मैच (12)
आईपीएल (2)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

पिछले तीन-चार सालों में स्पिन के ख़िलाफ़ मेरी मानसिकता में बदलाव हुआ है : मिलर

राशिद ने कहा कि गुजरात के ख़ेमे ने उनकी बल्लेबाज़ी में काफ़ी विश्वास जताया है

David Miller hit a 35-ball fifty, Gujarat Titans vs Rajasthan Royals, IPL 2022, Qualifier 1, Kolkata, May 24, 2022

मिलर ने स्पिन के ख़िलाफ़ 96 की औसत और 144.36 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं  •  BCCI

आईपीएल 2022 में डेविड मिलर ने स्पिन के ख़िलाफ़ 96 की औसत और 144.36 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। इस सीज़न स्पिन गेंदबाज़ों की कम से कम 130 गेंदों का सामना करने वाले बल्लेबाज़ों में सिर्फ़ जॉस बटलर, केएल राहुल और तिलक वर्मा ही औसत के मामले में मिलर से आगे हैं जबकि स्ट्राइक रेट के मामले में ऋषभ पंत, बटलर और तिलक ही उनसे आगे हैं।
मिलर ने कहा कि भले ही वह स्पिन के ख़िलाफ़ कभी उतना न जूझे हों लेकिन उन्होंने स्पिन गेंदबाज़ों का सामना करने के लिए बीते कुछ सालों में काफ़ी मेहनत की है और इससे स्पिन के ख़िलाफ़ उनकी मानसिकता में भी काफ़ी परिवर्तन आया है।
संवाददाताओं से चर्चा के दौरान मिलर ने कहा, "मुझे ख़ुद बतौर खिलाड़ी कभी ऐसा महसूस नहीं हुआ कि मैं स्पिन के ख़िलाफ़ संघर्ष करता हूं। हालांकि यह एक ऐसा बिंदु ज़रूर था जिस पर मुझे काम करना था और पिछले तीन-चार सालों में मेरी मानसिकता में काफ़ी बदलाव आया है। मैं हर गेंद पर रन बनाना चाहता हूं लेकिन जब कोई ख़राब गेंद होती है तो मैं कम से कम चौका या छक्का लगाने की अच्छी स्थिति में होता हूं। ज़ाहिर है कि इससे गेंदबाज़ पर दबाव पड़ता है। यह उन चीज़ों में से एक है जिसे मैंने मानसिक रूप से सुधारने की कोशिश की है।"
गुजरात टाइटंस के इस बल्लेबाज़ ने इस सीज़न में अब तक 449 रन बनाए हैं जो कि पंजाब किंग्स की तरफ़ से खेलते हुए 2014 के सीज़न में उनके 446 रन से अधिक है। वह इस सीज़न सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों की सूची में आठवें पायदान पर हैं। वहीं गुजरात के लिए वह कप्तान हार्दिक पंड्या के बाद सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी हैं। स्ट्राइक रेट के लिहाज़ से सिर्फ़ बटलर, क्विंटन डिकॉक और संजू सैमसन का ही स्ट्राइक रेट उनके 141.19 के स्ट्राइक रेट से अधिक है।
मिलर ने कहा, "यह इस मायने में सुखद रहा है कि मैं पूरे सीज़न में अपने आत्मविश्वास को बनाए रखने में सक्षम रहा हूं। हमारे सभी प्रदर्शनों में वातावरण का एक बड़ा श्रेय जाता है। एक खिलाड़ी के रूप में यदि मैदान के बाहर आपकी अच्छी देखभाल की जाती है तो आप सहज महसूस करते हैं। आईपीएल में पिछले चार पांच साल - 2016 में मेरा खराब सीज़न था - और तब से मुझे बिल्कुल भी समर्थन महसूस नहीं हुआ है। यह आईपीएल की प्रकृति इस मायने में है कि बहुत सारे विदेशी खिलाड़ी हैं और केवल चार ही खेल सकते हैं। मुझे वापस जाना था और अपने खेल पर काम करना था और कोशिश करनी थी और चलते रहने का रास्ता खोजना था। हालांकि मुझे साउथ अफ़्रीका और घर पर घरेलू टीमों के लिए खेलना अच्छा लगा, लेकिन मैं एक टीम में अवसर खोजने की कोशिश करता रहा और इस सीज़न में यही हुआ है।"
मिलर को 2016 में किंग्स XI पंजाब का कप्तान बनाया गया था और सीज़न के बीच ही उन्हें हटा भी दिया गया था। उस सीज़न में उन्होंने 14 मैचों में 161 रन बनाए थे। तब से, उन्होंने कभी भी एक सीज़न में सभी मैचों में भाग नहीं लिया, चाहे वह पंजाब के लिए हो या राजस्थान रॉयल्स के लिए लेकिन गुजरात ने न केवल मिलर को एकादश में चुना है, बल्कि उन्होंने पांच नंबर पर बल्लेबाज़ी भी की है, जहां उन्हें अपने स्ट्रोक खेलने से पहले नज़रें जमाने का समय मिलता है। साउथ अफ़्रीकी बल्लेबाज़ के संयम और अनुभव ने गुजरात को ग्रुप चरण में चेन्नई सुपर किंग्स के ख़िलाफ़ जीत हासिल करने में मदद भी की जब 170 का पीछा करते हुए वह 87 रन पर पांच विकेट गंवा चुके थे।
गुजरात के नंबर पांच से लेकर सातवें नंबर के बल्लेबाज़ों ने इस सीज़न में अब तक कुल 809 रन बनाए हैं जिसमें सबसे ज़्यादा रन मिलर के ही हैं। इन पायदानों पर बनाए गए रनों के मामले में आईपीएल 2022 में गुजरात की टीम सिर्फ़ कोलकाता नाइट राइडर्स से ही पीछे रही है। गुजरात के बल्लेबाज़ों ने इन स्थानों पर बल्लेबाज़ी करते हुए 38.27 की औसत से रन बनाए हैं और इसमें राशिद ख़ान का भी अहम योगदान रहा है।
सातवें नंबर पर कम से कम चार पारियों में बल्लेबाज़ी करने वाले बल्लेबाज़ों में राशिद ने 227 के सर्वाधिक स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। वहीं इस पायदान पर बल्लेबाज़ी करते हुए रन बनाने के मामले में राशिद सिर्फ़ दिनेश कार्तिक, आंद्रे रसल, महेंद्र सिंह धोनी और अक्षर पटेल से ही पीछे हैं। ज़्यादातर समय आठवें पायदान पर बल्लेबाज़ी करने वाले राशिद इससे पहले सिर्फ़ एक बार ही सनराइज़र्स हैदराबाद के लिए छठवें पायदान पर बल्लेबाज़ी करने आए थे।
राशिद ने अपने बल्लेबाज़ी क्रम के संबंध में कहा, "पहले की तुलना में इस सीज़न मुझे ऊपर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला है। कोचिंग स्टाफ़ और टीम के सदस्यों द्वारा जो मुझे आत्मविश्वास दिया गया वह अद्वितीय है। आपको इसी तरह की ऊर्जा की ज़रूरत होती है। मैं अभ्यास सत्रों में काफ़ी हिस्सा लेता हूं। टीम को मुझ पर यह विश्वास है कि यह व्यक्ति ज़रूरत पड़ने पर बल्लेबाज़ी में भी टीम के लिए मददगार साबित हो सकता है। मुझे हमेशा से ही यह विश्वास रहा है कि मैं अंत में टीम के लिए 20 से 25 रन बना सकता हूं लेकिन आपको एक खिलाड़ी के तौर पर समर्थन की दरकार होती है जो मुझे मिला भी है।"
गुजरात की क़ामयाबी में निचले क्रम के योगदान पर भी राशिद ने बात की। उन्होंने कहा, "मध्य क्रम में डेविड (मिलर) की मौजूदगी ने शीर्ष क्रम के लिए काम को काफ़ी आसान कर दिया है। जब आपके नंबर चार, पांच और छह के खिलाड़ी फ़ॉर्म में होते हैं तो यह टीम को अधिकतर मुक़ाबलों में जिताने में सहायक सिद्ध होता है, इससे फ़र्क़ नहीं पड़ता कि आप कितने लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं। उन्होंने निर्भीकता के साथ बल्लेबाज़ी की है, विशेषकर जिस तरह से चेन्नई के ख़िलाफ़ मिलर ने बल्लेबाज़ी की, उन्होंने उस मुक़ाबले में अपनी कला का उम्दा प्रदर्शन किया।"
मिलर ने राशिद की अधूरी बात को पूरा किया। उन्होंने राशिद की प्रशंसा करते हुए कहा, "राशिद कभी ख़ुद का ज़िक्र नहीं करते, एक टीम के तौर पर इससे काफ़ी मदद मिलती है। वह जानते हैं कि अगर कोई उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन न भी करे तो वह टीम के लिए मैच जिताऊ प्रदर्शन कर सकते हैं।"

एस सुदर्शनन ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में ए़डिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।