मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
PAK v WI [W] (1)
ख़बरें

ऐशेज़ में एंडरसन की चुनौती के लिए तैयार हैं लाबुशेन

ऑस्ट्रेलिया के इस नंबर तीन बल्लेबाज़ पर रहेंगी सभी की निगाहें

हाल ही में शील्‍ड ट्रॉफी में लाबुशेन ने लगाया था शतक  •  Getty Images

हाल ही में शील्‍ड ट्रॉफी में लाबुशेन ने लगाया था शतक  •  Getty Images

नेतृत्व की ज़िम्मेदारियों से बेपरवाह मार्नस लाबुशेन को उम्मीद है कि वह इस युग के महान टेस्ट बल्लेबाज़ों की निरंतरता का अनुसरण कर पाएंगे। हालांकि उन्हें यह अच्छे से पता है कि वह घरेलू धरती पर पहली बार ऐशेज़ खेलेंगे औक उनके कंधे पर एक अलग जिम्मेदारी होगी।
लाबुशेन ने 2019 में अपने ब्रेकआउट ऐशेज़ दौरे के बाद से शानदार प्रदर्शन किया है। वह लॉर्ड्स टेस्ट में स्टीव स्मिथ की जगह कंकशन विकल्प के रूप उतरे थे। तेज़ी से फलते-फूलते करियर के साथ लाबुशेन ने अब तक 18 टेस्ट में 60.80 के औसत से पांच शतक लगाए हैं। यही नहीं उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के नंबर 3 के स्थान को अपने नाम कर लिया था। ऐसा करके उन्होंने दिग्गज़ डेविड वॉर्नर और स्मिथ के साथ शीर्ष क्रम को संभाला।
इसमें कोई शक नहीं है कि लाबुशेन एक टेस्ट स्टार के रूप में दुनिया भर के बल्लेबाज़ों में तेज़ी से शीर्ष पर पहुंचे हैं, लेकिन वह जानते हैं कि आधुनिक युग के महान बल्लेबाज़ों के बीच रनों की निरंतरता को बरकरार रखना होगा।
लाबुशेन ने ब्रिस्बेन में अपने स्थानीय क्लब रेडलैंड्स से शुक्रवार को कहा, "मैं भाग्यशाली था कि मुझे 2019 में मौक़ा मिला और इसके साथ मैं आगे बढ़ा। मुझे इस पीढ़ी में आगे बढ़ने के लिए बहुत से उदाहरण मिले हैं जैसे विलियमसन, स्मिथ, रूट, वार्नर, कोहली जो लगातार रन बनाते हैं।"
लाबुशेन ने 2019-20 सत्र में ऑस्ट्रेलियाई गर्मियों के दौरान शानदार प्रदर्शन किया था, जहां पर वह क्रीज़ पर अडिग थे। उन्होंने तब पाकिस्तान और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ चार शतक बनाए, लेकिन भारत के ख़िलाफ़ पिछले सीज़न में वह थोड़ा मुश्किल में दिखे। तब भारत के तेज़ गेंदबाज़ों ने एक ऐसी जगह गेंद की जहां उनका पैर अक्सर विकेट के सामने पाया गया। सीरीज़ की धीमी शुरुआत के बाद लाबुशेन ने अपनी बल्लेबाज़ी पर काम करना शुरू कर दिया और गाबा में एक शतक के साथ सीरीज़ समाप्त की, हालांकि भारत सीरीज़ जीतने में कामयाब रहा।
ऐसी धारणा है कि जेम्स एंडरसन के नेतृत्व में इंग्लैंड का आक्रमण इसी तरह का प्लान बनाने की कोशिश कर सकता है।
लाबुशेन ने कहा, "वे निश्चित रूप से कोशिश कर सकते हैं। भारत उन योजनाओं पर गेंदबाज़ी करने के लिए बहुत अभ्यस्त है, क्योंकि वह दूसरे तरह के विकेट पर गेंदबाज़ी करने के आदी हैं, जहां पर गेंद नीची रहती है।
"इंग्लैंड में परंपरागत रूप से वे थोड़ी दूर गेंदबाज़ी करते हैं। मैं आपको यह नहीं बता सकता कि वे क्या करने वाले हैं, लेकिन मैं हर चीज़, हर स्थिति के लिए तैयार हूं।" 2019 की सीरीज़ में ऐज़बेस्टन में मैच की शुरुआत के दौरान एंडरसन के चोटिल होने के बाद लाबुशेन टेस्ट में पहली बार उनका सामना करेंगे, जो ऐशेज़ सीरीज़ में उनके लिए बड़ी चुनौती होगी। उन्होंने कहा, "मैं वास्तव में जिमी का सामना करने के लिए काफ़ी उत्सुक हूं। वह इंग्लैंड के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं।"
क्वारंटाइन और ब्रिस्बेन के ख़राब मौसम ने पहले टेस्ट से पहले दोनों टीमों के लिए कहर बरपाया है, लेकिन शेफील्ड शील्ड में क्वींसलैंड के लिए दो शतक लगाने के बाद लाबुशेन अच्छी तरह से तैयार होकर ऐशेज़ में आए हैं।
हालांकि, उन्हें विश्वास है कि ऑस्ट्रेलिया के टी20 विश्व कप विजेता खिलाड़ी लाल गेंद का सामना करने के लिए पूरी तरह से तैयार होंगे। उन्होंने कहा, "हर खिलाड़ी अच्छी तरह से तैयारी कर रहा है। यह हमारे लिए दोबारा से घुलने-मिलने का समय है और अपने अभियान को आगे बढ़ाने का समय है।"

त्रिस्‍तन लावलेट पर्थ में जर्नलिस्‍ट हैं और गार्जियन और मेलरिपोर्ट के लिए स्‍पोर्ट्स पर लिखते हैं।