मैच (5)
West Indies v India T20I Series (1)
राष्ट्रमंडल खेल (2)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
ख़बरें

ब्रॉड की चुनौती के लिए तैयार हैं ट्रैविस हेड

स्टुअर्ट ने राउंड द विकेट गेंदबाज़ी करके बायें हाथ के बल्लेबाज़ों को ख़ासा परेशान किया है

Travis Head celebrates reaching his century, Australia vs England, The Ashes, 1st Test, 2nd day, Brisbane, December 9, 2021

ब्रॉड को खेलने के लिए हेड ने की है तैयारी  •  Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के बायें हाथ के बल्लेबाज़ों का 2019 ऐशेज़ में इम्तिहान लेने के बाद एडिलेड में स्टुअर्ट ब्रॉड की वापसी पर सभी की नज़रें होंगी। तब ब्रॉड की प्रतिस्पर्धा डेविड वॉर्नर से थी, जिनको उन्होंने उस सीरीज़ में सात बार आउट किया था और चर्चा में आए थे। वह ऑस्ट्रेलिया के बायें हाथ के सभी बल्लेबाज़ों के लिए एक बुरे सपने जैसे थे और इस बार भी वह ऐसा ही करना चाहेंगे।
दूसरे टेस्ट में रन बनाकर चयनकर्ताओं का भरोसा करने की कोशिश करने वाले मार्कस हैरिस को ब्रॉड ने 2019 में तीन बार आउट किया था। ट्रैविस हेड को भी ब्रॉड तीन बार आउट कर चुके हैं, लेकिन ब्रिस्बेन में 152 रन की पारी खेलने के बाद वह दूसरे टेस्ट में आत्मविश्वास के साथ उतरेंगे।
ब्रॉड ने पहला टेस्ट नहीं खेला था, जिसमें उन्हें जेम्स एंडरसन के साथ आराम दिया गया था और यह आश्चर्यजनक था कि इंग्लैंड के गेंदबाज़ों ने राउंड द विकेट लाइन का उपयोग ही नहीं किया था, ख़ासकर वॉर्नर के लिए, जिन्होंने अपनी 176 गेंदों की पारी में सिर्फ़ 43 गेंदों का उस कोण से सामना किया।
हेड ने काफ़ी गेंद उस कोण से खेली लेकिन हैरिस ने तो क्रीज़ पर कम समय तक रहते हुए केवल एक ही गेंद खेली। अगर ब्रॉड आने वाले दिनों में गुलाबी गेंद के साथ गेंदबाज़ी करते हैं तो हेड इसके लिए तैयार हैं।
हेड ने कहा, "न सिर्फ़ ब्रॉड का सामना करने पर, बल्कि आम तौर पर विकेट के आसपास बल्लेबाज़ी करते हैं। हमने कुछ चीज़ों को देखा, व्यक्तिगत रूप से मैंने राउंड द विकेट से गेंदबाज़ी पर वास्तव में कड़ी मेहनत की है, हमें व्यक्तिगत रूप से और शायद एक टीम के रूप में इंग्लैंड के बारे में थोड़ा सा पता चला है।"
"पिछले छह महीनों में मैंने इस पर काफ़ी मेहनत की है, किस लाइन पर खड़ा होकर मैं गेंद खेलूं। आप ब्रॉड पर होमवर्क करके आते हो, वह एक शानदार गेंदबाज़ है, वह यहां पर ​गुलाबी गेंद से चुनौती पेश कर सकते हैं, लेकिन आपको तैयारी पूरी करनी होती है।"
ब्रॉड ने ऑस्ट्रेलिया में 37.17 की औसत से 37 विकेट लिए हैं और डे-नाइट टेस्ट में 27.30 की औसत से 10 विकेट लिए हैं, वहीं एंडरसन ने 19.28 की औसत से 14 विकेट लिए हैं।
हेड ने कहा, "जिमी के ख़िलाफ़ नहीं खेला है, ऐशेज़ में ब्रॉड कठिन थे, वह बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ शानदार थे और संभवत: उन्हें बढ़त मिली। यहां की परिस्थितियों के हम अभ्यस्त हैं और अगर हम गेंदबाज़ों को वहां लंबे समय तक विकेट से दूर रख सकते हैं तो उन पर दबाव डाल सकते हैं।"
उन्होंने कहा, "इसमें कोई शक नहीं कि वह टेस्ट और गुलाबी गेंद को लेकर उत्साहित होंगे। इससे उन्हें स्विंग कराने का मौक़ा मिलता है और उन्हें बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ सफलता मिली है, इसलिए वह आश्वस्त होंगे, लेकिन हम एक शानदार टेस्ट के बाद उतरेंगे और इस टीम में हर कोई शानदार फॉ़र्म में है इसलिए यह रोमांचक होगा।"

ऐंड्रयू मक्ग्लैशन ESPNcricinfo में डिप्‍टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।