मैच (10)
AFG v IRE (1)
Nepal Tri-Nation (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
WPL (1)
PSL 2024 (1)
BPL 2023 (1)
Durham in ZIM (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : जाडेजा और मोहाली की अनोखी प्रेम कथा

अश्विन ने 434 विकेट लेने वाले कपिल देव को पछाड़ा

5 - भारत ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ एक पारी और 222 रनों की बड़ी जीत दर्ज की। यह टेस्ट क्रिकेट में उनकी पांचवीं सबसे बड़ी जीत हैं। 2018 में भारत ने वेस्टइंडीज़ को पारी और 272 रनों से हराया था जो इतिहास में इस टीम की सबसे बड़ी जीत थी। पांच सबसे बड़ी जीत में से तीन तो पिछले पांच सालों में आईं हैं।
1 - रवींद्र जाडेजा एक टेस्ट मैच में 150 रन बनाने और फिर नौ विकेट लेने वाले विश्व के पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इससे पहले 2014 में ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ शाकिब अल हसन ने 124 रन देकर कुल 10 विकेट लिए थे और मैच में कुल 143 रन (137 और 6) बनाए थे।
7 - यह सातवां मौक़ा था जब किसी खिलाड़ी ने टेस्ट मैच में शतक लगाया और कम से कम नौ विकेट चटकाए। जाडेजा ऐसा करने वाले दूसरे भारतीय बन गए। इससे पहले 2011 के ऐतिहासिक टाई टेस्ट मैच में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ जाडेजा के स्पिन जोड़ीदार रविचंद्रन अश्विन ने 103 रनों की पारी खेली थी और मैच में नौ विकेट अपने नाम किए थे।
3 - मोहाली में खेले गए चार टेस्ट मैचों में तीन बार जाडेजा ने प्लेयर ऑफ़ द मैच ख़िताब अपने नाम किया हैं। वह 2013 में इस मैदान पर खेले गए अपने पहले टेस्ट मैच में यह पुरस्कार जीतने में नाकाम रहे थे। हालांकि इसके बाद अगले तीनों टेस्ट मैचों में उन्होंने यह कारनामा किया हैं - साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 2015 में, इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 2016 में और श्रीलंका के ख़िलाफ़ 2022 में। जाडेजा से पहले केवल दो भारतीय खिलाड़ियों ने किसी एक मैदान पर तीन पुरस्कार के विजेता रहे हैं। सचिन तेंदुलकर चेन्नई में चार बार जबकि अनिल कुंबले दिल्ली में तीन बार प्लेयर ऑफ़ द मैच रहे थे। जाडेजा किसी एक मैदान पर लगातार तीन पुरस्कार जीतने वाले विश्व के केवल छठे खिलाड़ी भी बने।
67.08 का अंतर है मोहाली में खेले गए टेस्ट मैचों में जाडेजा की बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी औसत के बीच। यहां चार मैचों में उन्होंने 81.75 की औसत से 327 रन बनाए हैं और 14.66 की औसत से 27 विकेट झटके हैं। किसी एक मैदान पर 300 रन बनाने और 20 विकेट झटकने वाले सभी खिलाड़ियों की सूची में केवल महान गैरी सॉबर्स की बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी औसत में इससे बड़ा अंतर हैं। सॉबर्स ने सबिना पार्क में 104.15 की शानदार औसत से रन बनाए हैं और 32.55 की औसत से गेंद के साथ शिकार किए हैं।
436 टेस्ट विकेटों के साथ अश्विन भारत के लिए सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों की सूची में दूसरे स्थान पर पहुंच गए हैं। 619 विकेट लेकर केवल कुंबले उनसे आगे हैं। अश्विन ने इस टेस्ट में 434 विकेट लेने वाले पूर्व कप्तान कपिल देव को पीछे छोड़ा। इस समय अश्विन 5.1 विकेट प्रति मैच की औसत से गेंदबाज़ी कर रहे हैं जो कपिल (3.3) और कुंबले (4.7) की तुलना में काफ़ी बेहतर है।
6 - इस मैच की दोनों पारियों में श्रीलंका के पुछल्ले बल्लेबाज़ (नंबर 8-11) छह बार शून्य के स्कोर पर आउट हुए। ऐसा करते हुए उन्होंने सर्वाधिक डक के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली हैं। इस मैच से पहले तीन मौक़ों पर किसी टीम के निचले क्रम ने छह डक दर्ज किए थे - 1955 में न्यूज़ीलैंड, 1994 में इंग्लैंड और 2013 में वेस्टइंडीज़।

एस राजेश (@rajeshstats) ESPNcricinfo के स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।