मैच (21)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
USA vs CAN (2)
Zonal Trophy [W] (1)
SA v SL (W) (1)
फ़ीचर्स

स्मार्ट स्टैट्स : केएल राहुल के दो शतकों की कहानी

आंकड़े एक समान होने के बावजूद वानखेड़े में बनाया गया शतक ब्रेबोर्न की पारी से अधिक मूल्यवान है

शतक का जश्न मनाते केएल राहुल  •  BCCI

शतक का जश्न मनाते केएल राहुल  •  BCCI

मुंबई इंडिंयस के विरुद्ध दो मैचों में केएल राहुल ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 103 रनों की नाबाद पारियां खेली (एक 60 गेंदों पर और दूसरी 62 गेंदों पर)। इन दोनों मैचों में उनकी टीम लखनऊ सुपर जायंट्स को जीत मिली और राहुल प्लेयर ऑफ़ द मैच चुने गए।
कहानी एक समान नज़र आती है ना? फिर ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के स्मार्ट स्टैट्स ने प्रभाव (इम्पैक्ट) के आधार पर एक पारी को 115.59 और दूसरी को 167.97 अंक क्यों दिए?
ब्रेबोर्न स्टेडियम में खेले गए पहले मैच में, लखनऊ ने 199 रन बनाए। राहुल के 103 रनों के अलावा लखनऊ के अन्य बल्लेबाज़ों ने बची हुई 60 गेंदों पर 146.7 के अच्छे स्ट्राइक रेट से 88 रन बनाए थे। लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई इंडियंस 18 रन पीछे रह गई। इस पूरे मैच में राहुल को छोड़कर अन्य बल्लेबाज़ों ने 180 गेंदों पर 141.1 के स्ट्राइक रेट से 254 रन बनाए। इसका अर्थ यह था कि इस मैच में राहुल ने अन्य सभी बल्लेबाज़ों की तुलना में 1.2 फ़ीसदी ज़्यादा के स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे।
इन आंकड़ों को वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए हालिया मैच से तोला जाए तो समझ आएगा कि इम्पैक्ट रनों और इम्पैक्ट अंकों में इतना बड़ा अंतर क्यों है? इस मैच में राहुल ने 103 रन बनाने में दो अधिक गेंदों का इस्तेमाल किया लेकिन अन्य बल्लेबाज़ इस आंकड़े के आसपास भी नहीं पहुंच पाए।
कुल मिलाकर लखनऊ ने अन्य सभी बल्लेबाज़ों के बल्ले से शेष 58 गेंदों पर केवल 57 रन निकले। उनका स्ट्राइक रेट महज़ 98.3 का था। तिलक वर्मा को छोड़कर किसी बल्लेबाज़ ने 130 से अधिक के स्ट्राइक रेट से रन नहीं बनाए। इसका मतलब था कि राहुल का शतक उन परिस्थितियों में आया था जहां अन्य सभी बल्लेबाज़ 100 से भी कम के स्ट्राइक रेट से खेल रहे थे।
दोनों शतकीय पारियां मैच जिताऊ थीं, लेकिन अब हमें साफ़ पता चलता है कि वानखेड़े में आया शतक ब्रेबोर्न में बनाए गए शतक से अधिक मूल्यवान था। साधारण आंकड़ों से यह समझ नहीं आएगा। पहले शतक में राहुल का स्ट्राइक रेट भी बेहतर था। हालांकि, स्मार्ट स्टैट्स को संचालित करने वाला जटिल एल्गोरिदम विशेष रूप से प्रत्येक गेंद पर बल्लेबाज़ों और गेंदबाज़ों के संदर्भ और उनपर बने दबाव को देखता है जिससे समान दिख रहे प्रदर्शन के बीच का अंतर पता चलता है।
यही कारण है कि वानखेड़े में 62 गेंदों पर राहुल का नाबाद शतक इस सीज़न में बेहतर प्रदर्शन के मामले में शीर्ष स्थान पर है। वहीं ब्रेबोर्न में बनाया गया शतक इस सूची में 15वें स्थान पर है।

एस राजेश (@rajeshstats) ESPNcricinfo में स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।