मैच (14)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
Sheffield Shield (3)
PSL 2024 (2)
WPL (2)
Dang CL (1)
AFG v IRE (1)
BPL 2023 (1)
ख़बरें

ख़्वाजा : मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टीम की स्थिरता भारत दौरे पर रंग लाएगी

वहीं स्टीवन स्मिथ का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया भारतीय परिस्थितियों में पहले से कुछ सोचकर नहीं जा सकता

भारतीय दौरे के लिए उत्‍साहित हैं उस्‍मान ख़्वाजा  •  Cricket Australia via Getty Images

भारतीय दौरे के लिए उत्‍साहित हैं उस्‍मान ख़्वाजा  •  Cricket Australia via Getty Images

ऑस्ट्रेलियाई ओपनर उस्मान ख़्वाजा का मानना है कि मौजूदा ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम की स्थिरता उन्हें अगले महीने 2004 के बाद भारत में पहली बार टेस्ट सीरीज़ जीतने का प्रबल दावेदार बनाता है। भारत दौरे के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम की घोषणा बुधवार को होने की उम्मीद है और बहुत ही कम ऐसे स्थान हैं जिनपर अभी भी अनिश्चितता बनी हुई है।

पिछले साल के ऐशेज़ के आख़िरी मुक़ाबले में मार्कस हैरिस की जगह ख़्वाजा को अपने वापसी पर एक टेस्ट में दो शतक दागने के बाद ओपन करने का मौक़ा देने के बाद से ऑस्ट्रेलिया ने अपने शीर्ष सात में केवल एक ही परिवर्तन किया है। 11 टेस्ट मैचों में यह इकलौता बदलाव भी कैमरन ग्रीन की टूटी हुई उंगली के चलते ही करनी पड़ी थी, जब पिछले हफ़्ते सिडनी में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैट रेनशॉ को खिलाया गया था।

हालांकि गेंदबाज़ी में कुछ ज़्यादा परिवर्तन देखने को मिले हैं। पाकिस्तान और श्रीलंका में लेग स्पिनर मिचेल स्वेप्सन को खिलाया गया था, तेज़ गेंदबाज़ों में भी चोट के चलते कुछ खिलाड़ियों में अदला-बदली देखने को मिली है, जबकी हाल में ऐश्टन एगार को भी एससीजी में मौक़ा मिला था।

सिडनी में 'द टेस्ट' डॉक्युमेंटरी के दूसरे सीज़न के प्रीमियर के अवसर पर ख़्वाजा ने कहा, "हम सबने उपमहाद्वीप में काफ़ी सारा क्रिकेट खेला है। ख़ास कर अगर आप हमारी बल्लेबाज़ी को देखें, तो हमने वहां बहुत क्रिकेट खेला है और वहां के अनुभव से बहुत कुछ ले सकते हैं। जब पहले मैं कभी भी उस प्रांत में खेलने जाता था, तब टीम में कई बदलाव होने की बातचीत चलती थी। ऐसे में मेरे हिसाब से क्रिकेट मैच जीतना मुश्किल हो जाता है। इस बार पिछले डेढ़ साल से टीम में काफ़ी स्थिरता रही है और यह हमारे लिए बहुत फ़ायदेमंद होगा।"

'चयन में धारावाहिकता से आत्मविश्वास बढ़ता है'


भारत का दौरा ट्रैविस हेड के लिए भी काफ़ी अहम रहेगा। हेड ने घरेलू मैदानों पर ज़बरदस्त बल्लेबाज़ी की है लेकिन पिछले दो दौरों पर कुल सात पारियों में केवल 91 रन बनाए हैं। ख़्वाजा का मानना है कि मुख्य कोच ऐंड्र्यू मैकडॉनल्ड और कप्तान पैट कमिंस द्वारा मौजूदा टीम में निरंतर मौक़ों को दिए जाने की संस्कृति खिलाड़ियों को सफल होने का पूरा अवसर देती है।

उन्होंने कहा, "मैं यह बहुत समय से कहता आ रहा हूं। टेस्ट क्रिकेट बहुत कठिन है और अगर आप को सिर्फ़ तीन मैच मिलते हैं ख़ुद को साबित करने को, तो यह और मुश्किल होता है। पिछले 10 सालों में कई युवा खिलाड़ियों को शायद इस बात का सामना करना पड़ा है। लेकिन इस बात में ऐंड्र्यू मैकडॉनल्ड और पैट बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।"

हालांकि ऑस्ट्रेलिया चयन के मामले में कई निर्णय परिस्थितियों को देखकर ग्रीन के फ़िटनेस को ध्यान में रखते हुए बना सकता है। भारत के दो दौरों पर 60.00 के औसत से तीन शतक जड़ने वाले स्टीवन स्मिथ का कुछ ऐसा ही मानना है। स्मिथ ने कहा, "आप पहले से बहुत कुछ सोचकर नहीं जा सकते है। आपको टीम संयोजन निर्धारित करने से पहले आपके सामने मिले पिच को पढ़ना होता है। हम पिछली बार [2017 में] वहां काफ़ी क़रीब पहुंचे थे और उम्मीद है उस दौरे पर मौजूद लोग युवा खिलाड़ियों को कुछ चीज़ें सीखा देंगे और हम एक सफल दौरे का हिस्सा बनेंगे।"

संभावित ऑस्ट्रेलियाई दल: डेविड वॉर्नर, उस्मान ख़्वाजा, मार्नस लाबूशेन, स्टीवन स्मिथ, ट्रैविस हेड, कैमरन ग्रीन, ऐलेक्स कैरी (कीपर), पैट कमिंस (कप्तान), मिचेल स्टार्क, नेथन लायन, जॉश हेज़लवुड, स्कॉट बोलंड, ऐश्टन एगार, लांस मॉरिस, मिचेल स्वेप्सन, मैट रेनशॉ, पीटर हैंड्सकंब, टॉड मर्फ़ी

ऐंड्रयू मक्ग्लैशन ESPNcricinfo डिप्‍टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में फ्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।