मैच (17)
आईपीएल (2)
ENG v PAK (W) (1)
T20I Tri-Series (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
ख़बरें

सुपर ओवर में जीत के साथ कर्नाटका पहुंचा सेमीफ़ाइनल में

विदर्भ, हैदराबाद और तमिलनाडु ने भी टॉप 4 में जगह बनाई

Tamil Nadu's players get together, Bengal v Tamil Nadu, Vijay Hazare Trophy 2019-20, Jaipur, October 1, 2019

फ़ाइल तस्वीर : गत चैंपियन तमिलनाडु ने केरला को हराकर सेमीफ़ाइनल में प्रवेश किया  •  PTI

कर्नाटका 160 पर 5 (नायर 55*, ऋतिक 1-23) और बंगाल 160 पर 8 (ऋतिक 51, रॉय चौधरी 36*, दर्शन 3-26) का मैच टाई रहा
सुपर ओवर : कर्नाटका 8 पर 0 ने बंगाल 5 पर 2 को हराया
ऋतविक रॉय चौधरी की 36 रनों की तूफ़ानी नाबाद पारी बंगाल के काम ना आई क्योंकि मनीष पांडे ने अंतिम गेंद पर सटीक थ्रो के साथ मैच को बराबरी पर समाप्त किया। इसके बाद सुपर ओवर में बंगाल ने पांच रनों के भीतर ही अपने दो विकेट गंवाए और कर्नाटका ने इस लक्ष्य को आसानी के साथ पूरा कर लिया।
161 रनों का पीछा करते हुए बंगाल ने पहले ओवर में 20 रन बनाकर बढ़िया शुरुआत की। हालांकि पावरप्ले में तीन विकेट गंवाने के बाद उनकी गति थम गई थी। ऋतिक चटर्जी ने 40 गेंदों पर 51 रन बनाकर टीम को मैच में बनाए रखा। इसके बाद बारी थी रॉय चौधरी की। अंतिम ओवर में जीत के लिए 20 रनों की आवश्यकता होने पर उन्होंने विद्याधर पाटिल के ख़िलाफ़ पहली दो गेंदों पर दो छक्के जड़े और तीसरी गेंद पर एक रन लिया। इसके बाद तेज़ गेंदबाज़ आकाशदीप ने एक चौका लगाया और अगली गेंद पर दो रन बटोरकर स्कोर बराबर कर दिए। हालांकि अंतिम गेंद पर एक रन चुराने के प्रयास में वह रन आउट हो गए।
सुपर ओवर में रॉय चौधरी नॉन स्ट्राइकर छोर पर अकेले रह गए जब पहले कैफ़ अहमद शून्य पर आउट हुए और उसके बाद श्रीवत्स गोस्वामी पांच रन के स्कोर पर रन आउट हुए। पांडे ने केवल दो गेंदों में इस छोटे लक्ष्य को हासिल किया और अपनी टीम को सेमीफ़ाइनल में पहुंचाया। करुण नायर के नाबाद 55 रनों की बदौलत कर्नाटका ने पहली पारी में 160 रन बनाए। पारी के अधिकांश भाग तक उनका रन रेट छह के क़रीब था लेकिन उन्होंने अंतिम ओवरों में रनों की गति को बढ़ाया। नायर ने तीन छक्के और चार चौके लगाए और अभिनव मनोहर और अनिरुद्ध जोशी ने तेज़ी से रन बनाए।
हैदराबाद 158 पर 5 (तिलक 75, चावला 2-9) ने गुजरात 128 पर 8 (रिपल 35, तेजा 3-27) को 30 रन से हराया
तिलक वर्मा द्वारा 50 गेंदों में 75 रन बनाकर टीम के स्कोर को 158 पर ले जाने के बाद, हैदराबाद के गेंदबाज़ों ने गुजरात को 128 रनों पर रोककर जीत दर्ज की। दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ रवि तेजा तीन विकेट लेकर हैदराबाद के लिए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया जबकि बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ चामा मिलिंद ने दो सफलताएं अर्जित की।
मिलिंद और तेजा के शुरुआती झटकों के गुजरात को मुश्किल में डाला। आठ ओवरों के बाद उनका स्कोर तीन विकेट के नुक़सान पर 33 रन था। उसके बाद मध्य क्रम में हेत पटेल (25), पीयूष चावला (25) और रिपल पटेल (35) ने बढ़िया योगदान दिया लेकिन वह टीम को जीत नहीं दिला पाए। हैदराबाद के लिए तिलक इस सीज़न लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। पांच चौके और दो छक्के जड़ते हुए उन्होंने 150 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए। कप्तान तन्मय अग्रवाल ने 21 गेंदों पर 31 रन बनाकर उनका बख़ूबी साथ निभाया।
विदर्भ 87 पर 1 (तायड़े 40) ने राजस्थान 84 पर 8 (नागरकोटी 39*, ठाकुर 2-24, कर्णेवार 1-7) को नौ विकेट से हराया
विदर्भ के शानदार गेंदबाज़ी आक्रमण ने सुबह के मैच में राजस्थान को झकझोर कर रख दिया और तीसरे क्वार्टर फ़ाइनल में नौ विकेट की आसान जीत के साथ सेमीफ़ाइनल में जगह बनाई। पावरप्ले में 18 रनों के अंदर पांच विकेट गंवाने के बाद द्विहत्थी स्पिनर अक्षय कर्णेवार ने चार ओवर में केवल सात रन दिए और राजस्थान के मध्य क्रम को जकड़ कर रखा।
मैच में राजस्थान की वापसी धीमी रही और वह केवल 84 रन ही बना पाए। इसमें से सर्वाधिक 39 रन कमलेश नागरकोटी के बल्ले से आए। उनके अलावा महिपाल लोमरोर और सूरज अहूजा ही दोहरे अंक में स्कोर कर सके। विदर्भ के सभी गेंदबाज़ों को विकेट हाथ लगी। तेज़ गेंदबाज़ यश ठाकुर ने दो विकेट लिए जबकि अन्य गेंदबाज़ों को एक-एक विकेट मिली। सभी गेंदबाज़ों की इकॉनमी छह से कम की थी।
छोटे लक्ष्य के बचाव में राजस्थान ने रवि बिश्नोई को नई गेंद थमाई लेकिन वह कुछ कमाल नहीं कर पाए। सलामी बल्लेबाज़ अथर्व तायड़े (40*) और गणेश सतीश (28) ने पहली विकेट के लिए 63 रन जोड़े। इसके बाद कप्तान अक्षय वड़कर ने तायड़े का साथ दिया और पांच ओवर रहते जीत हासिल की।
तमिलनाडु 187 पर 5 (सुदर्शन 46, शंकर 33, मनुकृष्णन 3-26) ने केरला 181 पर 4 (विनोद 65*, कुन्नुमल 51, संजय 2-23) को पांच विकेट से हराया
संजय यादव की 22 गेंदों में 32 और शाहरुख ख़ान की नौ गेंदों में नाबाद 19 रनों की पारी के दम पर गत चैंपियन तमिलनाडु ने केरला के ख़िलाफ़ पहले क्वार्टर फ़ाइनल में तीन गेंद शेष रहते 182 रनों का लक्ष्य हासिल किया। तमिलनाडु को अंतिम पांच ओवरों में 50 रनों की ज़रूरत थी, और संजय और शाहरुख ने अगले तीन ओवरों में संयुक्त रूप से तीन छक्के और एक चौका लगाकर समीकरण को पहले 12 गेंदों में 14 और बाद में आख़िरी ओवर में चार रनों पर ला खड़ा किया।
उनके लिए साई सुदर्शन ने सात चौके लगाते हुए सर्वाधिक 46 रन बनाए। सलामी बल्लेबाज़ हरि निशांत (32) और कप्तान विजय शंकर (33) ने भी अहम योगदान दिया। केरला के लिए उन्नीकृष्णन मनुकृष्णन ने 26 रन देकर तीन शिकार किए लेकिन उन्हें बाक़ी गेंदबाज़ों का साथ नहीं मिला।
केरला की ओर से सलामी बल्लेबाज़ रोहन कुन्नुमल (51) और मोहम्मद अज़हरुद्दीन ने 45 रनों की साझेदारी निभाई। कुन्नुमल ने दूसरे विकेट के लिए सचिन बेबी के साथ 46 रन और जोड़े लेकिन 91 रनों के स्कोर पर दो विकेट खोने के बाद वह मुश्किल में थे। कप्तान संजू सैमसन के शून्य पर आउट हो जाने के बाद विष्णु विनोद ने मात्र 26 गेंदों पर नाबाद 65 रन बनाए। 250 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करते हुए उन्होंने दो चौके और सात छक्के जड़े लेकिन 182 के लक्ष्य को तमिलनाडु ने पूरा कर उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।