मैच (7)
AFG v IRE (1)
WPL (1)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
फ़ीचर्स

कुछ ऐसे रिकॉर्ड जो सिर्फ़ मिताली ही बना सकती हैं

1999 के बाद से भारत ने जितने भी वनडे मैच खेले हैं, सिर्फ़ 15 बार ऐसा हुआ जब मिताली टीम में नहीं थी

मिताली राज ने सभी फ़ॉर्मेट में कुल 10,868 रन बनाए हैं। यह किसी भी महिला खिलाड़ी के द्व्रारा बनाया गया सबसे अधिक रन है। इसके अलावा उन्होंने महिला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज़्यादा 93 अर्धशतक लगाए हैं।
मिताली ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक कुल 333 मैच खेले हैं, जो किसी भी महिला खिलाड़ी के लिए सबसे ज़्यादा है। साथ ही महिला वनडे में वह पहली खिलाड़ी थी, जिसने कुल 200 मैच खेले हों। मिताली ने अपने करियर में कुल 232 वनडे मैच खेले हैं।
मिताली ने वनडे क्रिकेट में कुल 7805 रन बनाए हैं। उनके अलावा किसी भी अन्य क्रिकेटर ने 6000 का भी आंकड़ा नहीं छुआ है। वनडे में उन्होंने 71 अर्धशतक और आठ शतक लगाए हैं।
मिताली राज छह बार महिला विश्व कप का हिस्सा रही हैं। सिर्फ़ दो ही खिलाड़ी इस मामले में उनकी बराबरी करते हैं और वह भी पुरुष क्रिकेट में: जावेद मियांदाद और सचिन तेंदुलकर भी छह-छह बार विश्व कप का हिस्सा रहे हैं।
मिताली ने वनडे क्रिकेट में कुल 22 साल और 274 दिन बिताए। उन्होंने 1999 में अपना डेब्यू किया था। पुरुष और महिला वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे लंबा करियर है।
इसके अलावा अगर सभी फ़ॉर्मेंट की बात की जाए तो मिताली की तुलना में दो महिला खिलाड़ियों का अंतर्राष्ट्रीय करियर ज़्यादा है। नीदरलैंड के लिए कैरोलिन डी फॉउ का करियर 1991 और 2018 तक चला। उन्होंने कुल 26 साल और 361 दिन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बिताएं, हालांकि डी फॉउ ने 2008 और 2018 के बीच कोई मैच नहीं खेला था। इसके अलावा चमानी सेनेविरत्न का करियर भी मिताली से ज़्यादा है। उन्होंने 1997 में श्रीलंका के लिए डेब्यू किया और 2018 से यूएई का प्रतिनिधित्व कर रही हैं, उनका करियर 24 साल और 155 दिनों का है।
राज ने एक बार अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार नौ 50 से अधिक स्कोर बनाए - 2016 में एशिया कप टी 20 में दो और 2017 में वनडे मैचों में सात। यह पुरुषों या महिलाओं के अंतर्राष्ट्रीय मैचों में किसी भी बल्लेबाज़ के लिए 50 से अधिक के स्कोर की सबसे लंबी लकीर है।
कप्तान के रूप में एडवर्ड्स की 142 जीत और मेग लैनिंग की 128 जीत के बाद अंतर्राष्ट्रीय मैचों में मिताली तीसरी सबसे सफल कप्तान हैं। उन्होंने कुल 109 मैचों में जीत दर्ज की है।
मिताली ने अंतर्राष्ट्रीय वनडे मैचों में सबसे ज़्यादा 155 मैचों में कप्तानी की है। इसके अलावा वह वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे ज़्यादा मैच जीतने वाली भी कप्तान भी हैं। उन्होंने कुल 89 मैच जीते हैं।
सभी अंतर्राष्ट्रीय फ़ॉर्मेंट में मिताली ने कप्तान के रूप में कुल 6728 रन बनाए हैं। कप्तान रहते हुए इससे ज़्यादा रन सिर्फ़ एडवर्ड्स(6728) ने ही बनाए हैं। हालांकि मिताली ने कप्तान रहते हुए कुल 60 बार 50 से अधिक रन बनाए हैं, जो सबसे अधिक है।
वनडे क्रिकेट में लक्ष्य का पीछा करते हुए मिताली का औसत 109.05 का है। किसी भी बल्लेबाज़ जिसने पुरुष या महिला क्रिकेट में 1000 से ज़्यादा रन बनाए हों, उनमें से मिताली का औसत सबसे अधिक है। मिताली ने लक्ष्य का पीछा करते हुए कुल 35 बार नॉट आउट रहीं, इससे ज़्यादा बार नॉट आउट सिर्फ़ महेंद्र सिंह धोनी (47 बार) रहे हैं।
मिताली ने साल 2002 में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ एक टेस्ट में 202 रनों की पारी खेली थी। महिला टेस्ट में यह सबसे बड़ा निजी स्कोर है। मिताली ने जब यह स्कोर बनाया था, तब वह 19 साल और 254 दिनों की थी। महिला क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाली वह सबसे युवा खिलाड़ी हैं।