मैच (12)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
RHF Trophy (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
फ़ीचर्स

लंबे समय तक ज़हन में ताज़ा रहेगी ब्रेविस की यह तूफ़ानी पारी

इस सीज़न जलवा बिखरने वाले युवा बल्लेबाज़ों ने अपने प्रदर्शन से काफ़ी प्रभावित किया है

धुआंधार अंदाज़ में बल्लेबाज़ी करते ब्रेविस  •  BCCI

धुआंधार अंदाज़ में बल्लेबाज़ी करते ब्रेविस  •  BCCI

आईपीएल के मैच आते-जाते रहते हैं। हम उनमें से कुछ को लंबे समय तक याद रखते हैं जबकि कुछ अगली सुबह उठते ही धुंधली हो जाती हैं।
मुंबई इंडियंस और पंजाब किंग्स के बीच बुधवार का मुक़ाबला शायद जल्द ही हमारी याददाश्त से दूर हो जाएगा। लेकिन राहुल चाहर से भिड़ने वाले डेवाल्ड ब्रेविस की धुआंधार पारी की याद लंबे समय तक ज़हन में ताज़ा रहेगी। जसप्रीत बुमराह द्वारा शानदार 15वां ओवर करने के तुरंत बाद जितेश शर्मा ने किंग्स के पक्ष में खेल को वापस घूमा दिया। जब भी क्रिकेट बिरादरी जितेश वर्मा की चर्चा करेगी तो वह चर्चा बिना इस पारी के ज़िक्र के पूरी नहीं हो पाएगी। वहीं जिस तरह से तिलक वर्मा ने अपने पहले आईपीएल सीज़न में एक बार फिर से साहस और संयम दिखाया, वह न केवल मुंबई इडियंस के खेमे को खुश करेगा बल्कि राष्ट्रीय चयनकर्ता भी इस बल्लेबाज़ी की प्रगति पर नज़र बनाए रखेंगे।
10 टीमों वाले आईपीएल की सुंदरता सर्वविदित है: यह न केवल प्रतिभाओं के प्रसार में बड़ी भूमिका अदा करता है, बल्कि यह कई और खिलाड़ियों, विशेष रूप से नए लोगों को भी अवसर प्रदान करता है। विपक्षी टीमों के ख़िलाफ़ आकर्षक और आक्रमक पारियां खेलकर कुछ युवा बल्लेबाज़ों ने इन अवसरों को बखूबी भुनाया है।
18 साल और 350 दिनों में ब्रेविस, इस आईपीएल में अब तक प्लेइंग इलेवन में शामिल होने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी हैं। अंडर -19 विश्व कप में उनकी बल्लेबाज़ी तकनीक और बोल्डनेस से प्रभावित होकर मुंबई इंडियंस ने जब फ़रवरी में नीलामी में ब्रेविस को चुना, तो दक्षिण अफ्रीकी युवा को ख़ुद विश्वास नहीं हुआ। उन्हें बिजनेस क्लास में सफ़र कराया गया था और उनकी यात्रा को फ्रैंचाइज़ी द्वारा एक वीडियो ब्लॉग द्वारा साझा भी किया गया था। ब्रेविस का सीधे आईपीएल जीवन से परिचित कराया गया था। यह क्रिकेट के बारे में भी था, लेकिन अपने आराम क्षेत्र से बाहर की चीजों को करने के बारे में भी था। ब्रेविस ने भी चुनौती को स्वीकार करने में संकोच नहीं किया, जिसका पूरा श्रेय उनको जाता है।
हालांकि ब्रेविस, जो "बेबी एबी" के उपनाम के साथ आए थे, वह बुधवार तक आईपीएल में वह कुछ ख़ास कमाल दिखा पाने में नाकाम रहे थे। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ खेले गिए पिछले मुक़ाबले में ब्रेविस आठ रन के निजी स्कोर पर हसरंगा का शिकार बन गए थे। जब वह किंग्स के ख़िलाफ़ बल्लेबाज़ी के लिए मैदान में दाख़िल हुए थे, तब मुंबई की सलामी जोड़ी चार गेंदों के अंतराल में ही पवेलियन लौट गयी थी।
ब्रेविस को लगा कि वह सिर्फ अपना बल्ला स्विंग कर सकते हैं और गेंद उड़ जाएगी। पहली आठ गेंदों का सामना करने के बाद भी वह खाता नहीं खोल सके। वह गेंदबाज़ों पर आक्रमण कर रहे थे, लेकिन जल्द ही वह शांत हो गए। अर्शदीप सिंह ने लेंथ से दूर एक छोटी गेंद को कोण बनाकर फेंका और ब्रेविस ने अपने पहले चौके के लिए उसे कट कर दिया। अगली गेंद पर एक और चौका लगा। अगले ओवर में, ओडीन स्मिथ की एक छोटी गेंद का जवाब देते हुए, ब्रेविस ने डीप स्क्वायर लेग पर अपना पहला छक्का लगा दिया।
अंडर-19 विश्व कप में ब्रेविस की ताकत स्पिन के ख़िलाफ़ उनकी बल्लेबाज़ी थी। चाहर जब गेंदबाज़ी करने आए तो मुंबई को आख़िरी 12 ओवर में 136 रन चाहिए थे। चाहर की पहली गेंद का ही सामना करते हुए ब्रेविस ने उस पर चौका जड़ दिया। इसके बाद ब्रेविस चाहर पर टूट पड़े। अगली चार गेंदों पर उन्होंने लगातार चार छक्के जड़ दिए थे। ब्रेविस ने चाहर की गेंद पर 112 मीटर लंबा एक छक्का भी लगाया। ब्रेविस की आक्रामक बल्लेबाज़ी जब चल रही थी, तब मुंबई इंडियंस की जीतने की संभावना भी 13.3 प्रतिशत से बढ़कर 48.5 फ़ीसदी हो गयी थी। चाहर की सिर्फ़ पांच गेंदों पर ब्रेविस ने मैच का पासा पलट दिया था।
ब्रेविस और तिलक वर्मा इस आईपीएल में किंग्स के बल्लेबाज़ों की तरह हर डिलीवरी पर उत्साह के साथ खेल रहे थे। चाहर का ओवर समाप्त होने के बाद टाइम आउट ले लिया गया। टाइम आउट के बाद गेंदबाज़ी वैभव अरोड़ा को सौंपी गयी। लेकिन वैभव अरोड़ा की छोटी गेद पर तिलक वर्मा ने उसे पुल कर दिया और गेंद बल्ले का ऊपरी किनारा लेकर विकेटकीपर के सिर के ऊपर से चौके के लिए चली गयी। ओडीन स्मिथ ने जब ऑफ़ स्टंप के बाहर छोटी गेंद की, तिलक वर्मा ने उसे भी छलांग लगाते हुए डीप प्वाइंट के ऊपर से छक्के के लिए भेज दिया। ब्रेविस और तिलक वर्मा निश्चित तौर पर निराश होंगे की टीम को खेल में वापस लाने के बावजूद उनकी टीम लड़खड़ा गयी। लेकिन कप्तान और टीम का स्टाफ़ निसंदेह उनके इस प्रदर्शन पर ध्यान देंगे।
ब्रेविस और तिलक के अलावा, पंजाब की पारी को एक अच्छे स्कोर तक पहुंचाने में कैटेलिस्ट की भूमिका अदा करने के लिए जितेश को टीम मैनेजमेंट की ओर से आभार व्यक्त किया जाएगा। एक समय ऐसा लगा कि पंजाब किंग्स की पारी अचानक रुक गयी है। 15वें ओवर के अंत में, किंग्स ने 3 विकेट पर 132 रन बनाए थे, बुमराह ने 143 किमी प्रति घंटे की यॉर्कर सहित टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ ओवरों में से एक ओवर फेंका था। लेकिन जितेश ने साबित कर दिया कि कुछ गेंदों में एक पारी कैसे बदल सकती है। उन्होंने जयदेव उनादकट के ओवर में तीन छक्कों सहित 23 रन बना डाले।
ब्रेविस, तिलक वर्मा और जितेश इस आईपीएल में कुछ अज्ञात युवा बल्लेबाज़ों में से हैं और उन्होंने पहले ही दिखा दिया है कि वह आईपीएल को भली भांति जानते हैं। मंगलवार की शाम को, गोवा के एक अज्ञात बल्लेबाज़ सुयश प्रभुदेसाई की छोटी मगर उपयोगी पारी ने सीएसके को परेशान कर दिया था। आयुष बदोनी, अनुज रावत और अभिनव मनोहर कुछ अन्य बल्लेबाज़ हैं, जिन्होंने दिखाया है कि वह बिना किसी कठिनाई के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ों का सामना कर सकते हैं। हम अभी तक 2022 के आईपीएल के आधे चरण में भी नहीं पहुंचे हैं, लेकिन इस सीज़न ने दिखाया है कि कैसे युवा, उज्ज्वल प्रतिभाओं ने टीम में अपने अनुभवी सीनियर्स को पछाड़ दिया है।

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।