मैच (8)
एशिया कप (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
MLC (2)
ENG v WI (1)
LPL (1)
TNPL (1)
ख़बरें

फ़्लेमिंग: धोनी पूरी तरह फ़िट नहीं, लेकिन हम चाहते हैं कि वह मैदान पर बने रहें

CSK के कोच ने कहा, "टीम देख रही है कि कैसे वह मैच में इम्‍पैक्‍ट ला सकते हैं"

MS Dhoni walked out to thunderous applause in Lucknow, Lucknow Super Giants vs Chennai Super Kings, IPL 2024, Lucknow, April 19, 2024

एमएस धोनी का CSK के लिए है बड़ा रोल  •  BCCI

क्या एमएस धोनी को बड़ी चोट लगी है? क्‍या यही वजह है कि पंजाब किंग्‍स के ख़िलाफ़ चेन्‍नई सुपर किंग्‍स (CSK) के पिछले मैच में वह नौवें नंबर पर खेले थे? CSK के प्रमुख कोच स्‍टीफ़न फ़्लेमिंग ने कहा है कि अगले मैच से पहले आराम का दिन है और धोनी की देर से एंट्री रणनीति और वर्कलोड का हिस्सा होगी।
फ़्लेमिंग ने मैच से एक दिन पहले कहा, "पोज़‍ीशन के बारे में चिंता मत कीजिए, यह अगले मैच पर ध्‍यान लगाने का समय है। हम पहले भी देख चुके हैं, जहां धोनी पिछले साल घुटने की सर्जरी से उबरे, लेकिन इस साल वह जितना हो सके वर्कलोड मैनेजमेंट कर रहे हैं।"
"अब हमारे लिए चुनौती यह है कि हमारे पास अरावेल्‍ली अविनाश के तौर पर अच्‍छा विकेटकीपर बैकअप है, लेकिन वह धोनी नहीं है। हम चाहते हैं कि धोनी मैदान पर रहें और जो कर सकते हैं वह करें, जो आख़‍िरी दो-तीन-चार ओवर बल्‍ले से हों और विकेट के पीछे बाद में उनकी क़ाबिलियत। एक नए कप्‍तान के लिए तक़नीकी सलाह बेहद अहम है।"
वैसे उन्‍होंने इस बात को नकार दिया कि धोनी की चोट ने उनको बल्‍लेबाज़ी में अधिक समय नहीं दिया, लेकिन फ़्लेमिंग ने साफ़ किया कि एक 43 साल के शरीर को अधिक सतर्कता की ज़रूरत है।
फ़्लेमिंग ने कहा, "हम कुछ चीज़ों को तोल रहे हैं, शारीरिक तौर पर यह दिक्‍कत भरा है। इस सीज़न की शुरुआत में हम कुछ मांसपेशियों की चोट देख चुके हैं, अगर वह बहुत लंबी बल्लेबाज़ी करते हैं तो हम बाद में उनको ख़ोने का रिस्‍क ले सकते हैं। तो हम उस संतुलन को ढूंढने का प्रयास कर रहे हैं जहां वह मैच पर अपना इम्‍पैक्‍ट डाल सकते हैं।"
"जैसे वह छक्‍के और चौके लगा रहे हैं, जो बहुत उन्‍होंने बहुत अच्‍छा किया है। साथ ही साथ अगर वह प्रतिस्‍पर्धा में सर्वश्रेष्‍ठ नहीं कर सकें लेकिन इसमें सर्वश्रेष्‍ठ में से एक रहें। तो सिर्फ़ इसलिए कि वह नंबर 9 पर आते हैं, टीम पर उनके प्रभाव को कम मत आंकिए। हम अच्‍छे से जानते हैं कि वह हमें क्‍या दे सकते हैं और हम उसका अधिक से अधिक निकालने का प्रयास करेंगे।"
"लेकिन हम इतना आगे नहीं जाना चाहते जिससे हमें उनको खोना पड़े। तो यह एक अच्‍छा संतुलन है लेकिन विश्‍वास कीजिए उनकी दिलचस्‍पी हमारे साथ है और उनकी दिलचस्‍पी अभी भी टीम के लिए अच्‍छा करने पर है।"
जब उनसे धोनी की फ़‍िटनेस स्‍तर पर सवाल किया गया तो फ़्लेमिंग ने कहा कि CSK के आइकॉन खिलाड़ी का टीम में बल्‍लेबाज़ी का रोल है और वह डेथ ओवरों में हिटर की भूमिका में थे। उन्‍होंने कितनी गेंद खेली और वह किस परिस्थिति में किस समय बल्‍लेबाज़ी के लिए आए, यह भी उनकी बल्‍लेबाज़ी पोज़‍ीशन को दर्शाता है।
फ़्लेमिंग ने कहा, "इसके अलावा कोई कारण नहीं है। उनको पहले ही दर्द हुआ है, तीसरे और चौथे मैच में भी। हम बस उसको ठीक करने की ओर ध्‍यान दे रहे हैं, लेकिन उनका रोल बेहद साफ़ है। उनका रोल आख़‍िरी तीन या चार ओवर खेलना है। हम हमेशा उस तरह की टाइमिंग की अपेक्षा नहीं कर सकते हैं, यह विकेट पर निर्भर है और हां वह इस समय में सबसे अधिक रन जुटाने के लिए हमारे सबसे बेहतरीन खिलाड़ी हैं।"
"तो यह बस रणनीति है जो हम उनके लिए इस्‍तेमाल कर रहे हैं, अगर तीन या चार ओवर वह हमारे लिए काम आ सकते हैं तो अच्‍छा है, अगर विकेट तब गिरता है और 20 ओवर के हम क़रीब हैं तो हम खिलाड़‍ियों को रिटायर कर सकते हैं। लेकिन यह उनके डीएनए में नहीं है लेकिन अगर यह होता है तो अच्‍छा है लेकिन अंत में बात आख़‍िर में हिटिंग करने की है।"
IPL 2024 में अंत में धोनी के आने की तस्‍वीरें आम हैं, साथ ही पिछले मैच में नंबर 9 पर भी आना, अंत में आने पर उनकी कई पूर्व क्रिकेटरों ने भी आलोचना की लेकिन फ़्लेमिंग पहली बार इस तरह के सवालों का जवाब नहीं दे रहे थे।
उन्‍होंने कहा, "वह दौड़ सकते हैं। बस बात यह है कि वह लंबे समय तक बल्‍लेबाज़ी नहीं कर रहे हैं। कीपिंग बेहतरीन है। वह अपने मूवमेंट में संतुलित दिखे हैं, तो वह इसको बनाए रख सकते हैं, उनके हाथ, उनके हाथ-आंखों का समायोजन अच्‍छा है और उनकी गति भी किसी अन्‍य के बराबर ही है। तो इसमें कोई समस्‍या नहीं है।"
"हम केवल उन्हें पांच या छह ओवर बल्लेबाज़ी करने देने के ख़िलाफ़ हैं क्योंकि वहां हर दूसरी गेंद पर दौड़ लगाना पड़ सकता है। उनके लिए हम निश्चित रोल का इस्तेमाल कर रहे हैं। पिछले साल टुकड़ों में, लेकिन इस साल तो यह मुद्दा बन चुकी है, लेकिन इसमें बदलाव नहीं आया है।"
भले ही शारीरिक तौर पर धोनी मुश्किल में हैं, लेकिन उन्होंने टीम के सारे मैच खेले हैं और हर गेंद को विकेट के पीछे पकड़ा है। उन्होंने 49 गेंदों में 224.48 की स्ट्राइक-रेट से 110 रन बनाए हैं। CSK के अभी तीन मैच बचे हुए हैं और वे अंक तालिका में चौथे स्थान पर हैं।