मैच (16)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

आंकड़े : सबसे तेज़ और सबसे युवा दोहरे शतकवीर बने किशन

बांग्लादेश के विरुद्ध चटगांव में इस युवा खिलाड़ी ने 131 गेंदों पर बनाए 210 रन

भारत की ओर से वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले केवल चौथे खिलाड़ी बने इशान किशन  •  Associated Press

भारत की ओर से वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले केवल चौथे खिलाड़ी बने इशान किशन  •  Associated Press

ऐसा बहुत कम बार होता है कि विराट कोहली के शतक लगाने के बावजूद सुर्ख़ियां कोई और बटोर ले जाए। हालांकि शनिवार को चटगांव में इशान किशन ने वनडे क्रिकेट में सबसे तेज़ दोहरा शतक लगाकर सभी का दिल जीत लिया। आइए इस धमाकेदार प्रदर्शन से जुड़े आंकड़ों पर नज़र डालते हैं।
126 गेंदों पर अपना दोहरा शतक पूरा किया किशन ने। यह वनडे क्रिकेट में गेंदों के मामले में सबसे तेज़ दोहरा शतक है। इससे पहले पुरुष वनडे क्रिकेट में यह रिकॉर्ड क्रिस गेल के नाम था जिन्होंने 138 गेंदों पर ज़िम्बाब्वे के विरुद्ध 2015 विश्व कप में दोहरा शतक जड़ा था। वहीं वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज़ दोहरा शतक बनाने का रिकॉर्ड अमेलिया कर के नाम था जिन्होंने 2018 में आयरलैंड के विरुद्ध 134 गेंदों पर यह कारनामा किया था।
0 - किशन से पहले किसी खिलाड़ी ने अपने पहले वनडे शतक को दोहरे शतक में तब्दील नहीं किया था। अपना पहला वनडे शतक लगाते हुए सर्वाधिक स्कोर बनाने का रिकॉर्ड इससे पहले चार्ल्स कॉवेंट्री के नाम था जिन्होंने बांग्लादेश के विरुद्ध बुलावायो में 2009 में नाबाद 194 रन बनाए थे।
24 साल 145 दिन की आयु में दोहरा शतक लगाने वाले सबसे युवा पुरुष बल्लेबाज़ बन गए किशन। इससे पहले रोहित शर्मा ने साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 26 साल और 186 दिन की आयु में अपना पहला दोहरा शतक लगाया था।
1 - किशन बांग्लादेश के ख़िलाफ़ वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं। इससे पहले बांग्लादेश के विरुद्ध सर्वाधिक वनडे स्कोर का रिकॉर्ड कॉवेंट्री के नाम था।
0 - बांग्लादेश की धरती पर किसी अन्य बल्लेबाज़ ने एक वनडे पारी में किशन से अधिक निजी स्कोर नहीं बनाया है। शेन वॉट्सन ने 2011 में ढाका में नाबाद 185 रनों की पारी खेली थी।
पारी के 34.6 ओवर में किशन ने 200 रनों का आंकड़ा पार किया। वनडे क्रिकेट में किसी बल्लेबाज़ ने इतनी जल्दी 200 रन पूरे नहीं किए थे। वीरेंद्र सहवाग ने 2011 में वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध टीम के 44वें ओवर में अपने 200 रन पूरे किए थे।
156 रन बाउंड्री लगाकर बनाए किशन ने अपनी 210 रनों की पारी में। केवल दो बल्लेबाज़ों ने अपनी वनडे पारी में इससे अधिक रन चौके और छक्के लगाकर बनाए हैं - रोहित (186 बनाम श्रीलंका, 2014) और मार्टिन गप्टिल (162 बनाम वेस्टइंडीज़, 2015)
103 गेंदें लगी किशन को 150 रन पूरे करने के लिए। यह किसी भारतीय पुरुष द्वारा वनडे क्रिकेट में सबसे तेज़ 150 रन बनाने का नया रिकॉर्ड है। सहवाग ने 2011 में वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध अपनी पारी में 150 रन अपनी 112वीं गेंद पर पूरा किया था।
290 रनों की साझेदारी हुई किशन और कोहली के बीच। यह बांग्लादेश के विरुद्ध किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी बन गई है। हाशिम आमला और क्विंटन डिकॉक ने साल 2017 में बांग्लादेश के ख़िलाफ़ 282 रनों की नाबाद साझेदारी की थी।
68.6 प्रतिशत रन अकेले किशन ने बनाए कोहली के साथ हुई 290 रनों की साझेदारी में। यह पुरुष वनडे क्रिकेट में (जहां डाटा उपलब्ध हो) 200 से अधिक रनों की सभी साझेदारियों में किसी एक खिलाड़ी द्वारा बनाए गए सबसे अधिक रनों का रिकॉर्ड भी है। इससे पहले यह टॉम लेथम के नाम था जिन्होंने पिछले महीने भारत के विरुद्ध केन विलियमसन के साथ 221 रनों की साझेदारी में 145 (65.6) रन बनाए थे। किशन-कोहली की साझेदारी पुरुष वनडे क्रिकेट में रन-रेट के मामले में 200 से अधिक रनों की दूसरी सबसे तेज़ साझेदारी बन गई है।
409 पर 8 का स्कोर खड़ा किया भारत ने चटगांव में। यह बांग्लादेश के विरुद्ध तथा बांग्लादेश में किसी टीम द्वारा बनाया गया पहला 400 से अधिक रनों का कुल स्कोर है। बांग्लादेश में पिछला सर्वाधिक स्कोर भी भारत ने ही खड़ा किया था जब 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की टीम ने चार विकेट पर 370 रन बनाए थे।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।