मैच (16)
NZ v AUS (1)
AFG v IRE (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (2)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

यूएई में गेंदबाज़ी करने के तरीक़े ढूंढने होगे : उनादकट

तेज़ गेंदबाज़ ने कहा कि वह अपनी गेंदबाज़ी ऐक्शन में कुछ परिवर्तन भी कर रहे हैं

पिछले साल के आईपीएल के दौरान यूएई में अभ्यास करते जयदेव उनादकट  •  Rajasthan Royals

पिछले साल के आईपीएल के दौरान यूएई में अभ्यास करते जयदेव उनादकट  •  Rajasthan Royals

राजस्थान रॉयल्स (आरआर) के तेज़ गेंदबाज़ जयदेव उनादकट का मानना है कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के दूसरे चरण के लिए संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में परिस्थितियां पिछले साल की तरह ही होंगी, जिसमें गेंदबाज़ों को फ़्लैट विकेट और बड़े स्कोर की चुनौती मिलेगी। उनादकट का मानना है कि पांचवें स्थान पर चल रही उनकी टीम बटलर, स्टोक्स और आर्चर के बिना भी अच्छा प्रदर्शन कर सकती है।
उनादकट ने 84 आईपीएल मैचों में 85 विकेट चटकाए हैं। उन्होंने कहा, "जब शारजाह की तरह बॉउंड्री छोटी हो तो गेंदबाज़ी करना कठिन होता है क्योंकि बल्लेबाज़ कभी भी बॉउंड्री पार करने के लिए आश्वस्त होते हैं। लेकिन एक गेंदबाज़ के रूप में आपको यह चुनौती स्वीकार करना होगा और गेंदबाज़ी करने के तरीक़े खोजने होंगे।
उन्होंने कहा, "हम जानते हैं कि वहां पर हाई स्कोरिंग मैच होने जा रहे हैं। इसलिए अगर आप पर मार पड़ती है तो आपको मजबूत होकर वापस आना होगा। छोटे मैदान और फ़्लैट विकेट पर हर एक गेंद मायने रखती है। हमने पिछले सीज़न में इन्हीं मैदानों पर काफ़ी खेल खेला था और हमें विश्वास है कि हम अच्छा करेंगे।"
29 वर्षीय उनादकट ने यह भी खुलासा किया कि उन्होंने अपने गृहनगर राजकोट में ऑफ़ सीज़न के दौरान अपनी गेंदबाज़ी तकनीकी पर कुछ काम किया है। आईपीएल 2021 के प्रथम चरण में दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ तीन विकेट लेकर सीज़न की अच्छी शुरूआत करने वाले उनादकट अपनी फ़ॉर्म को यूएई चरण में भी बरकरार रखना चाहते हैं।
आईपीएल 2021 के पहले चरण में चार मैचों में चार विकेट लेने वाले उनादकट ने कहा, "मैं अपनी गेंदबाज़ी ऐक्शन में कुछ बदलाव करना चाहता था, इसलिए मैं उस पर काम कर रहा था। इसके लिए पर्याप्त समय की जरूरत है, और पिछले कुछ समय मैंने इसी पर बिताए हैं।"
यह वह समय था, जब श्रीलंका के ख़िलाफ़ सीमित ओवर की सीरीज़ के लिए उन्हें नज़रअंदाज किया गया था। उनादकट ने 2019-20 रणजी सीज़न में 67 विकेट चटकाए थे और सौराष्ट्र को रणजी ट्रॉफ़ी जीतने में अहम भूमिका निभाई थी।
हाल ही में सोशल मीडिया से ब्रेक लेने वाले उनादकट को लगता है कि इस तरह के कदम कई बार आपकी मजबूत वापसी में मदद करते हैं। उन्होंने कहा, "मैं अपनी गेंदबाज़ी पर कुछ काम करना चाहता था और इन सब चीज़ों से थोड़ा सा ध्यान हटाना चाहता था। यह हमेशा अच्छा होता है जब आप केवल अपने और परिवार के साथ कुछ समय बिताएं और बाहरी दुनिया आपके बारे में क्या कह रही है, उससे अनजान रहें। मैंने ऐसा अतीत में भी किया है। यह एक सामान्य प्रक्रिया है, जो मुझे यह पता लगाने में मदद करती है कि मुझे भविष्य में क्या काम करना है।"