मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (5)
IND v SA [W] (1)
T20 Blast (6)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

KKR vs CSK रिपोर्ट कार्ड - जीत की हैट्रिक के साथ चेन्नई पहुंची अंक तालिका में शीर्ष पर

रहाणे-शिवम की तूफ़ानी पारियां, 49 रनों से कोलकाता को हराया

MS Dhoni leads his team out to the middle, Chennai Super Kings vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2023, Chennai, April 21, 2023

चेन्नई सुपर किंग्स 10 अंकों के साथ शीर्ष पर पहुंची  •  AFP/Getty Images

कोलकाता में खेले गए मैच में चेन्नई सुपर किंग्स ने कोलकाता नाइट राइडर्स पर 49 रनों की जीत हासिल की। अजिंक्य रहाणे, शिवम दुबे और डेवन कॉन्वे की तूफ़ानी पारियों की वजह से चेन्नई ने सीज़न का सबसे बड़ा 235 रनों का स्कोर खड़ा किया। इस जीत के साथ ही चेन्नई के 10 अंक हो गए हैं और आधा टूर्नामेंट खत्म होते-होते वो अंक तालिका में टॉप पर पहुंच गई है। एक नज़र मैच के रिपोर्ट कार्ड पर।
बल्लेबाज़ी
चेन्नई (A++) - ऋतुराज गायकवाड़ और डेवन कॉन्वे ने शुरुआत में मिलकर 73 रन जोड़े। ऋतुराज ने 35 रन बनाए तो कॉन्वे ने तीन छक्कों सहित 56 रन जोड़े। तेज़ पारी खेलने की आदत डाल चुके अजिंक्य रहाणे ने 5 छक्के और 6 चौकों वाली 71 रनों की नाबाद पारी खेली। वहीं शिवम दुबे ने 20 गेंदों में 5 छक्कों की मदद से हाफ सेंचुरी बनाई। तीसरे विकेट के लिए दोनों ने 85 रनों की साझेदारी की। जाडेजा ने आख़िर में 18 रन बनाए और 14 ओवर तक 145 का स्कोर 20 वें ओवर में 235 तक पहुंच गया।
कोलकाता (B)- कोलकाता की सलामी जोड़ी सस्ते में लौट गई,। वेंकटेश सिर्फ 20 रन तो कप्तान राणा 27 के निजी स्कोर पर विकेट खो बैठे। जेसन रॉय ने 5 छक्के और 5 चौकों की मदद से तूफ़ानी 61 रन बनाए। रिंकू सिंह ने योद्धा की तरह आख़िरी ओवर तक लड़ाई लड़ी और 4 छक्कों की मदद से नाबाद 53 रन जोड़े। 20 वें ओवर तक कोलकाता 186 रन ही बना पाई ।
गेंदबाज़ी
कोलकाता (C)- पहली कामयाबी सुयश शर्मा ने गुगली के जरिए दिलाई। इसके बाद वरूण चक्रवर्ती ने अर्धशतक लगा चुके कॉन्वे का बल्ला रोका लेकिन सभी गेंदबाज़ महंगे साबित हुए। चक्रवर्ती ने 4 ओवर में 49 रन तो उमेश ने 14 वें ओवर में 22 रन लुटाए। कुलवंत खेजरोलिया ने 2 विकेट लिए लेकिन 44 रन भारी पड़े। सुनील नारायण खाली हाथ रहे। चेन्नई के बल्लेबाज़ों ने कुल 18 छक्के और 14 चौके जमाए।
चेन्नई (A++) - आकाश सिंह और तुषार देशपांडे ने शुरुआत में स्विंग गेंदबाज़ी का मज़ा दिलाया तो मोईन अली और जाडेजा ने फिरकी का तड़का लगाया। ख़तरनाक दिख रहे जेसन रॉय को थीक्षणा ने बोल्ड किया। तो आंद्रे रसल को पथिराना ने चलता किया। सभी 6 गेंदबाज़ों के खाते में विकेट गया और वे किफ़ायती भी रहे लेकिन 9 वाइड समेत 10 अतिरिक्त रन भी दिए।
फ़ील्डिंग
कोलकाता (A)- स्लाईड, डाईव, तालमेल और समर्पण सभी फील्डरों में देखने को मिला। ख़ास तौर पर रिंकू सिंह की फील्डिंग बेहतरीन रही। वीस ने कॉन्वे का, जेसन रॉय ने शिवम दुबे का और रिंकू सिंह ने जाडेजा का कैच लपका। लेकिन गेंद हवा में ज्यादा और ज़मीन पर कम दिखाई दी।
चेन्नई (A+) - जाडेजा और गायकवाड़ ने मुश्किल लेकिन अच्छे कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। तो शिवम और कॉन्वे के हाथ भी खाली नहीं रहे। पर फ़ील्डर मैदानी चौकों को जाने से नहीं रोक पाए। हालांकि 235 का स्कोर तक इतना बड़ा था कि मैदानी पर हुई थोड़ी गलतियों के बावजूद विपक्षी टीम लक्ष्य से काफी दूर रही।
रणनीति
कोलकाता (A) - कोलकाता की टीम सुयश शर्मा की जगह वेंकटेश अय्यर को इंपैक्ट प्लेयर के रुप में लाई। लेकिन वेंकटेश का बल्ला नहीं चल सका। अपने घर में टीम की कोई योजना सफल नहीं दिखाई दी।
चेन्नई (A+) - अंबाती रायुडू की जगह आकाश सिंह को सब्स्टिट्यूट के रुप में शामिल किया गया और उन्होंने एक विकेट सहित कसी हुई गेंदबाजी की। कप्तानी धोनी की अगुवाई और मार्गदर्शन में हर खिलाड़ी को परिपक्व होने का मौका मिलता दिखाई दिया और सीज़न के सबसे बड़े स्कोर को टीम ने आसानी से डिफेंड कर लिया।