एक मामूली तकनीकी बदलाव और बीच के ओवरों में अधिक परिष्कृत दृष्टिकोण ने अविष्का फ़र्नांडो को भारत के ख़िलाफ़ समाप्त हुई वनडे सीरीज़ में सर्वाधिक रन बनाने वाला खिलाड़ी बना दिया। तीसरे वनडे में प्लेयर ऑफ द मैच रहे इस खिलाड़ी ने तीसरे वनडे में 98 गेंदों पर 76 रन बनाकर श्रीलंका की साल की दूसरी वनडे जीत दर्ज कराने में मदद की। श्रीलंका ने बारिश से प्रभावित इस मैच में 227 रन का लक्ष्य तीन विकेट और आठ ओवर शेष रहते ही हासिल कर लिया।

फ़र्नांडो ने हमेशा की तरह आक्रामक शुरुआत की और पावरप्ले के दौरान 30 गेंदों में 32 रन बनाए। लेकिन फिर बीच के ओवरों में उन्होंने अपनी बल्लेबाज़ी के टोन को डाउन किया और आउटफील्ड में सिंगल और डबल की तलाश करने लगे। हालांकि उन्होंने 37वें ओवर तक बल्लेबाज़ी की, लेकिन उन्हें बाउंड्री तब मिला जब क्षेत्ररक्षण प्रतिबंधों में ढील दिए गए।

फ़र्नांडो ने मैच के बाद कहा, "मैं आमतौर पर पावरप्ले में रन बना सकता हूं इसलिए मैंने उन ओवरों में अपनी नैसर्गिक बल्लेबाज़ी की। लेकिन मुझे यह पता लगाने की जरूरत थी कि मैं उसके बाद कैसी बल्लेबाज़ी करता हूं। मैं लंबी पारी खेलना चाहता था और मुझे खुशी है कि मैं ऐसा कर सका। मैं वह करने में सक्षम रहा, जो उस समय टीम को चाहिए था।"

फ़र्नांडो ने भानुका राजापक्षा के साथ दूसरे विकेट के लिए 109 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी की। राजापक्षा साझेदारी के दौरान अधिक आक्रामक थे और उन्होंने 56 गेंदों में 12 चौकों की मदद से 65 रन बनाए। एक तरफ राजापक्षा अधिक आक्रामक थे, दूसरी तरफ फ़र्नांडो ने मैच को गाइड किया।

"भानुका अपना तरीके से खेलता है। उस समय ऐसा नहीं था कि मैं भी जल्दी रन बनाऊं। इसलिए मैंने सोचा कि मैं उसे स्ट्राइक दू क्योंकि लगभग हर ओवर में वह एक चौका या छक्का लगा रहा था। मैं ऐसा करने में सक्षम रहा। चूंकि हम स्ट्राइक बदलने में सक्षम थे, इसलिए हम एक अच्छी साझेदारी निभाने में भी सफल रहें।"

यह फ़र्नांडो का सीरीज़ में दूसरा अर्धशतक था। उन्होंने दूसरे वनडे मैच में भी 50 रन बनाए थे। उन्होंने सीरीज़ में 3 पारियों में 53 की औसत से 159 रन बनाए और वह भारतीय कप्तान शिखर धवन से 31 रन आगे थे।

फ़र्नांडो ने कहा, "मैंने इंग्लैंड और इस सीरीज के बीच कुछ छोटी-छोटी चीजें बदली हैं। मुझे अपने फ्रंट लेग से समस्या थी, जो बहुत ही अधिक ऑफ़ साइड में जा रहा था। अपनी ट्रेनिंग से मैं इसे ठीक करने में सफल रहा और फिर मैं रन भी बना पाया।"

ऐंड्रयू फ़िडेल फ़र्नांडो ESPNcricinfo के श्रीलंका संवाददाता हैं