मैच (25)
Legends WC (1)
ENG v NZ (W) (1)
LPL (3)
TNPL (4)
ZIM v IND (2)
MLC (3)
T20 Blast (8)
RHF Trophy (3)
ख़बरें

बेन स्टोक्स : मुझे पता था मैं विश्व कप खेलूंगा

इंग्लैंड के लिए रिकॉर्ड सर्वाधिक स्कोर बनाते हुए उन्हें एहसास हुआ 50-ओवर क्रिकेट में कितना समय रहता है

Ben Stokes acknowledges the crowd after falling for an England ODI record 182, England vs New Zealand, 3rd ODI, The Oval, September 13, 2023

इंग्लैंड के लिए सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाकर पवेलियन लौटते हुए स्टोक्स  •  Getty Images

इंग्लैंड ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने माना है कि इस वर्ष ऐशेज़ सीरीज़ के दौरान उन्हें पता था कि भारत में वनडे विश्व कप में इंग्लैंड को अपनी ख़िताब के बचाव के लिए उन्हें वनडे क्रिकेट से घोषित संन्यास से वापस आना पड़ेगा। जुलाई में ऐशेज़ के पांचवे टेस्ट के बाद स्टोक्स ने कहा था कि वह अपने बाएं घुटने की इंजरी को संभालने के लिए खेल से कुछ वक़्त बाहर रहना पसंद करेंगे, लेकिन दो हफ़्ते बाद ही उन्हें न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध वनडे सीरीज़ और उसके बाद विश्व कप के अस्थायी दल में शामिल किया गया था। स्टोक्स ने जुलाई 2022 में वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने का निर्णय लिया था।

बुधवार रात को इस घटनाक्रम पर पूछे जाने पर स्टोक्स बोले, "ज़ाहिर सी बात है कि मुझे अपने घुटने पर कई सवाल पूछे गए हैं। मैंने उस वक़्त [नहीं लौटने पर] कुछ कहा होगा इन बातों को टालने के लिए। मुझे वास्तव में पता था कि मैं यह मैच और संभवत: विश्व कप भी खेलूंगा। तब मैं [प्रेस को] शांत करने के लिए ऐसी बातें कर रहा था।"
स्टोक्स न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ बड़ी जीत में 124 गेंदों पर 182 रनों की पारी खेलकर बात कर रहे थे। इस पारी से उन्होंने जेसन रॉय के नाम इंग्लैंड के लिए पुरुष वनडे क्रिकेट में सर्वाधिक स्कोर के रिकॉर्ड को भी तोड़ा। स्टोक्स ने कहा, "मुझे इस [रिकॉर्ड स्कोर] बारे में तब पता लगा जब स्टेडियम में किसी ने इस बात की घोषणा की। मैं अगली गेंद पर आउट हो गया।"

स्टोक्स जब मैदान पर उतरे थे तब इंग्लैंड ने 13 पर दो विकेट गंवा दिए थे। उन्होंने कहा, "आपके पास उम्मीद से ज़्यादा समय होता है। गेम की और जागरूकता और परिस्थिति के हिसाब से ख़ुद को ढालने के मामले में आज का दिन अच्छा था। एक 50 ओवर का मैच कैसे खेला जा सकता है, आज के दिन ने यह याद दिलाया। हम जल्दी विकेट खो चुके थे और हम विपक्ष पर दबाव बनाना चाहते थे। एक-दो बार मैंने देखा कि अभी 23-24 ओवर बचे हैं, सो मैंने ख़ुद को थोड़ा रोका।

"इस पारी के दौरान मैंने यही सीखा कि आपके पास कितना समय रहता है। कुछ ऐसे पड़ाव थे जहां मैं आसानी से रन बना रहा था, लेकिन वहीं मुझे लंबा खेलने का मन भी था। यह मेरे लिए बड़ी बात थी।"

स्टोक्स अब नंबर 4 पर आने लगे हैं और उन्होंने अपने रवय्ये में ख़ास बदलाव नहीं किया है। हालांकि एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के रूप में उन्होंने अपनी माइंडसेट पर कहा, "यह पहली बार है कि मैं एक चीज़ [बल्लेबाज़ी] पर पूरी तरह ध्यान केंद्रित कर सकता हूं। पिछले 18 महीनों में लगातार यह सवाल आता रहा है, 'क्या मैं गेंदबाज़ी करूंगा या नहीं?' अब इस बात पर स्पष्टता से मेरा काम आसान हुआ है।

"मैं बहुत जल्दी मैदान पर नहीं उतरना चाहता क्योंकि शीर्ष क्रम का अच्छा करना टीम के लिए ज़रूरी है। मैंने अपने अप्रोच को नहीं बदला है। मैं 4 पर भी वैसी ही बल्लेबाज़ी करूंगा जो मैं 5 या 6 पर करता आया हूं।"