मैच (5)
West Indies v India T20I Series (1)
राष्ट्रमंडल खेल (2)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
ख़बरें

रणजी ट्रॉफ़ी 2021-22 पहला राउंड : डेब्यू पर दो शतक जड़ने वाले तीसरे भारतीय बने यश ढुल

वहीं 31 रन की साझेदारी करते हुए उनादकट और साकरिया ने सौराष्ट्र के लिए मैच बचाया

Yash Dhull made a century on Ranji Trophy debut for Delhi, Delhi vs Tamil Nadu, 1st day, Ranji Trophy 2021-22, Guwahati, February 17, 2022

यश ढुल ने प्रथम श्रेणी डेब्यू पर दो शतक जड़े  •  PTI

रविवार को कुछ रोमांचक मुक़ाबलों के साथ रणजी ट्रॉफ़ी 2021-22 का पहला राउंड समाप्त हुआ। आइए नज़र डालते हैं सभी मुक़ाबलों पर। सभी स्कोरकार्ड तथा अंक तालिका आपको यहां मिल जाएगी

एलीट ग्रुप ए

195 रनों का पीछा कर रही गुजरात को मध्य प्रदेश ने 88 पर समेटकर इस सीज़न अपनी पहली जीत दर्ज की। जीत के नायक रहे बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ कुमार कार्तिकेय जिन्होंने चौथी पारी में पांच विकेट झटके। चिंतन गाजा के छह विकेटों की मदद से गुजरात ने मध्य प्रदेश को सुबह 251 रनों पर ऑल आउट कर दिया था। हालांकि बल्लेबाज़ों ने गुजरात को निराश किया और करण पटेल के अलावा कोई भी बल्लेबाज़ 20 का आंकड़ा पार नहीं कर पाया। इस जीत के साथ मध्य प्रदेश ग्रुप ए की अंक तालिका में दूसरे स्थान पर पहुंच गया है। मेघालय को पारी से हराने के बाद केरला शीर्ष स्थान पर विराजमान है।

एलीट ग्रुप बी

पहली पारी में 88 रनों पर सिमटने के बाद बंगाल के बल्लेबाज़ों ने शानदार वापसी की और चौथे दिन बड़ौदा के ख़िलाफ़ 349 रनों के लक्ष्य को हासिल कर लिया। कटक में सलामी बल्लेबाज़ अभिमन्यु ईश्वरन ने तीसरे दिन 79 रन बनाकर टीम को अच्छी शुरुआत दी थी जिसके बाद चौथे दिन शाहबाज़ अहमद और युवा अभिषेक पोरेल की नाबाद शतकीय साझेदारी से टीम ने जीत दर्ज की। शाहबाज़ ने नाबाद 71 रन बनाए जबकि डेब्यू कर रहे अभिषेक ने अपना पहला अर्धशतक जड़ा।
ग्रुप बी के दूसरे मुक़ाबले में रवि तेजा ने चंडीगढ़ के बल्लेबाज़ी क्रम को धराशाई करते हुए हैदराबाद को 217 रनों की बड़ी जीत दिलाई। हैदराबाद ने तीसरे दिन चंडीगढ़ को जीत के लिए 401 रनों का लक्ष्य दिया था। इसके बाद चौथे दिन तेजा चंडीगढ़ पर भारी पड़े और उन्होंने दूसरी पारी में छह शिकार किए। कुल मिलाकर इस मैच में उन्होंने नौ सफलताएं अर्जित की। चंडीगढ़ के लिए सलामी बल्लेबाज़ अर्सलान ख़ान ने 68 रन बनाए जबकि अंडर-19 विश्व कप के फ़ाइनल में प्लेयर ऑफ़ द मैच रहे राज बावा 35 रन बनाकर नाबाद रहे।

एलीट ग्रुप सी

जम्मू कश्मीर ने पुडुचेरी के ख़िलाफ़ आठ विकेट की जीत के साथ अपने अभियान की शुरुआत की। ऑफ़ स्पिनर परवेज़ रसूल की घातक गेंदबाज़ी ने पुडुचेरी को 113 पर नौ विकेट की स्थिति में ला खड़ा किया था। अंतिम विकेट लेते हुए इस मैच में रसूल ने कुल 10 शिकार किए। जम्मू कश्मीर को जीत के लिए केवल 42 रनों की ज़रूरत थी और उन्होंने आसानी से इस लक्ष्य को हासिल किया।
कर्नाटका और रेल्वेज़ के बीच मुक़ाबला ड्रॉ रहा और अब जम्मू कश्मीर अंक तालिका में पहले स्थान पर पहुंच गया है। कर्नाटका ने नौ विकेट पर 223 रन बनाने के बाद अपनी पारी घोषित की और जीत के लिए रेल्वेज़ को 279 रनों का लक्ष्य दिया। एक समय 26 रनों पर तीन विकेट गंवाने के बाद रेल्वेज़ ने वापसी की और खेल समाप्त होने तक उन्होंने चार विकेट गंवाने के बाद 69 रन बना लिए थे। .

एलीट ग्रुप डी

बाएं हाथ के स्पिनर शम्स मुलानी के सात विकेटों ने मुंबई को सौराष्ट्र के ख़िलाफ़ जीत के बहुत क़रीब ला खड़ा किया था। हालांकि जयदेव उनादकट (32 नाबाद) और चेतन साकरिया (10 नाबाद) ने 17.2 ओवरों तक बल्लेबाज़ी की और मुंबई की जीत की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। फ़ॉलो ऑन करते हुए सलामी जोड़ी ने 163 रन बनाकर टीम को अच्छी शुरुआत दी लेकिन वह लगातार ओवरों में आउट हुए। चेतेश्वर पुजारा ने आक्रामक अंदाज़ से बल्लेबाज़ी करते हुए 16 चौके और एक छक्के की मदद से 91 रन बनाए। इसके बावजूद मैच बचाने के लिए सौराष्ट्र को अंतिम जोड़ी से महत्वपूर्ण साझेदारी की ज़रूरत पड़ी। पहली पारी में 275 रन बनाने वाले सरफ़राज़ ख़ान को प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया।
ग्रुप के अन्य मुक़ाबले में ओडिशा ने गोवा के ख़िलाफ़ मैच को ड्रॉ करवाया। सलामी बल्लेबाज़ शांतनु मिश्रा के शतक और विकेटकीपर राजेश धूपर के अर्धशतक की बदौलत सात विकेट गंवाते हुए ओडिशा ने मैच को बचाया।

एलीट ग्रुप ई

133 रनों का पीछा करते हुए उत्तराखंड ने मात्र नौ ओवरों में बचे हुए 39 रन बनाकर सर्विसेज़ के ख़िलाफ़ नौ विकेटों से आसान जीत दर्ज की। जय बिस्ता ने नाबाद 87 रन बनाए। पहली पारी में 68 रन बनाने के बाद पांच विकेट लेने वाले दिक्षांशु नेगी को प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया।
आंध्रा ने चौथे दिन 25 ओवरों के भीतर अपने अंतिम छह विकेट गंवाने और राजस्थान ने इस ग्रुप के दूसरे मैच में 158 रनों की बड़ी जीत दर्ज की। 368 के लक्ष्य का पीछा करते हुए आंध्रा की पारी 209 रनों पर सिमट गई। शुभम शर्मा ने चार जबकि अनिकेत चौधरी ने तीन विकेट लिए। for 209.

एलीट ग्रुप एफ़

इस ग्रुप के दोनों मुक़ाबले ड्रॉ रहे। हरियाणा के 556 रनों के जवाब में त्रिपुरा ने 436 रन बनाए। दूसरी पारी में हरियाणा ने 20 ओवर बल्लेबाज़ी की जिसके बाद दोनों कप्तानों ने हाथ मिलाए और मैच को समाप्त किया। बिशाल घोष और समित गोहेल के बीच 222 रनों की साझेदारी हुई लेकिन जयंत यादव के छह विकेटों ने सुनिश्चित किया कि पहली पारी की बढ़त और तीन अंक हरियाणा के पक्ष में जाए।
अरुण जेटली स्टेडियम में हिमाचल प्रदेश के आकाश वशिष्ठ ने अंतिम दिन 140 रन बनाए लेकिन पंजाब के ख़िलाफ़ उनका मैच ड्रॉ रहा। हिमाचल के 354 रनों के जबाव में पंजाब ने पहली पारी में 526 रन बनाए और 172 रनों की बड़ी बढ़त ली। टीम के पास जीत दर्ज करने का अच्छा मौक़ा था। हालांकि हिमाचल ने 118 ओवर बल्लेबाज़ी करते हुए आठ विकेट के नुक़सान पर 402 रन बनाए और मैच को बचाया।

एलीट ग्रुप जी

रिंकू सिंह (62 नाबाद) और सौरभ कुमार (81 नाबाद) ने उत्तर प्रदेश को मुश्किल स्थिति से बाहर निकालते हुए विदर्भ के ख़िलाफ़ मैच को ड्रॉ करवाया। पहली पारी में 247 रनों से पीछे होने के बाद अंतिम दिन छह विकेट गंवाने के बाद उत्तर प्रदेश का स्कोर 126 रन था। इसके बाद सातवीं विकेट के लिए इस जोड़ी ने नाबाद 154 रन जोड़े और विदर्भ के गेंदबाज़ों को थकाया।
महाराष्ट्र के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ सत्यजीत बच्चव ने मैच में कुल सात विकेट लेकर टीम को असम के ख़िलाफ़ एक पारी और सात रनों से जीत दिलाई। असम के लिए रियान पराग ने 56 रन बनाए लेकिन दूसरी पारी में असम केवल 160 रन बनाकर ऑलआउट हो गई।

एलीट ग्रुप एच

दिल्ली के यश ढुल प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अपने पहले ही मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने वाले तीसरे भारतीय विश्व के केवल नौवें बल्लेबाज़ बन गए। तमिलनाडु के ख़िलाफ़ पहली पारी में 113 रन बनाने वाले यश ने दूसरी पारी में नाबाद 113 रन बनाए और पहली विकेट के लिए ध्रुव शोरी के साथ 228 रनों की साझेदारी निभाई। तमिलनाडु (तीन अंक) और दिल्ली (एक अंक) अंक तालिका में छत्तीसगढ़ से पीछे है जिन्होंने तीसरे दिन झारखंड को आठ विकेट से मात दी थी।

प्लेट ग्रुप

सिक्किम को दूसरी पारी में 283 रनों पर रोकने के बाद नागालैंड ने चार विकेट गंवाते हुए 174 रनों का लक्ष्य हासिल किया। श्रीकांत मुंढे ने अर्धशतक लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पहली पारी में 115 रन बनाने के बाद मैच में कुल आठ कैच लेने वाले चेतन बिष्ट को प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया।
पहली पारी में साकिबुल घनी का तिहरा शतक बिहार को जीत नहीं दिला सका। फ़ॉलो ऑन करते हुए दूसरी पारी में मिज़ोरम ने केवल चार विकेट गंवाए और मैच से एक अंक प्राप्त किया। तरुवर कोहली ने एक छोर को संभालते हुए नाबाद शतक जड़ा जबकि उदय कौल ने 56 रन बनाए। पहली पारी में बढ़त लेने के आधार पर बिहार को तीन अंक मिले। तीसरे दिन अरुणाचल प्रदेश को हराने के बाद मणिपुर प्लेट ग्रुप के शीर्ष स्थान पर बनी हई है।

श्रेष्ठ शाह (@sreshthx) ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।