मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

तमिलनाडु कोच कुलकर्णी : हम पहले दिन की सुबह ही मैच हार गए थे

कुलकर्णी ने रणजी सेमीफ़ाइनल में हार का ठीकरा टीम के कप्तान पर फोड़ा है

विकेट लेने के बाद साई किशोर  •  PTI

विकेट लेने के बाद साई किशोर  •  PTI

तमिलनाडु के कोच सुलक्षण कुलकर्णी ने रणजी ट्रॉफ़ी सेमीफ़ाइनल में मुंबई के हाथों तमिलनाडु को मिली हार का ठीकरा टीम के कप्तान पर फोड़ा है। कुलकर्णी के मुताबिक तमिलनाडु यह मैच पहले दिन ही टॉस के बाद हार गया था जब कप्तान आर साई किशोर ने गेंदबाज़ी की अनुकूल परिस्थिति में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फ़ैसला कर लिया था।
तमिलनाडु की हार के बाद कुलकर्णी ने कहा, "मैं सीधी बात करता हूं। हम यह मैच पहले दिन ही सुबह नौ बजे हार गए थे। एक मुंबईकर और कोच होने के नाते मुझे पता है कि ऐसी परिस्थितियों में पहले क्या करना चाहिए। सबकुछ सेट था, हम टॉस भी जीत गए थे, हमें पहले गेंदबाज़ी करनी चाहिए थी लेकिन कप्तान को यह मंज़ूर नहीं था।"
साई किशोर का पहले बल्लेबाज़ी करने का फ़ैसला ग़लत साबित हुआ और पहले ही सत्र में तमिलनाडु की आधी टीम पवेलियन लौट गई। 146 रन के स्कोर पर पूरी टीम सिमट गई और मुंबई ने जवाब में स्कोरबोर्ड पर 378 रन टांग दिए। इसके बाद दूसरी पारी में तमिलनाडु की टीम 162 रन ही बना पाई और मुंबई ने यह मैच तीन दिन के भीतर अपने नाम कर लिया।
कुलकर्णी ने कहा, "मेरे हिसाब से तो पहले गेंदबाज़ी ही करनी चाहिए थी। उन्होंने क्वार्टर फ़ाइनल में अलग विकेट पर खेला था इससे मुझे अंदाज़ा लग चुका था कि यहां पर हमें तेज़ गेंदबाज़ी के अनुकूल विकेट मिलने वाली है। लेकिन मैं सिर्फ़ अपने इनपुट ही दे सकता हूं अंतोगत्वा बॉस कप्तान ही हैं और फ़ैसला लेने का अंतिम अधिकार भी कप्तान का ही है। हम मानसिक रूप से इस बात को लेकर तैयार थे कि जो भी टॉस जीतेगा वो पहले गेंदबाज़ी ही करेगा। पहले ही ओवर में हमारा अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी (साई सुदर्शन) आउट हो चुका था। पहले घंटे में हम बुरी तरह से पिछड़ गए थे और वहां से हमारे लिए वापसी बेहद मुश्किल थी।"
हालांकि तमिलनाडु ने मुंबई की बल्लेबाज़ी के दौरान वापसी कर ली थी। 48 ओवर आते आते मुंबई ने 106 के स्कोर पर अपने सात विकेट गंवा दिए थे। लेकिन इसके बाद शार्दुल ठाकुर ने पुछल्ले क्रम के साथ उपयोगी साझेदारियां खड़ी की और ख़ुद शतक लगाते हुए मुंबई को 232 रन की बढ़त भी दिला दी।
कुलकर्णी ने भी कहा कि घरेलू सर्किट में मुंबई के पास सबसे बढ़िया निचला क्रम है।
"मैंने ड्रेसिंग रूम में कहा था कि उनकी बल्लेबाज़ी नंबर छह के बाद शुरु होती है। मैं सिर्फ़ रास्ता दिखा सकता हूं लेकिन उस पर चलना तो खिलाड़ियों को ही होगा।"