मैच (10)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
ACC Premier Cup (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

शिवम दुबे के छक्कों ने दिलाई युवराज की याद

शिवम दुबे ने कहा कि एमएस धोनी ने खेल में सुधार करने में उनकी काफ़ी मदद की

गेंद को सीमारेखा के पार भेजते हुए शिवम दुबे  •  BCCI

गेंद को सीमारेखा के पार भेजते हुए शिवम दुबे  •  BCCI

दूसरे ओवर में मिडऑन पर खड़े फ़ाफ़ डुप्लेसी का थ्रो स्टंप्स को मिस कर गया था। रॉबिन उथप्पा बाल-बाल बच गए थे। लेकिन चेन्नई सुपर किंग्स के डगआउट में ड्वेन ब्रावो की अभिव्यक्ति ने यह बयां कर दिया था कि सीएसके इस मुक़ाबले में जीतने के लिए कितनी बेताब है। ब्रावो अपनी सीट से आगे झुक गए थे और उन्होंने अपने साथी क्रिस जॉर्डन को लगभग धक्का दे दिया था। सीएसके के लिए हार के इस सिलसिले को तोड़ना कितना महत्वपूर्ण था, इस बात का अंदाज़ा मैच से पहले टीम के कोच स्टीवन फ़्लेमिंग के उस बयान से लगाया जा सकता है, जिसमें उन्होंने कहा था कि टीम अभी भी इस सबूत की तलाश कर रही है कि वह सही रास्ते पर है या नहीं
यह शिवम दुबे और उथप्पा ही थे जिन्होंने अपने सनसनीखेज़ हमले से सीएसके को मुश्किल परिस्थिति से बाहर निकाला। बल्लेबाज़ी के लिए आमंत्रित किए जाने के बाद सीएसके ने अपने पहले दस ओवरों में दो विकेट के नुकसान पर 60 रन बनाए थे। उनके एक अन्य पुराने साथी जॉश हेज़लवुड ने ऋतुराज गायकवाड़ को 16 गेंदों पर 17 रन के निजी स्कोर पर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। इसके बाद डेब्यू कर रहे सुयश प्रभुदेसाई ने बैकवर्ड प्वाइंट पर झपट्टा मारते हुए आठ गेंदों पर तीन रन बनाकर खेल रहे मोईन अली को रन आउट कर दिया।शिवम को अंबाती रायुडू से पहले प्रमोट किया गया। उनसे पहले मैदान में मौजूद उथप्पा सधी हुई बल्लेबाज़ी कर रहे थे। ऐसे वक़्त में वह शिवम ही थे जिन्होंने छक्कों की शुरुआत कर दी। 11वें ओवर में हसरंगा की दूसरी गेंद पर अपनी लंबी पहुंच का इस्तेमाल करते हुए गेंद को लॉन्ग ऑन के ऊपर से स्टैंड्स में भेज दिया। इसके ठीक तीन गेंद बाद ही उन्होंने मिडविकेट सीमारेखा की तरफ़ एक करारा पुल जड़ दिया।
इसके बाद गेंदबाज़ी करने आए शाहबाज़ अहमद ने शिवम को लेग साइड की बाउंड्री करने की चुनौती दी। उन्होंने एक घुटने पर बैठ स्लॉग स्वीप करते हुए गेंद को सीमारेखा के पार भेज दिया। उनके इस शॉट ने युवराज सिंह की यादों को ज़हन में ताज़ा कर दिया। शिवम का यह शॉट वैसा ही था, जैसा युवराज अपने करियर की पीक पर खेला करते थे। युवराज की ही तरह शिवम गेंद पर लंबी पहुंच, तेज़ हाथ, बैट स्वींग के सहारे छक्के लगाने की क्षमता को आसान बना देते हैं। 2019 में मुंबई के एक टी20 लीग में शिवम ने प्रवीण तांबे के एक ओवर में पांच छक्के लगाए थे। इसके कुछ ही दिनों बाद, आईपीएल की नीलामी से एक दिन पहले शिवम ने रणजी ट्रॉफ़ी के एक मुक़ाबले में इसी कारनामे को दोहरा दिया। इसी के चलते रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने उन्हें पांच करोड़ में खरीद लिया।
ठीक तीन साल बाद, शिवम ने 46 गेंदों में 95 रनों की आतिशी पारी खेल अपनी पुरानी फ्रैंचाइज़ी को धाराशायी कर दिया। पिच पर शिवम की मौजूदगी का मतलब था कि हसरंगा अपने बीच के ओवरों को पूरा नहीं कर सके। आरसीबी ने हसरंगा के ओवरों को धोनी के लिए बचा कर रखा था लेकिन उनकी यह चाल उलटी पड़ गई। जब तक हसरंगा अपना तीसरा ओवर डालने आए तब तक 18 ओवरों में सीएसके ने स्कोर बोर्ड पर दो विकेट के नुकसान पर 187 रन टांग दिए थे। उथप्पा ने पहली ही गेंद पर छक्के के साथ हसरंगा का स्वागत किया, जबकि शिवम ने भी हसरंगा की एक गेंद को लॉन्ग ऑन के ऊपर से बाउंड्री पार पहुंचा दिया।शिवम अक्सर तेज़ गति और उछाल भरी गेंदों को उतने अच्छे से खेल नहीं पाते। लेकिन उनकी सबसे अच्छी ताक़त यह है कि वह अच्छी गेंदों को भी ख़राब गेंदों में तब्दील करने का माद्दा रखते हैं। हेज़लवुड आख़िरी ओवर की दूसरी गेंद पर यॉर्कर करने से हल्का चूके ही थे कि शिवम ने उसे हाफ़ वॉली में तब्दील करते हुए उनके सिर के ऊपर से 102 मीटर लंबा छक्का जड़ दिया।
शिवम ने प्लेयर ऑफ़ द मैच का पुरस्कार जीतने के बाद होस्ट ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स से कहा, "मैं वास्तव में ख़ुश हूं कि मैंने अपनी टीम की पहली जीत में योगदान दिया। मुझे लगता है कि मैं इस बार [आईपीएल 2022 में] अधिक ध्यान केंद्रित कर रहा हूं और मैं अपने मूल पर ध्यान केंद्रित कर रहा हूं - ज़्यादा कुछ नहीं। मैंने कई वरिष्ठ खिलाड़ियों से बात की। माही [एमएस धोनी] भाई ने भी मेरे खेल में सुधार करने में मेरी मदद की। उन्होंने मुझे शांत रहने और अपने कौशल को विकसीत करने पर काम करने की हिदायत दी। जैसा कि स्थिति की मांग है, जैसा कि कप्तान और कोच मुझसे कहते हैं, मैं कहीं भी बल्लेबाज़ी करने के लिए तैयार हूं।" चेन्नई के सामने अभी भी दीपक चाहर की कमी को भरना एक बड़ी चुनौती है, लेकिन शिवम के लचीलेपन ने सीएसके की बल्लेबाज़ी में एक और आयाम जोड़ दिया है।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।