फ़ीचर्स

रेटिंग्स : पंत और हार्दिक रहे टॉप परफ़ॉर्मर, धवन और कोहली ने किया मायूस

जानिए तीसरे वनडे में भारतीय एकादश में हर खिलाड़ी को 10 में कितने अंक मिलते हैं?

भारत ने पांच विकेट से तीसरा वनडे जीतकर इंग्लैंड के ख़िलाफ़ सीरीज़ 2-1 से अपने नाम कर ली। आइए हम करते हैं एकादश में हर एक खिलाड़ी के प्रदर्शन का आकलन।
क्या सही और क्या ग़लत?
गेंद के साथ भारत ने फिर से अच्छा काम किया। एक सपाट पिच पर सकारात्मक गेंदबाज़ी और फ़ील्ड रचना के सहारे उन्होंने विश्व चैंपियन इंग्लैंड को तीसरे लगातार मैच में 260 से कम के स्कोर पर रोका। बल्ले के साथ भी मध्य क्रम एक मुश्किल चेज़ में रंग लाया।
इंग्लैंड के सात विकेट 199 पर गिरने के बाद भारत ने एक बार फिर उन्हें आख़िर में एक साझेदारी बनने दी। इसके अलावा पहले चार बल्लेबाज़ों ने भी निराश किया।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वश्रेष्ठ रेटिंग)

रोहित शर्मा, 5 : रोहित की कप्तानी अच्छी थी। उन्होंने मोहम्मद सिराज की गेंदबाज़ी पर जो रूट का अच्छा कैच लपका और सही समय नई गेंद मोहम्मद शमी से लेकर हार्दिक पंड्या को थमाई। बल्ले से उनकी शुरुआत अच्छी हुई लेकिन ऑफ़ स्टंप के बाहर गेंद छेड़ते हुए वह आउट हुए।
शिखर धवन, 3 : एक छोटी पारी में धवन बिलकुल सहज नहीं दिखे और हवा में ड्राइव लगाते हुए आउट हुए। वेस्टइंडीज़ में वह भले ही कप्तान होंगे लेकिन इस दौरे पर उन्होंने ख़ुद को मिले मौक़े नहीं भुनाए।
विराट कोहली, 4 : कोहली ने क्रेग ओवर्टन का अच्छा कैच पकड़ा, जिससे शायद इंग्लैंड की पारी में 20-25 रन कम बने हो। बल्ले के साथ उनकी शुरुआत अच्छी थी लेकिन फिर ऑफ़ स्टंप पर खेलते हुए वह आउट हुए।
ऋषभ पंत, 10 : आज तो पंत के 10 बनते हैं। पारी की शुरुआत में मोईन अली पर आक्रमण करने के चक्कर में वह स्टंप आउट हो सकते थे लेकिन उसके अलावा उनकी पारी में परिपक्वता साफ़ नज़र आई। डेविड विली के अंतिम ओवर में उनका प्रहार वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनके पहले शतक की सबसे यादगार बात रही। कीपिंग में भी उन्होंने मोईन का अच्छा कैच पकड़ा।
सूर्यकुमार यादव, 5 : इस दौरे के एक सकारात्मक पहलू रहे हैं सूर्यकुमार लेकिन इस पारी में उन्होंने ज़्यादा कुछ नहीं किया। गेंदबाज़ों ने भांप लिया था कि वह लगभग हर गेंद को थर्ड की ओर स्टीयर करने की कोशिश कर रहे थे और ऐसे ही शॉट पर वह आउट भी हुए।
हार्दिक पंड्या, 9.5 : पंड्या के लिए यादगार गेम रहा। वह टी20 प्रारूप के अलावा वनडे में एक ही मैच में चार विकेट और 50 रन बनाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। गेंदबाज़ी के दौरान उन्होंने शॉर्ट गेंद का भरपूर फ़ायदा उठाया। आधा प्वाइंट कटता है क्योंकि वह आउट नहीं होते तो पंत की तरह शतकवीर बन सकते थे।
रवींद्र जाडेजा, 7 : जाडेजा के लिए इस मैच में बहुत कुछ करने को नहीं था लेकिन उन्होंने गेंद से मोईन का विकेट लिया, हार्दिक की गेंदबाज़ी पर दो लाजवाब कैच पकडे और फिर आख़िर में बल्ले से नाबाद रहे।
मोहम्मद शमी, 5 : पहले दो मैचों की तरह शमी की गेंदबाज़ी में वह पैनापन नहीं दिखा। फिर भी उन्होंने शुरुआत में अधिक रन देने के बाद अपने दूसरे स्पेल में अनुशासित गेंदबाज़ी की।
युज़वेंद्र चहल, 8 : चहल ने आज रन लुटाए लेकिन आख़िर में तीन विकेट लेकर अच्छी वापसी की। 9.5 ओवर में 60 रन देने के बावजूद 25 डॉट गेंदें भी थीं जिसका मतलब है उन्होंने इंग्लैंड को मिडिल ओवर्स में बांधने का अच्छा काम किया।
प्रसिद्ध कृष्णा, 6 : प्रसिद्ध के नाम आज फिर कोई विकेट नहीं था लेकिन जब जेसन रॉय और बेन स्टोक्स आक्रमण पर उतर आए थे तब उन्होंने हार्दिक के साथ रन गति पर अंकुश लगाने में मदद की थी।
मोहम्मद सिराज, 7 : वास्तव में आज का मैच सिराज ने अपने पहले ओवर में ही बनाया। मेडन करते हुए जॉनी बेयरस्टो और रूट का विकेट लेना बहुमूल्य साबित हुआ और इसके लिए हम सिराज के बाद के क़ीमती ओवरों को नज़रअंदाज़ कर सकते हैं।

देबायन सेन ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख हैं।