मैच (16)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (2)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
ख़बरें

विलियमसन : गप्टिल की कमी खलेगी लेकिन उन्होंने अभी संन्यास नहीं लिया है

कप्तान ने न्यूज़ीलैंड क्रिकेटरों द्वारा फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट को तरजीह देने पर अपनी राय रखी

Martin Guptill and Kane Williamson walk off after securing a ten-wicket win,  New Zealand v Pakistan, 2nd T20I, Hamilton, January 17, 2016

गप्टिल को टी20 विश्व कप में एक भी मैच खेलने का मौक़ा नहीं मिला  •  Getty Images

सलामी बल्लेबाज़ मार्टिन गप्टिल द्वारा केंद्रीय अनुबंध को न स्वीकारने और न्यूज़ीलैंड क्रिकेट द्वारा गप्टिल को अनुबंध से मुक्त किए जाने के फ़ैसले पर न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा है कि टीम को गप्टिल की काफ़ी कमी खलेगी। 36 वर्षीय गप्टिल, एक ऐसे समूह का हिस्सा हैं जो देश से बाहर अपने लिए अवसर तलाश रहा है।
मौजूदा समय में साल के हर महीने में फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट का आयोजन हो रहा है जो खिलाड़ियों को आकर्षित राशि भी मुहैया करा रहा है। ऐसे में ट्रेंट बोल्ट, जिमी नीशम और कॉलिन डि ग्रैंडहोम ने उसी ओर जाने का फ़ैसला किया। विलियमसन ने कहा, "ज़ाहिर तौर पर उन्होंने (गप्टिल ने) अन्य विकल्प तलाशने का निर्णय लिया है। लेकिन एक खिलाड़ी और टीम के अनुभवी सदस्य होने के नाते उन्होंने काफ़ी योगदान दिया और इसके साथ ही वह सफ़ेद गेंदों के हमारे सबसे बड़े क्रिकेटरों में से एक रहे।"
सफ़ेद गेंद क्रिकेट में 10,000 से अधिक रन बनाने वाले गप्टिल ने न्यूज़ीलैंड की सफलता में बड़ी भूमिकाएं अदा की। लेकिन पहले उन्हें टी20 विश्व कप में एक भी मैच में खेलने का मौक़ा नहीं दिया गया और इसके बाद न्यूज़ीलैंड में जारी सीरीज़ में भी उनका चयन नहीं किया गया।
ऐसा माना जा रहा है कि गप्टिल दिसंबर में शुरू होने वाले बीबीएल में खेल सकते हैं। इसके साथ ही यूएई में होने वाली आईएल20 लीग में भी वह माय एमिरेट्स का हिस्सा हो सकते हैं। डि ग्रैंडहोम भी संन्यास ले चुके हैं जबकि चार खिलाड़ियों में नीशम ही इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं जो शुक्रवार को भारत के विरुद्ध भिड़ने की तैयारी करने वाले दल का हिस्सा हैं।
न्यूज़ीलैंड क्रिकेट पहले ही इस बात पर ज़ोर दे चुका है कि वह टीम का चयन करने के क्रम में ऐसे खिलाड़ियों को तरजीह देगा जो केंद्रीय अनुबंधों की सूची का हिस्सा हैं। हालांकि विलियमसन का मानना है कि एक ऐसा बीच का रास्ता निकालना चाहिए जहां खिलाड़ी और टीम दोनों का फ़ायदा हो।
विलियमसन ने कहा, "गप्टिल रिटायर नहीं हुए हैं। वह उपलब्ध हैं लेकिन अन्य टूर्नामेंट में अपने विकल्प तलाश रहे हैं। वह अभी भी लगातार बेहतर करने के लिए उत्साहित हैं। मुझे लगता है कि यह आग सभी खिलाड़ियों के भीतर होनी चाहिए। एक खिलाड़ी के तौर पर आपको कई उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ता है। उन्हें खेलने का मौक़ा नहीं मिला लेकिन इसके बावजूद वह अन्य खिलाड़ियों की मदद करने के लिए तत्पर दिखे। इसलिए अब उनकी कमी तो खलेगी लेकिन जैसा मैंने कहा कि वह अभी रिटायर नहीं हुए हैं।"
विलियमसन भी कुछ इसी तरह के सवालों का सामना कर रहे हैं कि उन्हें तीनों प्रारूप में खेलना और न्यूज़ीलैंड की अगुआई करनी चाहिए या नहीं? लेकिन पिछले सप्ताह ही उन्होंने इस बात पर ज़ोर दिया था कि वह इसे आगे जारी रखना चाहते हैं।