मैच (10)
साउथ अफ़्रीका त्रिकोणीय सीरीज़ (1)
एसए20 (1)
आईएलटी20 (1)
बीबीएल (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
ख़बरें

लेथम: हम बस ज़रूरी रन रेट को आठ से नीचे रखना चाह रहे थे

भारतीय गेंदबाज़ों की ग़लत रणनीति का लेथम ने जम कर फ़ायदा उठाया

भारत के ख़िलाफ़ लेथम ने 104 गेंदों में 145 रनों की धाकड़ पारी खेली  •  Getty Images

भारत के ख़िलाफ़ लेथम ने 104 गेंदों में 145 रनों की धाकड़ पारी खेली  •  Getty Images

भारत के ख़िलाफ़ 307 रनों का पीछा करते हुए न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ टॉम लेथम ने शार्दुल ठाकुर के द्वारा फेंके गए एक ओवर में मैच को पूरी तरह से बदल कर रख दिया। दूसरी पारी में 39 ओवर की समाप्ति के बाद मेज़बान टीम को 66 गेंदों में 91 रनों की ज़रूरत थी। 40वें ओवर में शिखर धवन ने शार्दुल ठाकुर को गेंद थमाई और उन्होंने इस ओवर में कुल 25 रन दिए। यहीं से मैच पूरी तरह से न्यूज़ीलैंड की तरफ़ झुक गया। लेथम ने इस ओवर में चार चौके और एक सिक्सर लगाया।
न्यूज़ीलैंड की तरफ़ से सबसे ज़्यादा रन टॉम लेथम ने बनाए। उन्होंने 104 गेंदों में 145 रनों की धाकड़ पारी खेली। सिर्फ़ 76 गेंदों में उन्होंने अपना शतक पूरा कर लिया था। मैच के बाद उन्होंने शार्दुल के उस ओवर के बारे में कहा कि ऐसा नहीं है कि उस ओवर में वह पहले से ही मन बना कर मार रहे थे। वह बस गेंद की लाइन और लेंथ के हिसाब से अपना शॉट लगा रहे थे।
लेथम ने ब्रॉडकास्टर से कहा, 'मैं सिर्फ़ ठीक उसी तरह की बल्लेबाज़ी कर रहा था, जैसी गेंद फेंकी जा रही थी। ऐसा नहीं है कि उस ओवर में हमने पहले से ही ज़्यादा रन बटोरने का मन बना लिया था। जब शॉर्ट पिच गेंद फेंकी जा रही थी तो मैं गति का प्रयोग करते हुए छोटी लंबाई वाली बाउंड्री की तरफ़ शॉट लगा रहा था। मैं बस गेंद हिसाब से शॉट लगाने का प्रयास कर रहा था और इसका मुझे अच्छा परिणाम मिला।"
भारतीय कप्तान शिखर धवन ने भी कहा कि उनके गेंदबाज़ों ने टॉम लेथम के ख़िलाफ़ काफ़ी "शॉर्ट गेंदें" डाली, यही वो ग़लती थी, जिसका फ़ायदा उठाते हुए लेथम ने काफ़ी रन बटोरे। एक ऐसा मैदान जहां स्क्वेयर बाउंड्री और सीधी बाउंड्री थीं, वहां लेथम को बहुत सारी छोटी गेंदें खिलाई गईं और उन्होंने स्क्वेयर बाउंड्री की तरफ़ काफ़ी शॉट लगाए। उन्होंने इस क्षेत्र में अपने 145 में से 95 रन बनाए। इसी क्षेत्र में उन्होंने पांच सिक्सर और 12 चौके लगाए।
भारत के ख़िलाफ़ हमेशा से लेथम का रिकॉर्ड काफ़ी अच्छा रहा है। भारतीय टीम के विरूद्ध वह 65 के औसत से रन बनाते है। साथ ही इस दौरान उन्होंंने पांच अर्धशतक और दो शतक भी लगाए हैं। किसी भी टीम के ख़िलाफ़ (कम से कम पांच पारी) लेथम का यह सबसे बढ़िया रिकॉर्ड है।
इस मैच में लेथम और केन विलियमसन के बीच रिकॉर्ड 221 रनों की साझेदारी हुई। यह तीसरा बार था जब 200 से ज़्यादा रनों की पार्टनरशिप में शामिल थे। यह रिकॉर्ड किसी भी अन्य न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ के खाते में नहीं है।
लेथम ने कहा कि उनका और विलियमसन का उद्देश्य यह था किसी भी तरीक़े से ज़रूरी रन रेट को आठ से कम रखा जाए।
उन्होंने कहा, " मुझे बस यह कोशिश करनी थी कि ख़ुद को पिच पर व्यस्त रखा जाए। मैं गेंद को गैप में मार कर रन बटोरना चाह रहा था। साथ ही यह कोशिश थी कि ज़रूरी रन रेट को सात या आठ के आस-पास रखा जाए। मैंने और विलियमसन यह बात कि अगर हम ज़रूरी रन रेट को आठ से नीचे रखते हैं तो हमारे पास जीतने का एक मौक़ा रहेगा।"

विशाल दीक्षित ESPNcricinfo के अस्सिटेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के राजन राज ने किया है।