मैच (17)
सीपीएल (3)
इंग्लैंड बनाम भारत (महिला) (1)
दलीप ट्रॉफ़ी (1)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
महिला विश्व कप क्वालिफ़ायर (4)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
UAE v BAN (1)
रोड सेफ़्टी (2)
लेजेंड्स लीग (1)
ख़बरें

आंकड़े झूठ नहीं बोलते: बुमराह का दो या दो से अधिक विकेट है मुंबई की जीत का रास्ता

मुंबई के ख़िलाफ़ जमकर बोलता है बटलर का बल्ला

Jasprit Bumrah celebrates the wicket of Liam Livingstone, Mumbai Indians vs Punjab Kings, IPL 2022, Pune, April 13, 2022

बुमराह का यह सीज़न उतन अच्छा नहीं रहा है  •  BCCI

मुंबई इंडियंस के लिए यह सीज़न किसी बुरे सपने से कम नहीं रहा है। पांच बार की यह चैंपियन टीम अभी भी एक अदद जीत की तलाश में है। शानदार शनिवार के दूसरे मुक़ाबले में उनके सामने होगी इस सीज़न की सबसे संतुलित और शानदार लय में चल रही राजस्थान रॉयल्स की धाकड़ टीम। जिसे देखते हुए मुंबई की पहली जीत की राह इतनी आसान नहीं रहने वाली है। आइए देखते हैं आंकड़े क्या कहते हैं!
बुमराह का दो या दो से अधिक विकेट है मुंबई की जीत का रास्ता
जसप्रीत बुमराह ने आईपीएल 2019 के बाद से जब भी दो या दो से अधिक विकेट चटकाए हैं, मुंबई इंडियंस का जीत प्रतिशत 71 फ़ीसदी रहा है। आईपीएल 2019 के बाद से बुमराह ने ऐसा 24 बार किया है जिसमें मुंबई को 17 मौक़ों पर जीत मिली है। हालांकि, बुमराह के हालिया फ़ॉर्म को देखते हुए यह आसान नहीं लग रहा है। यह सीज़न बुमराह के लिए उनके सबसे ख़राब आईपीएल सीज़नों में से एक गुज़र रहा है। क्योंकि उनके विकेटों का कॉलम आठ मैचों में 5 बार खाली रहा है। ऐसा उनके करियर के शुरुआती चरणों में हुआ था जब 2014 में उन्हें पहले आठ मुक़ाबलों में 6 बार खाली हाथ रहना पड़ा था, 2016 में भी बुमराह ने पहले आठ मैचों में 5 बार कोई विकेट नहीं चटकाया था। बुमराह के गेंदबाज़ी औसत और स्ट्राइक रेट के बारे में बात करें तो 2014 के बाद यह उनका दूसरा सबसे ख़राब सीज़न है।
मुंबई के ख़िलाफ़ जमकर बोलता है बटलर का बल्ला मुंबई इंडियंस की टीम से ही अपने आईपीएल करियर की शुरुआत करने वाले जॉस बटलर अपनी इसी पुरानी टीम के ख़िलाफ़ ख़ूब रन बटोरते हैं। बटलर ने आईपीएल में किसी भी विपक्षी टीम की तुलना में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ सर्वाधिक रन(400), सर्वाधिक छक्के(25) लगाए हैं। मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ पिछली पांच पारियों में बटलर का स्कोर- 100,41,70,89,94* रहा है। हालांकि, बटलर को बुमराह से सावधान रहने की ज़रूरत है। टी20 में अब तक हुए 8 बार के आमना-सामना में बटलर पर बुमराह भारी पड़े हैं। उन्होंने बटलर को 4 बार आउट किया है। इस दौरान बटलर का स्ट्राइक रेट सिर्फ़ 89 का रहा है।
पिछली 16 आईपीएल पारियों में रोहित के बल्ले से नहीं आया एक भी पचासा
मुंबई की चिंता का सबसे बड़ा सबब कप्तान रोहित शर्मा का फ़ॉर्म है। उन्होंने इस सीज़न मात्र 19.1 के औसत से रन बनाए हैं, जो रोहित का किसी आईपीएल सीज़न में सबसे ख़राब औसत है। इस सीज़न आठ मैचों में 5 बार वे पावरप्ले में ही आउट हुए हैं। आईपीएल में पिछली 16 पारियों में रोहित के बल्ले से एक भी पचासा नहीं आया है। उनके 2011 में मुंबई इंडियंस से जुड़ने के बाद से यह संयुक्त रूप से सबसे लंबा दौर है जब रोहित ने बिना पचासा जड़े आईपीएल में इतनी पारियों खेली हों। राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ रोहित के प्रदर्शन की बात करें तो अगर आप मुंबई इंडियंस के फ़ैन हैं तो, यहां भी आपको निराशा ही हाथ लगेगी। क्योंकि, जिन टीमों के ख़िलाफ़ उन्होंने कम से कम 10 मैच खेले हैं, उनमें राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ दूसरा सबसे ख़राब औसत (22.3) है।
इस सीज़न चहल और अश्विन की फिरकी पर थिरके हैं बल्लेबाज़
राजस्थान रॉयल्स की सफलता की प्रमुख कारणों में से एक युज़वेंद्र चहल और रवि अश्विन की जोड़ी रही है। ऐसा नहीं है कि उनके तेज़ गेंदबाज़ विकेट नहीं निकाल रहे। उन्होंने भी उतने ही विकेट (26) निकाले हैं, जितने चहल और अश्विन ने चटकाए हैं लेकिन, ये स्पिन जोड़ी किफ़ायती (7.7 की इकॉनमी) रही है। इस आईपीएल में किसी भी स्पिन अटैक ने राजस्थान से अधिक विकेट नहीं लिए हैं और इस सीज़न में स्पिन गेंदबाज़ी यूनिट में उनका सबसे अच्छा औसत (20.1) है। इस जोड़ी के इम्पैक्ट का अंदाज़ा इसी बात से लगा सकते हैं कि लेग स्पिन ग्रैंडमास्टर चहल ने अपने कुल (18) विकेटों में से 9 विकेट डेथ ओवरों में लिए हैं।

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं। @ImKunalKishore