मैच (20)
T20 वर्ल्ड कप (6)
T20 Blast (8)
CE Cup (4)
SL vs WI [W] (1)
IND v SA [W] (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े: ऑस्ट्रेलिया में अपने न्यूनतम स्कोर पर ढेर हुआ न्यूज़ीलैंड

ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड दूसरे वनडे के आंकड़े, जहां कीवी टीम 82 रन पर ऑलआउट हो गई थी

Kane Williamson tried to hold New Zealand together in a slow start, Australia vs New Zealand, 2nd ODI, Cairns, September 8, 2022

दूसरे वनडे के दौरान केन विलियमसन  •  Getty Images

82 केर्न्स में दूसरे वनडे में न्यूज़ीलैंड का कुल स्कोर इस प्रारूप में उनका छठा सबसे कम और ऑस्ट्रेलिया में अब तक का सबसे कम स्कोर है। ऑस्ट्रेलिया में उनका पिछला न्यूनतम स्कोर 1998 में सिडनी में मेज़बान टीम के ख़िलाफ़ 119 था।
2 ऑस्ट्रेलिया 70 रन के अंदर अपने पहले पांच विकेट गंवाने के बावजूद लगातार दो पुरुष वनडे जीतने वाली दूसरी टीम है। ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में अपना पांचवां विकेट 54 के स्कोर पर गंवाया और पहले वनडे के दौरान पांच विकेट पर 44 रन के स्कोर से उबरा था। पाकिस्तान यह कारनामा करने वाली ऐसी पहली टीम थी, जिसने 2000 में गाबा में लगातार दो दिनों में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पांच विकेट पर 34 से और भारत के ख़िलाफ़ पांच विकेट पर 64 के स्कोर से जीत हासिल की थी।
113 केर्न्स में रनों के मामले में ऑस्ट्रेलिया की जीत का अंतर, किसी भी टीम के लिए पुरुष वनडे मैचों में चौथा सबसे बड़ा है, जिसमें पहली पारी में कुल स्कोर 200 से कम हो। ऐसी सबसे बड़ी जीत 120 रनों से है जब साउथ अफ़्रीका ने 2018 में ज़िम्बाब्वे को हराकर अपने कुल 198 रन के स्कोर का बचाव किया था।
2005 केर्न्स में ऐडम ज़ैम्पा के प्रदर्शन से पहले 2005 में आख़िरी बार किसी ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर ने पुरुष वनडे में पांच विकेट हासिल किए थे। तेज़ गेंदबाज़ी और स्पिन दोनों करने वाले ऐंड्रयू साइमंड्स ने मैनचेस्टर में बांग्लादेश के ख़िलाफ़ स्पिन गेंदबाज़ी करते हुए 18 रन देकर पांच विकेट लिए थे। ज़ैम्पा का पंजा किसी ऑस्ट्रेलियाई स्पिनर द्वारा घर पर केवल तीसरा है।
0.2 शॉन ऐबट का 5-4-1-2 के स्पैल के दौरान इकॉनमी रेट पुरुष वनडे में 30 से अधिक गेंदों की गेंदबाज़ी का सबसे किफ़ायती आंकड़ा है। 1992 में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ फ़िल सिमंस की ईकॉनमी 0.3 थी, जहां उन्होंने अपने 10 ओवरों में केवल तीन रन दिए थे। 2012 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ शेन वॉटसन के बाद पुरुष वनडे में चार या उससे अधिक मेडन ओवर फेंकने वाले पहले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भी बन गए हैं ऐबट। 28 लगातार गेंदे ऐबट ने की अपना पहला रन देने से पहले। पुरुष वनडे में 2001 से रन देने से पहले सिर्फ़ एक खिलाड़ी ने उनसे अधिक गेंदें फेंकी हैं - 2003 विश्व कप में कनाडा के ख़िलाफ़ शॉन पॉलक ने 31 गेंदें की थीं। इसी टूर्नामेंट में पॉलक ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ रन देने से पहले 28 गेंदें फेंकी थीं।

संपत बंडारूपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।