फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : यह खिलाड़ी है मुंबई के लिए उम्मीद की किरण

प्लेऑफ़ की दौड़ में इस अहम मुक़ाबले से जुड़े कुछ दिलचस्प आंकड़े

KL Rahul walks off for 91 off 50, Rajasthan Royals vs Punjab Kings, IPL 2021, Mumbai, April 12, 2021

मुंबई के ख़िलाफ़ पिछली छह पारियों में राहुल ने एक शतक और चार अर्धशतक जड़े हैं  •  BCCI

मंगलवार को जब पंजाब किंग्स और मुंबई इंडियंस अबू धाबी में मिलेंगे तो हारने वाली टीम के लिए प्लेऑफ़ तक का रास्ता और मुश्किल हो जाएगा। इन दो टीमों के बीच मुक़ाबले हमेशा रोमांचक रहे हैं। आइए देखते हैं आंकड़ों के हवाले से यह मैच किस रुख़ पलट सकता है और क्यों।
जब राहुल है तो क्या डरना?
आईपीएल 2020 के बाद से पंजाब की पूरी बल्लेबाज़ी लगभग कप्तान के एल राहुल के ऊपर ही निर्भर रहती है। राहुल इस दौरान जब 25 का आंकड़ा नहीं पार करते तो पंजाब ने आठ में से छह मैचों में पराजय का सामना किया है। वहीं जब राहुल 75 के स्कोर के पार निकल जाते हैं तो पिछले दो सीज़न में पंजाब का विनिंग रिकॉर्ड सौ प्रतिशत है। मुंबई वैसे भी उनकी मनपसंद टीम है। राहुल के उनके ख़िलाफ़ 71.1 की औसत और 130 के स्ट्राइक रेट से बनाए गए 640 रन किसी भी और टीम के मुक़ाबले सर्वाधिक हैं। साथ ही मुंबई के ख़िलाफ़ उनके पिछली छह पारियों पर ज़रा नज़र फेरिए - 94, 71 नाबाद, 100 नाबाद, 17, 60 और 77 नाबाद।
मुंबई की मिडिल ऑर्डर की परेशानी
पिछले सीज़न जब मुंबई इंडियंस ने अपने ख़िताब का सफलतापूर्वक बचाव किया तो उसके पीछे दो बड़े कारण रहे थे सूर्यकुमार यादव और इशान किशन। दोनों की क़ाबिलियत के चलते मुंबई बीच के ओवर में शुरुआती गतिशीलता को गिरने नहीं देता था और इससे विपक्षी गेंदबाज़ों पर दबाव कम नहीं होता था। लेकिन आईपीएल 2021 में कहानी कुछ और ही रही है। मुंबई से खेलते हुए जीवन में पहली बार सूर्या 30 से कम की औसत से चल रहे हैं। सत्र के पहले पांच मैचों में 154 रनों के बाद अगले पांच में उन्होंने सिर्फ़ 35 रन बनाए हैं। वहीं इशान ने इस सीज़न आठ पारियों में केवल 107 रन बनाए हैं और 30 तक एक बार भी नहीं पहुंच पाए। 87 का उनका स्ट्राइक रेट इस सीज़न किसी भी खिलाड़ी के लिए सबसे ख़राब है।
गेल हो रहे हैं अक्सर फ़ेल
2020 के आईपीएल में 41.1 की औसत और 137 के स्ट्राइक रेट से तीन पचासे ठोकने वाले क्रिस गेल इस साल थोड़े से विलीन नज़र आए हैं। इस वर्ष आईपीएल में उन्होंने नौ परियों में 24 की औसत से केवल 192 बनाए हैं। वैसे शायद यह उम्र का तक़ाज़ा भी है - 2021 में टी20 क्रिकेट में उनके जीवन में सबसे कम औसत और सबसे कम 50 से अधिक के स्कोर बने हैं। इसकी एक वजह रही है कि स्पिन ने उन्हें परेशान किया है। 27 पारियों में 13 बार वो स्पिन ही का शिकार हुए है।
यह खिलाड़ी है मुंबई के लिए उम्मीद की किरण
जसप्रीत बुमराह को पंजाब के ख़िलाफ़ खेलने में काफ़ी मज़ा आता है। उनके विरुद्ध उन्होंने 13 पारियों में 17 विकेट लिए हैं, और इस टीम के ख़िलाफ़ 18.1 का उनकी औसत और 6.1 की इकॉनमी दोनों ही किसी और टीम के मुक़ाबले सर्वश्रेष्ठ हैं। साथ ही 2020 के बाद से बुमराह ने मयंक अग्रवाल को दो मैचों में बिना खाता खोले आउट किया है और राहुल और निकोलस पूरन के ख़िलाफ़ भी उनका रिकॉर्ड अच्छा रहा है।

देबायन सेन ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर असेस्टिंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख हैं।