मैच (9)
NL v PAK (1)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
द हंड्रेड (महिला) (1)
ओमान बनाम बहरीन (1)
इंग्लैंड बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
आयरलैंड बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
महाराजा टी20 (2)
ख़बरें

सेंचूरियन टेस्ट में भारत ने गंवाया एक डब्ल्यूटीसी अंक

खिलाड़ियों पर लगा 20 प्रतिशत मैच फ़ीस का जुर्माना

India's slip cordon reacts, South Africa vs India, 1st Test, Centurion, 4th day, December 29, 2021

पिछले कम ओवर रेट के कारण अंक गंवाना ऑस्ट्रेलिया को बहुत महंगा पड़ा था  •  Associated Press

भारत को साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ सेंचूरियन टेस्ट के दौरान अपने आवश्यक ओवर रेट के अनुसार गेंदबाज़ी न करने के कारण विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) अंक तालिका में एक अंक गंवाना पड़ा है। भारतीय टीम ज़रूरी ओवर रेट से एक ओवर पीछे थी। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के नियमों के अनुसार, टीमों को अपने प्रत्येक ओवर के लिए एक अंक का नुक़सान होता है। इसका मतलब है कि अगर टीम ज़रूरी ओवर रेट से एक ओवर कम रहती है तो उसका एक अंक और 2 ओवर कम करने पर 2 अंक काटे जाते हैं।
खिलाड़ियों पर भी मैच फ़ीस का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया। मैच रेफ़्री ऐंडी पायक्रॉफ़्ट ने यह निर्णय लिया। मैच के अंपायर एड्रियन होल्डस्टॉक, मराय इरास्मस, अल्लाहुद्दीन पालेकर और बोंगानी जेले ने यह आरोप लगाया था जिसे भारतीय कप्तान विराट कोहली ने स्वीकारा। इसलिए कोई औपचारिक सुनवाई नहीं हुई।
नॉटिंघम टेस्ट में धीमी ओवर गति के कारण भारत ने अगस्त 2021 में भी दो डब्ल्यूटीसी अंक गंवाए थे। 2023 में होने वाले डब्ल्यूटीसी फ़ाइनल की दौड़ में ओवर रेट के कारण अंक गंवाना महंगा साबित हो सकता है।
2019-21 के पहले डब्ल्यूटीसी चक्र में ऑस्ट्रेलियाई टीम को भी इस जुर्माने का सामना करना पड़ा था। भारत के ख़िलाफ़ 2020 के मेलबर्न टेस्ट के दौरान धीमी ओवर गति के कारण उन्हें चार अंक गंवाने पड़े थे। इसके चलते वह भारत के ख़िलाफ़ फ़ाइनल में जगह बनाने से चूक गए।
डब्ल्यूटीसी की शीर्ष दो टीमें जीते गए अंकों के प्रतिशत से तय होती हैं, और उस मानदंड के आधार पर ऑस्ट्रेलिया, श्रीलंका और पाकिस्तान वर्तमान में 2021-23 अंक तालिका में भारत से ऊपर हैं।