मैच (12)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BAN v SL (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
ख़बरें

निचले क्रम के बल्लेबाज़ों ने धैर्य नहीं दिखाया : बाबर आज़म

पाकिस्‍तान के कप्‍तान ने श्रीलंकाई गेंदबाज़ जयसूर्या की तारीफ़ की

अपने बल्‍लेबाजों से निराश हैं बाबर आजम  •  AFP/Getty Images

अपने बल्‍लेबाजों से निराश हैं बाबर आजम  •  AFP/Getty Images

बाबर आज़म ने स्वीकार किया कि पाकिस्तान के लिए यह "निराशाजनक" था कि टीम श्रीलंका में अपनी लगातार दूसरी सीरीज़ जीतने के अवसर से चूक गई। अंतिम दिन दोपहर के भोजन के वक्‍़त मैच किसी भी ओर मुड़ सकता था। लंच और बारिश से आधे घंटे पहले आठ विकेट हाथ में होने और ख़राब रोशनी के साथ मैच ड्रॉ की ओर जाता दिख रहा था, लेकिन प्रभात जयसूर्या के नेतृत्व में तीन ज़ल्‍द विकेट लेकर श्रीलंका ने मैच का रूख़ मोड़ दिया।
"निचले क्रम का सस्ते में आउट हो जाना निराशाजनक था। उन्होंने जिस तरह से गेंदबाज़ी की, उसका श्रेय जयसूर्या को जाता है, वह शानदार थे। वह धैर्यवान थे, टेस्ट क्रिकेट में आपको धैर्य की ज़रूरत होती है। वह लगातार एक ही लेंथ पर गेंदबाज़ी कर सकते हैं। यहां तक ​​​​कि अगर उन पर बाउंड्री भी लगती है तब भी वह अपनी लेंथ नहीं छोड़ते हैं। एक बल्लेबाज़ी इकाई के रूप में आपको भी धैर्य की आवश्यकता है और उस विभाग में हमारे पास थोड़ी कमी थी।"
दिन का खेल शुरू होने पर पाकिस्तान को पिच से चिंता करने के लिए कुछ नहीं था। इमाम-उल-हक़ की शुरुआती विकेट के बाद मोहम्मद रिज़वान और बाबर आज़म के बीच 23 ओवर में 39 रन की साझेदारी हुई, जिसमें जयसूर्या और मेंडिस बेजान दिखे। लेकिन बाबर ने कहा कि रात भर हुई बारिश और ज़ल्दी-ज़ल्दी विकेट गिरने से खेल पलट गया।
आज़़म ने कहा, "सुबह-सुबह, पिच ज्‍़यादा काम नहीं कर रही थी, लेकिन थोड़ी बारिश के बाद स्पिनरों को थोड़ी मदद मिलने लगी, जिससे हमारे कुछ विकेट ज़ल्दी गिर गए। हमने अपनी ज़रूरत के मुताबिक साझेदारी नहीं की और जब भी बैक-टू-बैक विकेट गिरते हैं, तो आप अनिवार्य रूप से दबाव महसूस करते हैं।"
यह रिज़वान का विकेट था जिसने श्रीलंका के लिए दरवाजे़ खोल दिए, जिसमें विकेटकीपर बल्लेबाज़ ने एक गेंद को छोड़ना चाहा लेकिन यह सीधा स्‍टंप पर जाकर लगी। घबराहट तब और बढ़ गई जब फवाद आलम और बाबर के बीच ग़लतफहमी हुई और एक रन आउट पर विकेट निकल गया। दोपहर के भोजन के समय आगा सलमान के विकेट ने आज़म को श्रीलंका और एक बड़ी जीत के बीच एकमात्र रोड़ा बना दिया। जब जयसूर्या ने लंच से कुछ ओवर पहले उन्हें 81 रन पर आउट कराया, तो पाकिस्तान की किस्मत पर मुहर लग गई। अंतिम आठ विकेट गिरने में सिर्फ 23.4 ओवर लगे।
"जब आपने अतीत में बड़े स्कोर का पीछा किया है, तो आपको आत्मविश्वास मिलता है। हम उस आत्मविश्वास के साथ उतरे थे। हमें विश्वास था कि हम ऐसा कर सकते हैं, लेकिन श्रीलंका ने अच्छी तैयारी की और अपनी योजना के अनुसार गेंदबाज़ी़ी की। एक बल्लेबाज़ी इकाई के रूप में हम थोड़े बदकिस्मत थे क्योंकि बहुत सारे सॉफ्ट डिसमिसल आउट हुए थे। "दिन-ब-दिन, टीम में सुधार हो रहा है और प्रदर्शन भी सुधर रहा है। ये स्थितियां आसान नहीं थीं लेकिन हमने चरणों में अच्छा प्रदर्शन किया। हमने कुछ ग़लत भी किया, जिस पर हम चर्चा करेंगे। लेकिन यहां बहुत सारी सकारात्मकताएं भी हैं। "

दानयाल रसूल ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।