मैच (16)
AFG v IRE (1)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (2)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

नीलामी ट्रेंड : गुजरात का 100% स्ट्राइक रेट, इंग्लैंड के खिलाड़ी रहे डिमांड में, बड़ी बढ़ोतरी और वेतन कटौती

कुल रकम का क़रीब 42% ऑलराउंडरों पर ख़र्च हुआ : विलियमसन और जेमीसन की सेलरी में बड़ी गिरावट

शुक्रवार को 80 ख‍िलाड़‍ियों की नीलामी हुई  •  BCCI

शुक्रवार को 80 ख‍िलाड़‍ियों की नीलामी हुई  •  BCCI

अब जब आईपीएल 2023 की नीलामी ख़त्‍म हो गई है और टीम अगले कुछ महीनों में अपनी रणनीति बनाएंगी, हम शुक्रवार की ओर चलते हैं और नीलामी के बड़े बिंदुओं को देखते हैं।
गुजरात के सटीक सात
मौजूदा विजेता गुजरात टाइटंस नीलामी में 19.25 करोड़ रुपये के पर्स के साथ पहुंची और उनके पास सात स्‍थान खाली थे। गुजरात ने सात खिलाड़‍ियों के लिए बोली लगाई और सभी को ले लिया। चार को उन्‍होंने उनके बेस प्राइज पर लिया और एक ही खिलाड़ी शिवम मावी पर बड़ी बोली लगाते हुए छह करोड़ में ख़रीदा।
सनराइज़र्स हैदराबाद की भी यह अच्‍छी नीलामी रही। जिन 14 खिलाड़‍ियों पर उन्‍होंने बोली लगाई उनमें 13 को उन्‍होंने ख़रीदा। एक अकेला खिलाड़ी जो सनराइज़र्स नहीं ख़रीद सकी, वह बेन स्‍टोक्‍स थे, जिन पर वह तब तक बोली लगाते गए, जब तक रकम 15 करोड़ तक नहीं पहुंच गई और इसके बाद उन्‍हें चेन्‍नई सुपर किंग्‍स ने ख़रीद लिया।
दूसरी ओर चेन्‍नई का सफलता रेट सबसे कम रहा, उन्‍होंने 16 खिलाड़‍ियों पर बोली लगाई लेकिन सात ही ख़रीद सके। चेन्‍नई उन खिलाड़‍ियों पर असफल बोली लगाती गई, जब तक उनकी बोली बड़ी रकम में नहीं पहुंच गई। आख़‍िर में उन्‍होंने 16.25 करोड़ में स्‍टोक्‍स को ख़रीदा।
दूसरी ओर नीचे से एक कदम ऊपर कोलकाता नाइट राइडर्स रही, जिन्‍होंने 16 खिलाड़‍ियों पर बोली लगाई लेकिन आठ को ही ख़रीद सके। आठ में से छह बार वह चूके, वह सबसे बड़े बोली गंवाने वाले रहे। वे नीलामी में मात्र 7.05 करोड़ के पर्स के साथ आए थे, जिससे वे बड़ी रकम में खिलाड़‍ियों को नहीं ले सकते थे। आठ में से छह खिलाड़ी उन्‍होंने उनके बेस प्राइज़ पर ख़रीदे।
चेन्‍नई और कोलकाता से अधिक बोली लगाने वाली टीम राजस्‍थान रॉयल्‍स थी, जिन्‍होंने 17 खिलाड़‍ियों पर बोली लगाई लेकिन मिले नौ ही।
इंग्‍लैंड के खिलाड़‍ियों का दबदबा
कुल मिलाकर इंग्‍लैंड के आठ खिलाड़‍ियों पर 58.1 करोड़ रुपये ख़र्च हुए। यह इस नीलामी में 51 भारतीयों पर ख़र्च हुई रकम से 16 करोड़ अधिक था। सैम करन, स्‍टोक्‍स और हैरी ब्रूक पर बड़ी रकम ख़र्च हुई। यह तीनों इस दिन की पांच सबसे महंगी ख़रीद में शामिल रहे। तीनों पर कुल 48 करोड़ रुपये ख़र्च हुए, जो इस नीलामी में ख़र्च हुई रकम का 29% था।
शीर्ष अंतर्राष्‍ट्रीय ऑलराउंडर बड़ी डिमांड में रहे और महंगी कैटगरी में रहे। कुल रकम का 42% ऑलराउंडरों पर ख़र्च हुआ। 70.95 करोड़ रुपये ऑलराउंडर पर ख़र्च हुए, जिसमें आठ करोड़ भारतीयों पर और कुल 62.95 करोड़ रुपये विदेशी खिलाड़‍ियों पर ख़र्च हुए। कैमरन ग्रीन भी यहां एक बड़ी ख़रीद रहे, जिन्‍हें मुंबई इंडियंस ने 17.5 करोड़ में लिया।
80 खिलाड़‍ियों में जो नीलामी में बिके, उनमें से 139 करोड़ 37 कैप्‍ड खिलाड़‍ियों पर और 28 करोड़ 43 अनकैप्‍ड खिलाड़‍ियों पर ख़र्च हुए।
करन पर संघर्ष
करन आईपीएल इतिहास की नीलामी के सबसे महंगे खिलाड़ी बने। उन पर अधिकतर टीमों ने बोली लगाई। वह अकेले खिलाड़ी रहे, जिन पर छह टीमों मुंबई इंडियंस, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु, चेन्‍नई सुपर किंग्‍स, पंजाब किंग्‍स और लखनऊ सुपर जाएंट्स ने बोली लगाई। दूसरी ओर स्‍टोक्‍स पर पांच टीमों ने बोली लगाई।
करन पर कुल 70 बोलियां लगी, जो इस नीलामी में किसी खिलाड़ी पर लगी सबसे अधिक बोली रही।
न्‍यूज़ीलैंड के ख़‍िलाड़‍ियों की सैलरी कटी
सनराइज़र्स ने 2022 में केन विलियमसन को 14 करोड़ में रिटेन किया था और 2023 की नीलामी से पहले रिलीज़ कर दिया था। विलियमसन पहले खिलाड़ी थे जो नीलामी में आए और गुजरात ने उन्‍हें उनके बेस प्राइज दो करोड़ में ख़रीदा। उनकी सैलरी में 12 करोड़ की कटौती हुई।
काइल जेमीसन की सैलरी में 14 करोड़ की गिरावट आई। 2021 में बेंगलुरु ने उन्‍हें 15 करोड़ में ख़रीदा था लेकिन इस बार चेन्‍नई ने उन्‍हें मात्र एक करोड़ में लिया।
जाय रिचर्डसन की सैलरी में 12.5 करोड़ की गिरावट आई। पंजाब ने उन्‍हें 14 करोड़ में ख़रीदा था लेकिन इस बार वह मात्र 1.5 करोड़ में मुंबई के साथ गए।
जेमीसन की सैलरी में 93.33% की गिरावट आई जो इस नीलामी में दूसरी सबसे बड़ी गिरावट रही। रोमारियो शेफ़र्ड इस सूची में शीर्ष पर रहे, जिनकी सैलरी में 93.5% की गिरावट आई। 2022 में उन्‍हें सनराइज़र्स ने 7.75 करोड़ में ख़रीदा था, लेकिन इस बार लखनऊ ने उन्‍हें उनके बेस प्राइज 50 लाख में ख़रीदा।
सैलरी में सबसे ज्‍़यादा इज़ाफ़ा राइली रुसो की सैलरी में देखने को मिला, जिन्‍हें उनके पिछले चेक से 1433.33% अधिक मिला। रुसो पिछली बार 2015 आईपीएल का हिस्‍सा थे, जहां बेंगलुरु ने उन्‍हें 30 लाख में ख़रीदा था। इस बार दिल्‍ली कैपिटल्‍स ने उन्‍हें 4.6 करोड़ रुपये में अपनी टीम में शामिल किया।
रकम के हिसाब से सैलरी में सबसे बड़ी उछाल करन ने लगाई, जिन्‍हें 2021 में 5.5 करोड़ मिले थे। इस बार उन्हें 13 करोड़ रुपये अधिक यानी कुल 18.5 करोड़ रुपये मिले।

संपथ बंडारुपल्‍ली ESPNcricinfo में स्‍टेटिशियन है। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।