ख़बरें

मैं पहली बार ख़राब फ़ॉर्म से नहीं जूझ रहा हूं : रोहित शर्मा

रोहित ने कहा कि इस तरह की परिस्थितियों का वह पहले भी सामना कर चुके हैं

मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा इस आईपीएल में अपने प्रदर्शन से काफ़ी निराश हैं लेकिन उनका मानना है कि वह जल्द ही वापसी करेंगे। इस सीज़न खेले कुल 14 मुक़ाबलों में वह केवल 19.14 की औसत और 120 के स्ट्राइक रेट से 268 रन ही बना पाए। ऐसा पहली बार हुआ जब आईपीएल के किसी सीज़न में वह एक अर्धशतक तक नहीं बना पाए।
रोहित ने अपनी फ़ॉर्म पर चर्चा करते हुए कहा, "काफ़ी चीज़ें मेरे अनुरूप नहीं गईं। हालांकि यह चीज़ें पहले भी मेरे साथ हो चुकी हैं लिहाज़ा मैं पहली बार इन परिस्थितियों का सामना नहीं कर रहा हूं। मुझे पता है कि क्रिकेट यहां समाप्त नहीं होती अभी आगे काफ़ी क्रिकेट खेलनी है। इसलिए मुझे मानसिक पहलू पर थोड़ा काम करने की ज़रूरत है ताकि मैं वापस अपनी लय प्राप्त कर सकूं। मुझे बस थोड़े से समायोजन की दरकार है और जब भी मुझे खाली समय मिलेगा मैं इस पर काम करूंगा।"
रोहित की ख़राब फ़ॉर्म का खामियाज़ा टीम को भी भुगतना पड़ा। मुंबई इस सीज़न के पहले आठों मुक़ाबले हार गई। पिछले छह मुक़ाबलों में उन्होंने चार मुक़ाबले ज़रूर अपने नाम किए लेकिन तब तक काफ़ी देर हो चुकी थी।
रोहित ने इस सीज़न मुंबई के प्रदर्शन पर बात करते हुए कहा, "यह सीज़न हमारे लिए काफ़ी निराशाजनक रहा, हम सीज़न की शुरुआत में अपनी योजनाओं को धरातल पर नहीं उतार सके। आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में आपको मॉमेंटम बनाना पड़ता है। शुरुआत में हम एक के बाद एक लगातार मुक़ाबले हारते रहे। हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण यह था कि हम योजनाओं को अपने हिसाब से मैदान में लागू करें लेकिन चीज़ें वैसी घटित नहीं हुईं जैसा हम चाहते थे। हालांकि एक नई टीम के साथ ऐसा होता है क्योंकि खिलाड़ियों को अपनी भूमिकओं को समझने में समय लगता है। कुछ खिलाड़ी इस फ़्रैंचाइज़ी के लिए पहली बार खेल रहे थे, अपनी राष्ट्रीय, राज्य या दूसरी लीग में वह जो भुमिका निभाते हैं उसके मुक़ाबले यहां उन्हें दूसरी भूमिकाएं दी गई थीं और यही वजह रही कि उन्हें नई भूमिकाओं से तालमेल बनाने में समय लग गया।"
रोहित ने टूर्नामेंट के दूसरे चरण में टीम के प्रदर्शन को लेकर कहा, "दूसरे फ़ेज़ में हमने बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी दोनों ही क्षेत्रों में अच्छा किया। यह हमारे लिए सकारात्मक पहलू है, जब आप बड़ा मैच या कोई बड़ा टूर्नामेंट जीतना चाहते हैं तो आपको कुछ ऐसा ही प्रदर्शन करना होता है।"
बल्लेबाज़ों ने हमें निराश किया : रिकी पोंटिंग
दिल्ली कैपिटल्स के कोच रिकी पोंटिंग का मानना है कि इस सीज़न में दिल्ली के गेंदबाज़ों ने अपने प्रदर्शन से काफ़ी प्रभावित किया लेकिन टीम के बल्लेबाज़ों ने उम्मीद से काफ़ी ख़राब प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा, "यदि हम सीज़न में अपने प्रदर्शन की समीक्षा करें तो हम पाएंगे कि हमारे गेंदबाज़ों ने बल्लेबाज़ों के मुक़ाबले काफ़ी अच्छा प्रदर्शन किया। हमारा बल्लेबाज़ी समूह उस निरंतरता के साथ प्रदर्शन नहीं कर पाया और हम उतने रन नहीं बना पाए जितने हमें बनाने चाहिए थे।"
पोंटिंग ने कहा, "मैं बहाने नहीं बनाना चाहता, लेकिन इस सीज़न में हमें कई अन्य तरह की कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ा। कोरोना, चोटें और अन्य तरह की बिमारियों ने हमें बुरी तरह से प्रभावित किया। ख़लील अहमद और चेतन साकरिया ने जितने भी मुक़ाबले खेले उनमें उनके प्रदर्शन से हम सभी काफ़ी ख़ुश हैं। कुलदीप यादव, शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल सभी ने बढ़िया गेंदबाज़ी की। लिहाज़ा यह कहना ग़लत नहीं होगा कि हमारी गेंदबाज़ी ने बल्लेबाज़ी से अधिक बेहतर प्रदर्शन किया। लेकिन इस टूर्नामेंट में बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी एक साथ नहीं चल सके। सीज़न के शुरुआती मुक़ाबलों में हमने बिना बहुत अच्छा हुए अच्छी क्रिकेट खेली। मैंने खिलाड़ियों से कहा था कि वह अच्छे को और अच्छे में तब्दील करने का प्रयास करें। बाद में हम इसे तब्दील करने में भी क़ामयाब रहे लेकिन अंत में हम सिर्फ़ एक मुक़ाबले से पीछे रह गए जो कि काफ़ी निराशाजनक है।"

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।