरीज़ खेलने के लिए बहुत समय होगा और त्रिकोणीय सीरीज़ की वापसी भी होगी।
घर पर खेली जाने वाली चैंपियंस ट्रॉफ़ी से पहले फ़रवरी 2025 में पाकिस्तान त्रिकोणीय सीरीज़ के लिए संभवतः न्यूज़ीलैंड और साउथ अफ़्रीका की मेज़बानी करेगा। इसके कुछ महीनों बाद जून-जुलाई में साउथ अफ़्रीका और न्यूज़ीलैंड ऐसी ही एक सीरीज़ के लिए ज़िम्बाब्वे की यात्रा करेंगे। साथ ही अक्तूबर-नवंबर 2026 में पाकिस्तान घर पर श्रीलंका और एक तीसरे देश के साथ त्रिकोणीय सीरीज़ खेलेगा।
पांच मैचों की टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में बढ़ोतरी
अधिक टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने के व्यावसायिक लाभ के परिणामस्वरूप अगले एफ़टीपी चक्र में पांच मैचों की प्रस्तावित टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में भारी वृद्धि हुई है। पांच टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की 15 सीरीज़ निर्धारित की गई है जिनमें से नौ में भारत शामिल है, लेकिन कुछ की पुष्टि होना बाक़ी है।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।