मैच (12)
T20 वर्ल्ड कप (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
SL vs WI [W] (1)
ख़बरें

अगले साल तय समय पर पाकिस्तान का दौरा करने के लिए सारे प्रयत्न करेंगे : ईसीबी अध्यक्ष

"हमें सुरक्षा और खिलाड़ियों की सलामती पर सलाह मिली और इसलिए हमने दौरे से पीछे हटने का निर्णय लिया"

Ian Watmore, the ECB's new chairman

क्रिकेटरों की सलामती के लिए लिया था पाक दौरा रद करने का फैसला  •  ECB/Getty Images

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के अध्यक्ष इयन वॉटमोर ने पाकिस्तान क्रिकेट से माफ़ी मांगी है और स्वीकार किया है कि दोनों बोर्डों के बीच संबंधों को फिर से बनाने की ज़रूरत है। यह सार्वजनिक बयान उन्होंने इंग्लैंड के पाकिस्तान दौरे को रद करने के बाद दिया है, जहां विशिष्ट सुरक्षा खतरे का हवाला देकर पहले न्यूज़ीलैंड और बाद में इंग्लैंड ने अपना दौरा रद कर दिया था।
डेली टेलीग्राफ़ के साथ एक साक्षात्कार में, वॉटमोर ने कहा कि सुरक्षा एक बिंदु है, लेकिन ज़ोर देकर कहा कि खिलाड़ी की सलामती प्राथमिक विचार था। वॉटमोर ने कहा, "हमारे फ़ैसले से आहत या निराश होने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए मुझे बहुत खेद है, ख़ासकर पाकिस्तान में। बोर्ड ने जो निर्णय लिया वह बेहद कठिन था।" "मैं विस्तार से नहीं बताऊंगा, लेकिन हमें सुरक्षा और खिलाड़ियों की सलामती के बारे में सलाह मिली और हमने वह निर्णय लिया। विश्व कप के लिए अल्पावधि और पाकिस्तान से न्यूजीलैंड के पलायन के कारण हमें इसे जल्दी से बनाना पड़ा। वे सभी बिंदु थे, लेकिन प्राथमिक विचार खिलाड़ियों का कल्याण था।"
2005-06 के बाद से अक्टूबर में यह दौरा इंग्लैंड की पुरुष और महिला टीम का पहला पाकिस्तान दौरा होता। पुरुषों को टी20 विश्व कप की तैयारी के लिए दो टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने थे। महिला टीम को भी इन्हीं दिनों पर दो टी20 मैच खेलने थे। टी20 मैचों के अलावा महिलाओं को तीन मैचों की वनडे सीरीज़ भी खेलनी थी।
वॉटमोर ने यह भी पुष्टि की कि निर्णय खिलाड़ियों द्वारा नहीं लिया गया था और कहा कि कोई व्यापक परामर्श नहीं किया गया था। "बोर्ड ने मिली जानकारी के आधार पर यह निर्णय लिया था। अगर हमने दौरे के साथ आगे बढ़ने का फ़ैसला किया होता, तो हमें टीईपीपी (इंग्लैंड के खिलाड़ियों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था) और पीसीए को प्रस्ताव देना पड़ता, लेकिन यह उस बिंदु तक नहीं पहुंचा।"
वॉटमोर ने कहा, "हमें 2022 के लिए योजना बनाने में अधिक समय लगेगा और यह दौरा समय सीमा के बहुत क़रीब की घटनाओं से प्रभावित हुआ था। हमें पाकिस्तान के साथ अपने संबंधों को फिर से बनाने की ज़रूरत है और 2022 में वहां जाने पर फिर से ध्यान देना होगा। यह सही समय नहीं था। ज़ाहिर है कि हम पिछले साल यहां आने वाली पाकिस्तान टीम के बेहद आभारी हैं और हम अगले साल निर्धारित दौरे को पूरा करने के लिए हम सब कुछ करेंगे।"