मैच (10)
एशिया कप (2)
ENG v WI (1)
TNPL (2)
LPL (2)
BAN-A vs PAK-A (1)
MLC (2)
ख़बरें

इंग्लैंड-भारत सीरीज़ से होगा दूसरे विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का आगाज़

जीत पर टीमों को 12, ड्रॉ पर चार और टाई पर छह अंक मिलेंगे।

Joe Root and Virat Kohli pose with the trophy, Edgbaston, July 30, 2018

WTC 2 में इंग्लैंड को सबसे अधिक 21 और भारत को 19 मैच खेलने हैं।  •  Getty Images

इंग्लैंड और भारत के बीच चार अगस्त से शुरू हो रही पांच मैचों की पटौदी ट्रॉफी से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के दूसरे संस्करण (WTC 2) का आगाज़ होगा। अगस्त 2021 से जून 2023 तक होने वाले इस दूसरे संस्करण में भारत-इंग्लैंड सीरीज़ के अलावा दिसंबर में होने वाला ऐशेज़, पांच टेस्ट मैचों की सिर्फ दूसरी सीरीज़ होगी। वहीं 2022 में ऑस्ट्रेलिया का भारत दौरा WTC 2 की एकमात्र चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला होगी।
WTC 2 में इसके अलावा 7 तीन टेस्ट मैचों की और 13 दो टेस्ट मैचों की श्रृंखलाएं खेली जाएंगी। आईसीसी ने अभी तक WTC 2 फ़ाइनल के लिए तारीख़ और जगह तय नहीं किया है।
2019 और 2021 के बीच खेले गए WTC के पहले संस्करण की तरह, दूसरे संस्करण में भी नौ टेस्ट टीमें कुल छह सीरीज़ खेलेंगी। इसमें तीन घरेलू और तीन विदेशी सीरीज़ होंगी। WTC 1 में कोरोना महामारी के कारण स्थगित की गई किसी भी सीरीज़ को दूसरे संस्करण में आगे नहीं बढ़ाया गया है।
इंग्लैंड डब्ल्यूटीसी 2 में सबसे अधिक टेस्ट 21 खेलेगा। उसके बाद भारत (19), ऑस्ट्रेलिया (18) और दक्षिण अफ्रीका (15) का स्थान है। वहीं वर्तमान विजेता न्यूज़ीलैंड, वेस्टइंडीज़ और श्रीलंका के समान केवल 13 मैच खेलेगी, जो कि पाकिस्तान (14) से एक कम है। वहीं बांग्लादेश की टीम प्रत्येक सीरीज़ में सिर्फ दो और कुल 12 मैच खेलेगी।
प्वाइंट सिस्टम - जीत के लिए 12, ड्रॉ के लिए 4 और टाई के लिए 6 अंक
आईसीसी ने प्रत्येक मैच को समान अंक आवंटित करने का निर्णय लिया है। प्रस्तावित प्रणाली के तहत WTC 2 में प्रत्येक मैच 12 अंकों का होगा, वहीं ड्रा के लिए दोनों टीमों में एक तिहाई यानी चार अंक बांटे जाएंगे। जबकि टाई मैच से प्रत्येक टीम को छह अंक मिलेंगे। धीमी ओवर दर के लिए टीमों को दंडित भी किया जाएगा और प्रत्येक ओवर के लिए एक अंक काटे जाएंगे। आईसीसी की अगली मुख्य कार्यकारी समिति की बैठक में इस प्रस्ताव का अनुमोदन किया जाएगा।
हाल ही में ESPNcricinfo के साथ बातचीत में आईसीसी के कार्यवाहक मुख्य कार्यकारी अधिकारी ज्योफ एलार्डिस ने कहा, "प्रत्येक सीरीज़ के समान अंक (120) होने की बजाय अब प्रत्येक मैच के समान अंक होंगे। टीमों को उनके द्वारा खेले गए मैचों से जीते गए उपलब्ध अंकों के प्रतिशत के आधार पर रैंक किया जाएगा। इसका उद्देश्य अंक प्रणाली को सरल बनाना है। खेले गए मैचों और सीरीज़ की संख्या अलग-अलग होने के बावजूद प्रतिशत अंकों के आधार पर ही टीमों को रैंक किया जाएगा।"

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। हिंदी अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर दया सागर ने किया है।