मैच (21)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

'एक गेंदबाज़ी इकाई के रूप में, हमें अधिक जिम्मेदारी लेने की जरूरत है' - झूलन गोस्वामी

"हमने बहुत सी चीजों पर चर्चा की है। उम्मीद है कि हम इसे सुलझा लेंगे और मजबूती से वापस आएंगे"

पहले वनडे में विकेट लेने वाली एकमात्र भारतीय तेज गेंदबाज़  •  BCCI

पहले वनडे में विकेट लेने वाली एकमात्र भारतीय तेज गेंदबाज़  •  BCCI

झूलन गोस्वामी का मानना ​​​​है कि अगर भारतीय महिला टीम को रविवार को ब्रिस्टल में 1-0 से हारने के बाद,इंग्लैंड के खिलाफ तीन मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला बचानी है तो भारत को एक गेंदबाज़ी इकाई के रूप में "अधिक जिम्मेदारी लेने की जरूरत है।"
8 विकेट पर 201 से नीचे का स्कोर करने के बाद, भारत को इंग्लैंड के सामने आठ विकेट से हार का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड की टीम ने 15 ओवर पहले ही लक्ष्य को प्राप्त कर लिया। जहां इंग्लैंड के चौतरफा तेज आक्रमण ने भारतीय टीम को नियंत्रण में रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, वहीं गोस्वामी भारतीय गेंदबाज़ी विभाग से विकेट लेने वाले एकमात्र तेज गेंदबाज़ थी।
गोस्वामी ने कहा कि परिस्थितियां तेज गेंदबाज़ों के लिए मददगार थी लेकिन शिखा पांडे और पूजा वस्त्रकर का प्रदर्शन निराशाजनक था जो भारत के हार का प्रमुख कारण भी बना।। हालांकि उन्हें "पूर्ण विश्वास" है कि दोनों खिलाड़ी "थोड़ा समय" दिए जाने पर वापसी करेंगे।
पांडे लगभग 18 महीनों के बाद एकदिवसीय मैच खेल रही थी और अब इंग्लैंड में दो मैचों (एक टेस्ट और एक वनडे) में फेंके गए अपने 20 ओवरों में एक भी विकेट प्राप्त करने में विफल रही हैं। ऑलराउंडर वस्त्राकर भी ब्रिस्टल में पहले मैच से पहले अप्रैल 2018 में आखिरी बार एकदिवसीय मैच खेलने के बाद वापसी कर रही थी।
गोस्वामी ने मंगलवार को दूसरे वनडे की पूर्व संध्या पर कहा, "हमारे दोनों मध्यम तेज गेंदबाज़ - शिखा पांडे, पूजा वस्त्रकर के अलावा हमारे पास दो और तेज गेंदबाज़ हैं, वे सभी अच्छे क्रिकेटर हैं।"
"इस समय, शिखा एक ब्रेक से वापस आ रही है, वह हमारी पिछली श्रृंखला में टीम का हिस्सा नहीं थी। पूजा लंबे समय के बाद खेल रही है। उन्हें थोड़ा समय चाहिए, और वे अच्छा करेंगे। उन्होंने पहले ही साबित कर दिया है कि वे गुणवत्ता वाली गेंदबाज़ हैं। उन्होंने भारत के लिए अकेले दम पर कई मैच जिताए हैं।
"जब आप लंबे अंतराल के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर रहे हैं तो यह आपकी तकनीकी क्षमताओं के बारे में नहीं है लेकिन यह तय है कि आप पर दबाव होगा। यह आप पर है कि इसे कैसे संभालते हैं। मुझे हमारी गेंदबाज़ी लाइन-अप पर बहुत भरोसा है।"
भारत ने पहले वनडे में तीन तेज गेंदबाज़ों और दो स्पिनरों को चुना लेकिन दूसरे वनडे की टीम के लिए पुनर्विचार कर रहे होंगे। गोस्वामी ने कहा कि मुझे लगता है कि "एक गेंदबाज़ी इकाई के रूप में मजबूती से वापस आने की जरूरत है" और इंग्लैंड में आगामी मैच जीतने के लिए व्यक्तिगत प्रदर्शन को नहीं देखना चाहिए।
187 एकदिवसीय मैचों में 234 विकेट लेने वाले गोस्वामी ने कहा, "बोर्ड पर जो भी स्कोर है, हमें एक इकाई के रूप में वापस आने की जरूरत है। यह किसी एक खिलाड़ी के बारे में नहीं है।" "हमें अभी भी बोलिंग यूनिट के रूप में काफी कमजोर हैं। हमने बहुत सी चीजों पर चर्चा की है, उम्मीद है कि हम इसे सुलझा लेंगे और हम दृढ़ता से वापस आएंगे। आपको इन गेंदबाज़ों पर विश्वास करना होगा, वे आपके सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ हैं, उनके पास क्षमता है। उन्होंने अतीत में अच्छा प्रदर्शन किया है, वे लंबे वक्त के बाद वापस आ रहे हैं। हम मजबूती से वापसी करेंगे।
"और एक गेंदबाज़ी इकाई के रूप में, हमें अधिक जिम्मेदारी लेने और मैदान पर प्रदर्शन करने की आवश्यकता है। एक टीम के रूप में हमें आगामी मैच जीतने के लिए अच्छा प्रदर्शन करने की आवश्यकता है।"
एक अच्छा स्कोर नहीं खड़ा करने और अपने डॉट-बॉल प्रतिशत को कम करने में भारत की अक्षमता ने भी ब्रिस्टल में काफी नुकसान पहुंचाया। जबकि राज की 108 गेंदों में 72 रन उन्हें 200 के पार पहुंचाने के लिए महत्वपूर्ण थे।
गोस्वामी का मानना ​​​​है कि मध्य क्रम के बल्लेबाज़ों के लिए भी बस कुछ समय और एक अच्छी पारी की बात है। उसके बाद वो बढ़िया प्रदर्शन करेंगे।
गोस्वामी ने कहा, "यह शेफ़ाली वर्मा के लिए सिर्फ पहला मैच था। आप उससे बहुत ज्यादा उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि उसका हालिया समय में प्रदर्शन काफी बढ़िया रहा है।" " पूनम राउत के पास काफी अनुभव है। मिताली कई सालों से खेल रही है और बढ़िया प्रदर्शन कर रही हैं। पूनम ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ श्रृंखला में बहुत अच्छी बल्लेबाज़ी की थी।हम जानते हैं कि हरमन किस तरीके की बल्लेबाज़ है। उन्हें सिर्फ एक अच्छी पारी की जरूरत है। अगर हमें शीर्ष क्रम से कुछ रन मिलते हैं, तो हम बेहतर स्थिति में होंगे।"

अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफो हिंदी में सब एडिटर राजन राज ने किया है।