मैच (6)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
भारत अंडर-19 बनाम न्यूज़ीलैंड अंडर-19 (1)
ख़बरें

फ़िल सॉल्ट : हमें ज़रूरत है पाकिस्तान में मिली गतिशीलता को बरक़रार रखने की

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ में इंग्लैंड का सलामी बल्लेबाज़ टी20 विश्व कप एकादश में स्थान के लिए दावेदारी को और मज़बूत कर सकता है

Phil Salt powered to a 19-ball fifty, Pakistan vs England, 6th T20I, Lahore, September 30, 2022

फ़िल सॉल्ट ने अपने क्रिकेट के भी बारे में बात की  •  AFP/Getty Images

इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज़ फ़िल साल्ट अब बीबीएल में पर्थ स्कॉर्चर्स के खिलाड़ी बन चुके हैं और सप्ताहांत में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पहले टी20 अंतर्राष्ट्रीय के साथ वह उम्मीद कर रहे हैं कि उनका यह नया होम ग्राउंड उन्हें टी20 विश्व कप के शुरुआती एकादश में स्थान बनाने में मददगार साबित होगा।
ऑप्टस स्टेडियम में उन्होंने जनवरी 2020 में एडिलेड स्ट्राइकर्स के लिए खेलते हुए स्कॉर्चर्स के ख़िलाफ़ 31 गेंदों पर 59 बनाए थे। उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी की शैली इस मैदान पर तेज़ पिच और आउटफ़ील्ड के लिए आदर्श है और यही मानकर स्कॉर्चर्स ने बीबीएल के पहले ड्राफ़्ट में 19वें स्थान के पिक के तौर पर उन्हें अपने दल में शामिल किया है।
शुक्रवार को पत्रकारों से बात करते हुए सॉल्ट ने कहा, "मैं इस विकेट से तेज़ गति और उछाल की उम्मीद रखता हूं। यह मेरे बल्लेबाज़ी के लिए सही होगा। स्क्वायर बाउंड्री यहां पर काफ़ी दूर हैं और मेरे जैसे जो बल्लेबाज़ स्क्वायर पर काफ़ी शक्तिशाली हैं उनके लिए यह अच्छा है।"
सॉल्ट रविवार के मैच से पहले स्कॉर्चर्स के अधिकारीयों से मिलेंगे, लेकिन तब तक उनका फ़ोकस रहेगा पाकिस्तान में छठे टी20 में अपने प्लेयर ऑफ़ द मैच के क़ाबिल 88 नाबाद पर अपनी विश्व कप उम्मीदों को और आगे बढ़ाना। लाहौर में यह पारी पहले पांच मैचों में संघर्षपूर्ण 59 रनों के बाद आई थी।
चोटिल कप्तान जॉस बटलर की अनुपस्थिति में सॉल्ट ने सलामी बल्लेबाज़ी की है लेकिन अगर बटलर फ़िट होते हैं तो शायद सॉल्ट को ऐलेक्स हेल्स के लिए अपनी जगह छोड़नी पड़ेगी। हालांकि उन्होंने कहा, "अब तक [ऑस्ट्रेलिया में मेरी भूमिका पर] कोई बात नहीं हुई है।"
ऑस्ट्रेलिया पहले मैच में अपने प्रथम पसंद के गेंदबाज़ों को आराम देगा और ऐसे में सॉल्ट के पास एक और प्रभावशाली पारी खेलने का सुनहरा मौक़ा है और उन्होंने अपने टीममेट और स्कॉर्चर्स के लिए खेल चुके लियम लिविंग्स्टन से इस मैदान के बारे में काफ़ी सलाह ली है।
सॉल्ट ने लिविंग्स्टन के बारे में कहा, "वह यहां सफल रहे हैं और ऐसे में उनसे बातें ना करना नादानी होती।"
पाकिस्तान में 17 सालों के बाद लौटने पर 4-3 से सीरीज़ जीतने के बाद इंग्लैंड विश्व कप की तरफ़ उम्मीद की नज़र से देख रहा है। अगर वह ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ इस टीम मैच की सीरीज़ में अच्छा खेला तो यक़ीनन उसकी गिनती विश्व कप के प्रबल दावेदारों में की जाएगी।
इस दौरे की शुरुआत काफ़ी शांत रही है - इंग्लैंड के खिलाड़ी दुनिया के अलग जगहों से पर्थ पहुंचे और गुरुवार को पहली बार अभ्यास करने उतरे। इस सीरीज़ में इंग्लैंड बनाम ऑस्ट्रेलिया की पारंपरिक गर्मी अब तक नज़र नहीं आई है, लेकिन विश्व से पहले यह दोनों टीमों के लिए सटीक टीम संयोजन बिठाने का आख़िरी मौक़ा है।
सॉल्ट ने कहा, "हम यहां सीरीज़ जीतने आए हैं और हमारी नज़र विश्व कप पर भी है। पाकिस्तान के बाद हमें गतिशीलता बनाए रखने की ज़रूरत है। उन्हें अपने परिस्थितियों में हराना कोई छोटी बात नहीं थी। हमारी टीम में कई ऐसे खिलाड़ी थे जिन्होंने बहुत ज़्यादा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला था और ऐसे में यह जीत बहुत ख़ास थी। अब ज़रूरत है उसी लय को बनाए रखने की।"

ट्रिस्टन लैवलेट पर्थ में रहने वाले एक पत्रकार हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।