मैच (6)
एशिया कप (4)
त्रिकोणीय सीरीज़ (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
फ़ीचर्स

विश्व कप टीम में चयन हो ना हो दीपक चाहर ने दमदार वापसी की

उनकी वापसी में शायद देर हो चुकी है

Deepak Chahar celebrates a wicket with team-mates, Zimbabwe vs India, 1st ODI, Harare, August 18, 2022

दीपक चाहर ने नई गेंद से सात ओवर के स्पेल में गेंद को दोनों तरफ़ मूव कराया  •  Associated Press

भारत के मुख्य कोच राहुल द्रविड़ पदभार ग्रहण करने से पहले भारत ए के कोच थे। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने अधिकांश खिलाड़ियों को कोचिंग दी, जो अब भारत के लिए खेलते हैं। दीपक चाहर उन खिलाड़ियों में से एक थे जिनसे वह बहुत प्रभावित थे। दीपक को कुछ अधिक चोटों का सामना करना पड़ा है लेकिन उन्होंने हमेशा वापसी की है। द्रविड़ का कहना है कि जब भी दीपक भारत ए के लिए खेले, तो यह टीम के अन्य तेज़ गेंदबाज़ों के लिए एक शिक्षा थी कि वह अपने शरीर की देखभाल के साथ कितने पेशेवर हो सकते हैं।
चोट से वापसी करने की दीपक की क्षमता का परीक्षण उनके करियर में विशेष रूप से नाजुक समय में किया गया है। वह अपना पहला विश्व कप खेलने के लिए अपनी दावेदारी को मज़बूत कर रहे थे लेकिन वह चोटिल हो गए। हालांकि वापसी करते हुए गुरुवार को उन्होंने ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ पहले वनडे में ग़ज़ब की गेंदबाज़ी की।
अगर दीपक वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ पांच टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों के लिए तैयार होते तो वह विश्व कप के लिए टीम में शामिल किए जाने के लिए दावेदारी पेश कर सकते थे, लेकिन अब जब वह एशिया कप टीम का हिस्सा नहीं हैं, तो शायद यह माना जा सकता है कि वह थोड़े देर से फ़िट हुए।
यह इन चीज़ों के बारे में पेशेवर और दार्शनिक होने का भुगतान करता है और जब आपको जो भी मैच मिले उसमें आप अच्छा प्रदर्शन करें। जब उन्होंने अपनी नई गेंद का स्पैल शुरू किया तो दीपक लैंडिंग एरिया से ख़ुश नहीं थे, वह वापसी के लिए कोई चांस नहीं ले रहे थे। हालांकि जैसे ही चाहर थोड़ा सा सहज हुए उन्होंने एक शानदार स्पेल डाला जिसमें गेंद दोनों तरफ मूव कर रही थी।
यह एक ऐसा समय है जब आप यह नहीं सोचते हैं कि आपका चयन विश्व कप की टीम में होगा या नहीं होगा बस आप अपनी गेंदबाज़ी का आनंद लेते हैं।
दीपक से जब पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि वह साढ़े छह महीने पहले विश्व कप में चयनित हो सकते थे, तो उन्होंने कहा, "वह (विश्व कप चयन) मेरे हाथ में नहीं है। हालांकि मैंने वास्तव में कड़ी मेहनत की है। वहां मैं कह सकता हूं कि मैंने शायद वहीं से शुरुआत की है जहां मैंने छोड़ा था। पहले ओवर के बाद (जब मेरे पास रन-अप मुद्दा था), मैंने जो कुछ भी फेंका, मैं ख़ुश था। यह सात ओवर का स्पैल था, इसलिए मेरी फ़िटनेस अच्छी है।"
हालांकि दीपक ने लंबे ब्रेक के बाद टीम में अपनी जगह फिर से हासिल करने का दबाव महसूस किया। दीपक ने कहा, "आपको टीम में फिर से जगह बनानी होगी। क्योंकि जब आप लंबे समय तक दूर होते हैं, तो दूसरे खिलाड़ी आते हैं और अच्छा प्रदर्शन करते हैं और टीम में अपनी जगह बनाते हैं। फिर से टीम में अपनी जगह बनाने के लिए, आपको अच्छा प्रदर्शन देना होगा। मुझे भी यही उम्मीद थी कि जब मैं वापस आऊंगा तो अच्छा करूंगा क्योंकि एक खिलाड़ी के हाथ में बस इतना ही होता है।"
दीपक ने अपनी गेंदबाज़ी के बारे में आगे कहा, "जब गेंद स्विंग कर रही हो, तो फ़ुल लेंथ से गेंदबाज़ी करने की कोशिश करें और अधिक से अधिक विकेट लेने की कोशिश करें। जब गेंद स्विंग नहीं कर रही हो तो प्लान बी या प्लान सी होता है। आज जब मैंने गेंदबाज़ी की शुरुआत की तो यह छह-सात ओवरों तक स्विंग हुई, इसलिए मेरी एक सरल योजना थी: फुल लेंथ बॉल करो, स्विंग को मिक्स करो और बल्लेबाज़ों को भ्रमित करो।"
सवाल वास्तव में दीपक के कौशल या विश्व कप चयन के बारे में उनकी उपयोगिता के बारे में नहीं है। क्या चयनकर्ताओं को लगता है कि दीपक की वापसी से पहले जिस संयोजन पर उन्होंने समझौता किया था, उसे बाधित करने में बहुत देर हो चुकी है? जैसा दीपक ने कहा, वह उनके हाथ में नहीं है। तो आइए बस शुरुआती स्विंग का आनंद लें और इस श्रृंखला के बाक़ी हिस्सों के लिए प्लान बी और सी की प्रतीक्षा करें।

सिद्धार्थ मोंगा ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।