मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
ख़बरें

राहुल ने पांच गेंदबाज़ों को खिलाने का इशारा किया

उप कप्तान ने कहा, पांचवें स्थान पर बल्लेबाज़ को चुनना एक चुनौती

रोहित की अनुपस्थिति में उप कप्‍तान बनाए गए हैं केएल राहुल  •  Getty Images

रोहित की अनुपस्थिति में उप कप्‍तान बनाए गए हैं केएल राहुल  •  Getty Images

केएल राहुल ने इशारा किया है कि सेंचुरियन में होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए भारतीय टीम पांच गेंदबाज़ों को खिलाने की इच्छुक है, जिससे कि यह उनके लिए बहुत मुश्किल फ़ैसला हो जाएगा कि पांचवें नंबर के लिए किस बल्लेबाज़ को खिलाया जाए।
रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में टीम के उप कप्तान केएल राहुल से शुक्रवार को पत्रकार वार्ता में पूछा गया कि क्या भारत को अपने गेंदबाज़ों के कार्यभार का प्रबंधन करना मुश्किल होगा, अगर वे केवल चार गेंदबाज़ों के आक्रमण के साथ खेलते हैं।
भारत ने अपने पिछले 15 टेस्ट में से प्रत्येक में पांच गेंदबाज़ खिलाए हैं, लेकिन ऑलराउंडर रवींद्र जाडेजा के चोटिल होने और दौरे से बाहर होने के कारण, सेंचुरियन में उस संयोजन के साथ रहना एक आक्रामक फ़ैसला होगा। बहरहाल, राहुल की प्रतिक्रिया ने सुझाव दिया कि पांच गेंदबाज़ भारत के पसंदीदा विकल्प हैं।
राहुल ने कहा, "मुझे लगता है कि अधिक टीमों ने [पांच गेंदबाज़ों] खिलाना शुरू कर दिया है, क्योंकि आप जानते हैं, हर टीम 20 विकेट लेना चाहती है और यही एकमात्र तरीक़ा है जिससे आप टेस्ट मैच जीत सकते हैं। हमने निश्चित रूप से उस रणनीति का इस्तेमाल किया है और इससे हमें हर उस टेस्ट मैच में मदद मिली है जो हमने भारत से दूर खेला है। मुझे लगता है कि पांच गेंदबाज़ों के साथ काम का बोझ थोड़ा आसान हो जाता है और जब आपके पास उस तरह की गुणवत्ता हो, तो आप इसका इस्तेमाल भी कर सकते हैं।"
पांच गेंदबाज़ों के संयोजन के साथ केवल पांच बल्लेबाज़ों के लिए जगह रह जाती है। ऐसा लगता है कि अजिंक्य रहाणे, जिनका इस साल 12 टेस्ट में 19.57 का औसत है का श्रेयस अय्यर के साथ नंबर पांच स्लॉट के लिए तीन-तरफा संघर्ष देखने को मिलेगा, जिन्होंने हाल ही में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ कानपुर टेस्ट में डेब्यू करते हुए शतक लगाया था। तीसरे खिलाड़ी हनुमा विहारी होंगे, जिन्होंने साउथ अफ़्रीका दौरे पर भारत ए के लिए लगातार तीन अर्धशतक लगाए थे।
राहुल ने कहा, "देखिए, यह एक बहुत ही मुश्किल फ़ैसला है, ज़ाहिर है। अजिंक्य हमारी टेस्ट टीम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं और उन्होंने अपने करियर में बहुत ही महत्वपूर्ण पारियां खेली हैं। पिछले 15-18 महीने, अगर मैं पीछे सोचता हूं, तो मेलबर्न में उनकी पारी वास्तव में महत्वपूर्ण थी, इससे हमें टेस्ट मैच जीतने में मदद मिली।"
"लॉर्ड्स में [चेतेश्वर] पुजारा के साथ दूसरी पारी में उन्होंने एक अर्धशतक बनाया, जो वास्तव में महत्वपूर्ण था और यह हमारे लिए टेस्ट मैच जीत के रूप में समाप्त हुआ, इसलिए वह मध्य क्रम में हमारे लिए एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी रहे हैं और वह एक बहुत मज़बूत खिलाड़ी हैं।"
"श्रेयस ने स्पष्ट रूप से अपना मौक़ा भुनाया है। उन्होंने कानपुर में शानदार पारी खेली, शतक बनाया, इसलिए वह बहुत उत्साहित है और हनुमा ने भी हमारे लिए ऐसा ही किया है, तो हां यह एक कठिन निर्णय है, लेकिन हम आज या कल बात करना शुरू कर देंगे और आपको एक दो दिनों में पता चल जाएगा।"
साउथ अफ़्रीका दौरे की चुनौतियों में से एक पर राहुल ने कहा, साउथ अफ़्रीकी पिचों की उछाल से सामंजस्य बैठाना मुश्किल होता है। उन्होंने कहा यहां पर ऑस्ट्रेलिया की तुलना में अधिक स्पंजी उछाल होता है, कम से कम टेस्ट मैचों के शुरुआती भाग में।
उन्होंने कहा, "मैंने यहां साउथ अफ़्रीका में बहुत अधिक मैच नहीं खेले हैं, लेकिन अपने अनुभव से मुझे लगता है कि कभी-कभी टेनिस गेंद की उछाल के कारण पिचें थोड़ी चुनौतीपूर्ण हो सकती हैं। हम ऑस्ट्रेलिया में खेले हैं, जहां पिचें तेज और उछाल भरी हैं, लेकिन यहां पहले कुछ दिनों में यह थोड़ा स्पंजी हो सकता है और फिर यह तेज होना शुरू हो जाता है, इसलिए जब मैं पिछली बार खेला, तो हर बार विकेट मुश्किल था। और आपको उसे समझना था और खुद को समायोजित करना था। ऐसे में यह बल्लेबाज़ों और गेंदबाज़ों दोनों के लिए एक बड़ी चुनौती बन गई थी।"
गुरुवार को साउथ अफ़्रीका के तेज़ गेंदबाज डुएन ऑलिवियेर ने सुझाव दिया था कि बॉक्सिंग डे के लिए सेंचुरियन पिच शुरुआत में धीमी होगी और बाद में तेज़। राहुल उस आकलन से सहमत थे।
राहुल ने कहा, "देखिए, मुझे लगता है कि ऑलिवियेर इन परिस्थितियों को हमसे बेहतर तरीक़े से जानते होंगे।" उन्होंने कहा, "हां, पिछली बार जब हम यहां खेले थे तो विकेट की शुरुआत थोड़ी धीमी हुई और फिर तेज़ हुई और फिर धीमी हो गई। मुझे लगता है कि सेंचुरियन पिच के बारे में हम जो भी जानकारी जुटा सकते हैं, वह इसी तरह की पिच रही है। और सेंटर-विकेट अभ्यास में भी, हमने वही अनुभव किया और हमने उसी के अनुसार तैयारी करने की कोशिश की।"

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।