मैच (12)
IND v ENG (1)
BPL 2023 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
CWC Play-off (3)
PSL 2024 (1)
WPL (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : टी20 के बादशाह बने बाबर और रिज़वान

इस धमाकेदार साल में दोनों ने साथ मिलकर तोड़े कई रिकॉर्ड

रिकॉर्ड ब्रेकिंग जोड़ी : बाबर आज़म और मोहम्मद रिज़वान  •  PCB

रिकॉर्ड ब्रेकिंग जोड़ी : बाबर आज़म और मोहम्मद रिज़वान  •  PCB

बाबर-रिज़वान ने किया कमाल
इस साल टी20 क्रिकेट बल्लेबाज़ी में दो नए कीर्तिमान स्थापित हुए हैं और यह कारनामा किसी और ने नहीं बल्कि मोहम्मद रिज़वान ने किया है। साल 2021 में इस प्रारूप में कुल 2036 रन बनाते हुए वह एक कैलेंडर वर्ष में 2000 टी20 रनों का आंकड़ा पार करने वाले पहले बल्लेबाज़ बन गए हैं। जहां तक बात टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों की हैं तो वहां 1326 रन बनाकर वह एक साल में 1000 टी20 अंतर्राष्ट्रीय रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए हैं। साथ ही एक साल में 13 बार टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 50 रनों का आंकड़ा पार करने का रिकॉर्ड भी अब उनके नाम हैं।
रिज़वान के सलामी जोड़ीदार और राष्ट्रीय टीम के कप्तान बाबर आज़म कहां पीछे रहने वाले थे। जिन दो सूचियों में रिज़वान पहले नंबर पर हैं, वहीं बाबर दूसरे स्थान पर विराजमान हैं। उन्होंने इस वर्ष टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 939 जबकि पाकिस्तान सुपर लीग और राष्ट्रीय टी20 कप में कुल मिलाकर 840 रन बनाए। इससे पहले एक कैलेंडर वर्ष में सर्वाधिक टी20 रन बनाने का रिकॉर्ड यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल के नाम था जब 2015 में उन्होंने 1665 रन बनाए थे। बाबार ख़ुद 2019 में 1607 रन बनाकर उनके रिकॉर्ड को तोड़ने के बहुत क़रीब पहुंच गए थे। इन सबके बीच बाबर ने इस साल सभी टी20 मैचों में सर्वाधिक (20) बार 50 का आंकड़ा पार करने के मामले में अपने साथी रिज़वान को पीछे छोड़ दिया
टी20 क्रिकेट में रिज़वान ने चखा सफलता का स्वाद
इस साल सर्वाधिक 2036 टी20 रन बनाने वाले रिज़वान के लिए सबसे आश्चर्य की बात यह रही कि इससे पहले 100 से भी अधिक मैच खेलने के बावजूद कुल मिलाकर उनके बल्ले से केवल 2029 रन निकले थे। पारी की शुरुआत करने की ज़िम्मेदारी ने रिज़वान के लिए सफलता के दरवाज़े खोल दिए और उन्होंने इस मौक़े का पूरा फ़ायदा उठाया। न्यूज़ीलैंड दौरे पर टी20 अंतर्राष्टीय मैचों में ओपनर बनने का अवसर उन्हें बाबर के चोटिल के बाद ही मिला था।
इस साल पीसीएल में 500 रन बनाकर अपनी टीम मुल्तान सुल्तान्स को पहला ख़िताब जीताने के लिए रिज़वान को "प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट" घोषित किया गया था। इस टूर्नामेंट की 12 पारियों में उन्होंने चार अर्धशतक बनाए और केवल दो बार 20 से कम के स्कोर पर आउट हुए। मज़े की बात तो यह है कि पहले पांच पीएसएल सीज़नों में उनके नाम केवल एक अर्धशतक था और वह भी साल 2016 में आया था।
निरंतरता का एक ही नाम : रिज़वान, रिज़वान
कप्तान बाबर के कम अर्धशतक बनाने के बावजूद रिज़वान ने इस साल उनसे ज़्यादा रन बनाए। इसके पीछे का मुख्य कारण थी लगतार अच्छी शुरुआत करना। 45 टी20 पारियों में से 30 बार उन्होंने 30 का आंकड़ा पार किया। साथ ही केवल छह बार वह 10 से कम के स्कोर पर चलते बने। 30 का आंकड़ा पार करने की निरंतरता के मामले में केवल दो खिलाड़ियों के आंकड़े रिज़वान से बेहतर हैं : 2016 में विराट कोहली और 2019 में डेविड वॉर्नर।
साल 2016 में 89.66 की औसत से रन बनाते हुए कोहली बढ़िया लय में थे। उस साल खेले गए पांच टी20 टूर्नामेंटों में से तीन में वह "प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़" भी रहे थे। वहीं दूसरी तरफ़ वॉर्नर भी 2019 में शानदार फ़ॉर्म से गुज़र रहे थे। एक साल के निलंबन से वापसी करते हुए उस साल इंडियन प्रीमियर लीग भी उन्होंने ऑरेंज कैप अपने नाम की। वह भी तब जब वह पूरा टूर्नामेंट खेले भी नहीं।
रिज़वान ने इस साल की शुरुआत लगातार नौ पारियों में 40 से अधिक का स्कोर बनाकर की थी। उनका लगातार सात टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 30 का आंकड़ा पार करने का सिलसिला भी टी20 विश्व कप में ख़त्म हुआ। यह किसी भी खिलाड़ी के लिए सर्वाधिक है। 26 टी20 अंतर्राष्ट्रीय पारियों में 20 बार उनके बल्ले से 30 से अधिक रन निकले।
जब बाबर और रिज़वान हो साथ, तो डरने की क्या बात
2021 से पहले केवल दो बार रिज़वान और बाबर ने टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में एक साथ बल्लेबाज़ी की थी। इस साल उन्होंने 25 पारियों में 57.50 की धमाकेदार औसत से 1380 रन जोड़े। यह पहली बार हुआ है जब न केवल टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में बल्कि पूरे टी20 क्रिकेट में एक कैलेंडर वर्ष में किसी जोड़ी ने 1000 रन जोड़ने का कारनामा किया। इस साल बाबर और रिज़वान ने जितने रन जोड़े हैं, केवल पांच जोड़ियों ने पुरुष टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में अपने पूरे करियर के दौरान उससे ज़्यादा रन साथ मिलकर बनाए हैं। यह दर्शाता है कि साल 2021 बाबर और रिज़वान के नाम रहा है।
यहां तक कि 2021 से पहले केवल एक जोड़ी ने बाबर और रिज़वान से अधिक रन जोड़े थे। साल 2019 में 756 रन जोड़ने वाले केविन ओब्रायन और पॉल स्टर्लिंग के नाम एक वर्ष में सर्वाधिक टी20 अंतर्राष्ट्रीय रनों की साझेदारी निभाने का रिकॉर्ड था। टी20 क्रिकेट की बार करें तो आईपीएल 2016 में विराट कोहली और एबी डीविलियर्स ने 13 पारियों में 939 रन जोड़े थे।
रिज़वान और बाबर ने रिकॉर्ड छह बार टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में शतकीय साझेदारी निभाई है। चार मौक़ों पर तो उन्होंने 150 का आंकड़ा भी पार किया जिसमें भारत के ख़िलाफ़ टी20 विश्व कप की जीत शामिल है। पुरुष टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनके अलावा केवल रोहित और धवन ने ही एक से अधिक मौक़ों पर 150 रनों की साझेदारी निभाई है। साथ ही बाबर और रिज़वान ने टी20 क्रिकेट में 150 से अधिक रनों की साझेदारी निभाने के मामले में कोहली और डीविलियर्स की बराबरी भी कर ली है।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।