मैच (13)
IND v SA [W] (1)
T20 वर्ल्ड कप (3)
CE Cup (3)
T20 Blast (6)
ख़बरें

सैमसन : 'मध्‍य ओवरों में स्पिन के ख़‍िलाफ़ हमारे पास विकल्‍प कम थे'

संगकारा ने भी कहा कि RR को लक्ष्‍य का पीछा करते हुए और बेहतर होना पड़ेगा

सनराइज़र्स हैदराबाद (SRH) के बाएं हाथ के उंगलियों के स्पिनरों के ख़‍िलाफ़ सूखी चेपॉक पिच पर सक्रिय बल्लेबाज़ी दृष्टिकोण की कमी के चलते और दूसरी पारी में धीमे गेंदबाज़ों को मिली मदद ने राजस्थान रॉयल्स (RR) को IPL 2024 के फ़ाइनल में जगह बनाने से बाहर कर दिया। यह उनके कप्‍तान संजू सैमसन का सोचना है जहां उनकी टीम ने शुक्रवार को चेन्‍नई में हुए दूसरे क्‍वा‍ल‍िफ़ायर में 176 रनों का पीछा करते हुए सात विकेट पर 139 रन ही बनाए।
सैमसन ने मैच के बाद कहाा, "मुझे लगता है कि हमारे पास मध्‍य ओवरों में स्पिन के ख़‍िलाफ़ विकल्‍पों की कमी थी और मुझे लगता है कि यहीं पर हम मैच हार गए। बाएं हाथ के स्पिनरों के ख़‍िलाफ़ हमारे पास मध्‍य ओवरों में तीन-चार दाएं हाथ के बल्‍लेबाज़ थे और गेंद रूककर आ रही थी, लेकिन हमें कुछ और विकल्‍प जैसे रिवर्स स्‍वीप खेलना था या क्रीज़ का बेहतर ढंग से इस्‍तेमाल करना था और उन्‍होंने वाकई बहुत अच्‍छी गेंदबाज़ी की।"
"यह पता लगाना वाकई बड़ा कठिन है कि कब हम चेन्‍नई में ओस की उम्‍मीद कर सकते हैं और कब नहीं। तो दूसरी पारी में विकेट ने अलग तरह का बर्ताव करना शुरू कर दिया। गेंद टर्न लेने लगी थी। उन्‍होंने इसका फ़ायदा उठाया और मध्‍य ओवरों में हमारे दाहिने हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ख़‍िलाफ़ स्पिनरों को लगा दिया और यहीं पर वह हमारे ख़‍िलाफ़ आगे निकल गए।"
मेज़बान ब्रॉडकास्‍टर के अनुसार चेपॉक की पिच पर पहली पारी में औसतन 1.8 डिग्री की टर्न हुई लेकिन दूसरी पारी में यह 3.3 डिग्री तक चली गई। SRH ने इस मैच के लिए अपने स्पिनरों विजयकांत वियसकांत और मयंक मारकंडे को नहीं खिलाया लेकिन गेंदबाज़ी से अधिक बल्‍लेबाज़ी के लिए इम्‍पैक्‍ट प्‍लेयर के तौर पर शामिल किए गए शाहबाज़ अहमद और अभिषेक शर्मा ने मिलकर आठ ओवर किए जिसमें उन्‍होंने 47 रन देते हुए पांच विकेट निकाल लिए। ऐडन मारक्रम ने केवल एक ओवर किया लेकिन उनको भी अधिक टर्न मिली।
यशस्‍वी जायसवाल ने शाहबाज़ की पहली ही गेंद का सामना करते हुए रिवर्स स्‍वीप लगाई लेकिन इसी ओवर में वह 21 गेंद में 42 रन बनाकर आउट हो गए। SRH ने इसके बाद दाहिने हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ख़‍िलाफ़ अपने बाएं हाथ के स्पिनरों को लगा दिया जिसने RR की मुश्किलें बढ़ा दी। टीम के डायरेक्‍टर ऑफ़ क्रिकेट कुमार संगकारा ने भी सैमसन की बात में बात मिलाकर कहा कि बल्‍लेबाज़ों को और अधिक इरादा दिखाना चाहिए था और शाहबाज़ और अभिषेक की लाइन और लेंथ बिगाड़ने के लिए अधिक रिस्‍क लेना चाहिए था।
संगकारा ने मैच के बाद पत्रकार वार्ता में कहा, "मुझे लगता है कि लक्ष्‍य का पीछा करते हुए हम और बेहतर हो सकते थे और ऐसे मैच आसानी से नहीं जीते जाते हैं। जायसवाल का विकेट ऐसे मौक़े पर गिरा जिससे बाएं हाथ के स्पिनर मैच में आ गए और इसके बाद यह थोड़ा मुश्किल हो गया, लेकिन तब भी विकेट की गति को पहचानते हुए पिच पर अड़े रहना था। जैसा ध्रुव जुरेल ने दिखाया कि यदि आप इरादा दिखाते हो और आप स्‍मार्ट शॉट खेलते हो तो आप लक्ष्‍य का पीछा कर सकते हो लेकिन दुर्भाग्‍यपूर्ण इस दिन हम अच्‍छे नहीं थे। मुझे लगता है कि SRH के बल्‍लेबाज़ पिच पर डटे रहे और गहराई में जाकर बल्‍लेबाज़ी की और बाद में उनके गेंदबाज़ों ने बेहतरीन काम किया।"

सैमसन : 'RR ने भारत के लिए कई कौशल खिलाड़ी ढूंढे हैं'

हालांकि संगकारा इस बात से खुश हैं जिस तरह का उनका सीज़न गया है। RR ने शुरू में अपने नौ में से आठ मैच जीते लेकिन अंत में लगातार चार मैच हारे भी लेकिन किसी तरह से वह क्‍वाल‍िफ़ाई करने में क़ामयाब रहे और दूसरा क्‍वालिफ़ायर खेले, जबकि उनके प्रमुख बल्‍लेबाज़ जॉस बटलर नॉकआउट मैचों में टीम का हिस्‍सा तक नहीं थे। RR को उनके फ़ीनिशर शिमरन हेटमायर की चोट ने भी परेशान किया।
संगकारा ने कहा, "मुझे लगता है कि यह हमारे लिए बेहतरीन सीज़न था। हमने बहुत अचछी शुरुआत की और फ‍िर हैदराबाद में SRH के ख़ि‍लाफ़ एक नज़दीकी मैच हारे। और बाद में दिल्‍ली में भी हम जीतने की स्थिति में थे। RCB ने शुरू में अपने हर मैच हारे लेकिन तब भी उन्‍होंने क्‍वालिफ़ाई किया। ऐसे ही टी20 चलता है।"
"हम जो कर सकते थे वह यही था कि खु़द को प्‍लेऑफ़ में पहुंचाना और फ़ाइनल के लिए लड़ना जो हमने किया। मुझे लगता है कि लड़कों ने पूरे सीज़न बहुत अच्‍छा क्रिकेट खेला और बाद में जाकर थोड़ी थकान जरूर थी, लेकिन यह मायने नहीं रखता क्‍योंकि इस तरह के मैचों में आपको प्रदर्शन करके पासा पलटना होता है।"
सैमसन इस बार से भी खुश दिखाई दिए जिस तरह से कई खिलाड़‍ियों ने आगे बढ़कर पूरे सीज़न RR के लिए प्रदर्शन किया। उन्‍होंने ख़ासतौर से रियान पराग और जुरेल की तारीफ़ की और कहा कि वे भारत के लिए भी मैच विजेता बन सकते हैं। पराग ने 14 पारियों में क़रीब 150 के स्‍ट्राइक रेट से 573 रन बनाए और इस सीज़न उनसे अधिक रन केवल विराट कोहली और ऋतुराज गायकवाड़ ने बनाए, वहीं जुरेल ने कई अहम पारियां इस सीज़न खेली।
सैमसन ने कहा, "सच कहूं तो हमने इस सीज़न ही नहीं पिछले तीन सालों में कई बेहतरीन मैच खेले हैं। मुझे लगता है कि हमने देश के लिए कई कौशल से भरपूर खिलाड़ी दिए हैं। रियान पराग ने इस सीज़न बेहतरीन प्रदर्शन किया और ध्रुव जुरेल समेत कई खिलाड़ी ना केवल RR बल्कि भारतीय क्रिकेट टीम के लिए बेहतरीन दिखे हैं।"

संगकारा : 'हम संदीप को पाकर खुशकिस्‍मत हैं'

गेंदबाज़ी के नज़‍रिए से IPL में कभी पावरप्‍ले विशेषज्ञ रहने वाले संदीप शर्मा ने आवेश ख़ान के साथ मिलकर RR के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया। SRH के ख़‍िलाफ़ दूसरे क्‍वाल‍िफ़ायर में संदीप ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए चार ओवर में मात्र 25 रन देते हुए ट्रेविस हेड और हाइनरिक क्‍लासन के विकेट लिए। संगकारा ने भी खु़द को डेथ बॉलर के तौर पर पूरिपूर्ण करने के लिए संदीप की तारीफ़ की।
संगकारा ने कहा, "मुझे लगता है कि यह बस उसके लिए रोल को बदलने का मामला है। हम हमेशा जानते थे कि वह शुरुआत में बहुत अधिक प्रभावी है लेकिन अपनी गति और कौशल के साथ हमने पहचाना कि वह मध्‍य और डेथ ओवर में भी हमारे लिए बहुत प्रभावी होगा।"
"प्रसिद्ध कृष्‍णा हमारे साथ नहीं थे। नवदीप सैनी चोटिल थे और वह इस सीज़न में बड़ी कंधे की चोट के साथ आ रहे थे। इन दो सीज़न संदीप ने हमारे लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया है। वह एक अनुभवी क्रिकेटर है और वह जानता है कि वह क्‍या कर सकता है और क्‍या नहीं, तो वह हमेशा अपने बेसिक्‍स पर टिका रहता है। वह अपनी गति में बदलाव करता है और उसके पास बेहतरीन कौशल है। हम उसको पाकर खुशकिस्‍मत हैं।"(

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।