ख़बरें

बीसीसीआई ने भारत-वेस्टइंडीज़ सीरीज़ के कार्यक्रम में किया बदलाव

आईपीएल की बड़ी नीलामी और देश में महामारी की तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए लिया गया फ़ैसला

Shimron Hetmyer re-energised West Indies, India v West Indies, 3rd ODI, Cuttack, December 22, 2019

सीरीज़ के सभी मुक़ाबले केवल दो मैदानों पर खेले जाएंगे  •  BCCI

12 और 13 फ़रवरी को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की बड़ी नीलामी को ध्यान में रखते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अगले महीने वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध होने वाली सीमित ओवर मैचों की सीरीज़ के कार्यक्रम में बदलाव किया है। तीसरे वनडे मैच को एक दिन आगे बढ़ाया गया है। साथ ही बोर्ड ने इस बात की भी पुष्टि की है कि यह सभी मुक़ाबले केवल दो मैदानों पर खेले जाएंगे।
20 जनवरी को ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो ने आप सभी को बताया था कि बीसीसीआई देश में बढ़ते कोरोना मामलों को ध्यान में रखते हुए मेज़बानी के लिए निर्धारित छह शहरों की संख्या को कम करना चाहता था।
बीसीसीआई ने बताया कि यह फ़ैसला यात्रा के दौरान टीमों, मैच अधिकारियों, ब्रॉडकास्टरों और अन्य सदस्यों पर कोरोना संक्रमण के ख़तरे को कम करने के लिए लिया गया है।
अब यह दौरा तीन वनडे मैचों की सीरीज़ के साथ शुरू होगा जो अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले जाएंगे। यह मुक़ाबले अब 6, 9 और 11 फ़रवरी को होंगे। इसके बाद टीमें कोलकाता जाएंगी। पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच अब 15 फ़रवरी की बजाय 16 फ़रवरी को खेला जाएगा। इसके बाद बचे हुए दो टी20 मैच निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 18 और 20 तारीख़ को आयोजित किए जाएंगे।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो की रिपोर्ट के अनुसार बीसीसीआई ने इस निर्णय को लेकर विचार-विमर्श किया था और आधिकारिक घोषणा से पहले उन्होंने क्रिकेट वेस्टइंडीज़ के सदस्यों से बात की।
पिछले साल सितंबर में 2021-22 के लिए भारतीय टीम के घरेलू कार्यक्रम की घोषणा करते समय बीसीसीआई ने अहमदाबाद, जयपुर और कोलकाता को वनडे सीरीज़ की मेज़बानी दी थी। वहीं टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले 15, 18 और 20 फ़रवरी को कटक, विशाखापटनम और तिरुवनंतपुरम में खेले जाने थे।
आईपीएल नीलामी के साथ टकराव से बचने के अलावा, शेड्यूल में बदलाव बीसीसीआई द्वारा देश में महामारी की तीसरी लहर के चलते लिया गया एक एहतियाती क़दम है। वैसे तो ओमीक्रॉन का प्रभाव पिछले डेल्टा वेरिएंट की तुलना में कम रहा है, लेकिन यह तेज़ी से लोगों में फैल रहा है। इसी के चलते बड़े शहरों में सार्वजनिक गतिविधियों पर कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।