मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (5)
IND v SA [W] (1)
T20 Blast (6)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

राहुल या किशन? सूर्यकुमार या सैमसन या फिर तिलक? कुल-चा या जाडेजा-अक्षर? : भारतीय चयनकर्ताओं के सामने कई सिरदर्द

एशिया कप के लिए भारतीय दल का चयन जल्द ही हो सकता है, जो विश्व कप दल का भी ख़ाका होगा

Suryakumar Yadav and Tilak Varma have a chat, West Indies vs India, 1st T20I, Tarouba, August 3, 2023

मध्यक्रम में सूर्यकुमार यादव के साथ-साथ तिलक वर्मा भी दावेदार बनकर उभरे हैं  •  AFP/Getty Images

श्रेयस अय्यर और के एल राहुल फ़िटनेस पाने के कितने क़रीब हैं? क्या टी20 के प्रदर्शन के आधार पर तिलक वर्मा भी मध्यक्रम के उम्मीदवार हैं? वनडे में ख़राब आंकड़ों के बावजूद क्या सूर्यकुमार यादव को एक और मौक़ा मिलेगा?
क्या इशान किशन बैकअप विकेटकीपर और मध्यक्रम के रिज़र्व बल्लेबाज़ की भूमिका निभा पाएंगे? अक्षर पटेल या शार्दुल ठाकुर या युज़वेंद्र चहल या कोई और (अश्विन)? प्रसिद्ध कृष्णा का क्या, जो एक साल बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर रहे हैं?
ये कुछ प्रमुख सवाल हैं, जो भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के प्रमुख चयनकर्ता अजीत आगरकर के सामने एशिया कप के दल का चयन करते समय होंगे। कुछ चोटिल खिलाड़ियों को छोड़ दिया जाए तो एशिया कप की टीम ही लगभग विश्व कप में भी दिखाई देगी, इसलिए आगरकर के सामने दोहरी चुनौतियां हैं। ऐसा भी हो सकता है कि चयनकर्ता एशिया कप के लिए एक बड़े दल का चुनाव करें, जिसमें से अंतिम 15 का चुनाव विश्व कप के लिए हो।

शीर्ष सात

शुभमन गिल, रोहित शर्मा और विराट कोहली आसानी से शीर्ष तीन में आते हैं। अगर श्रेयस और राहुल फ़िट होते हैं तो वे क्रमशः चार और पांच पर होंगे। आगे हार्दिक पंड्या और रवींद्र जाडेजा शीर्ष सात को पूरा करेंगे।
ये तो हो गई आदर्श दुनिया की बातें। चूंकि राहुल और अय्यर अभी भी पूरी तरह से फ़िट नहीं हैं, इसलिए एक अतिरिक्त बैकअप बल्लेबाज़ के साथ-साथ इनके विकल्पों को भी ढूंढ़ना ज़रूरी है। अगर राहुल जांघ की चोट से नहीं उबरते हैं तो किशन विकेटकीपर बल्लेबाज़ के सबसे प्रमुख दावेदार हैं। वहीं अगर श्रेयस पीठ की चोट से नहीं उबर पाते हैं तो मध्य क्रम में कई दावेदार हैं।

सूर्यकुमार, सैमसन या तिलक?

अब तक सिर्फ़ सूर्यकुमार और संजू सैमसन ही मध्यक्रम के बैकअप विकल्प थे, लेकिन वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ तीन टी20 मैचों में धमाकेदार प्रदर्शन कर अब तिलक भी इसके प्रबल दावेदार बनकर उभरे हैं।
सूर्यकुमार के नाम 26 वनडे में 24.33 की औसत से सिर्फ़ 511 रन हैं। वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ तीसरे टी20आई में प्लेयर ऑफ़ द मैच प्रदर्शन करने के बाद उन्होंने ख़ुद स्वीकार किया था कि वनडे में उनके आंकड़े सच में 'ख़राब' हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह क्रीज़ पर समय बिताकर अपने इन आंकड़ों को बेहतर भी बनाना चाहते हैं।
वहीं दूसरी तरफ़ संजू हैं, जो सीमित ओवर क्रिकेट में एक अबूझ पहेली बन चुके हैं। जब वह खेलते हैं तो उनसे बेहतर कोई नहीं दिखता, लेकिन निरंतरता उनके लिए एक बड़ी समस्या है। वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ दो वनडे में उन्होंने क्रमशः 9 और 51 रन बनाए, वहीं टी20 मैचों के दौरान उन्हें क्रमशः 12 और 7 के मामूली स्कोर पर विकेट फेंकते हुए देखा गया।
इस कारण तिलक परिदृश्य में आते हैं। ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में वह शीर्ष पांच में बाएं हाथ का भी विकल्प लाते हैं। हालांकि उन्होंने अब तक एक भी वनडे मैच नहीं खेला है, लेकिन कई क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है कि वह एक बेहतर वनडे खिलाड़ी भी बन सकते हैं।

सिराज, बुमराह, शमी और कौन?

तेज़ गेंदबाज़ी विभाग में मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह का चयन लगभग पक्का है, वहीं मोहम्मद शमी तीसरे तेज़ गेंदबाज़ी विकल्प के सबसे प्रमुख दावेदार हैं। वह विश्व कप का हिस्सा हों, इसलिए ही डब्ल्यूटीसी के बाद उनके वर्कलोड का प्रबंधन किया गया है। अगर बुमराह पूरी तरह से फ़िट होकर फ़ॉर्म में वापसी नहीं कर पाते हैं तो शमी एकमात्र अनुभवी विकल्प होंगे।
चयनकर्ताओं की नज़र प्रसिद्ध के प्रदर्शन पर भी होगी, जो आयरलैंड दौरे पर टी20 टीम का हिस्सा हैं। उनकी लंबाई और तेज़ गति भारतीय गेंदबाज़ी क्रम में विविधता प्रदान कर सकती है। 14 वनडे मैचों में 24 की औसत से 25 विकेट मध्य ओवरों में उनकी उपयोगिता को बख़ूबी बयां करते हैं। इसके अलावा मुकेश कुमार और जयदेव उनादकट का भी विकल्प है, जो हालिया वेस्टइंडीज़ दौरे पर भारतीय वनडे टीम का हिस्सा थे। हालांकि इन दोनों तेज़ गेंदबाज़ों के चयन की बहुत ही कम संभावनाएं हैं।

नंबर आठ पर कौन?

कुलदीप यादव की निरंतरता और शानदार फ़ॉर्म उन्हें इस फ़ॉर्मेट में भारत का नंबर एक स्पिनर बनाता है, वहीं अपनी ऑलराउंड क्षमता और अनुभव के कारण जाडेजा दूसरे स्पिन विकल्प हैं। अब अंतिम दो स्थानों के लिए शार्दुल ठाकुर, प्रसिद्ध, अक्षर पटेल और युज़वेंद्र चहल के बीच लड़ाई है।
शार्दुल अपनी तेज़ गेंदबाज़ी के साथ-साथ नंबर आठ तक बल्लेबाज़ी में गहराई लाते हैं। वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ में वह सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे। लेकिन भारत की टर्न लेती धीमी पिचों पर टीम प्रबंधन को हार्दिक पंड्या के अलावा शायद ही दूसरे तेज़ गेंदबाज़ी हरफ़नमौला की ज़रूरत होगी। ऐसे में अपनी बल्लेबाज़ी क्षमताओं के कारण अक्षर तीसरे स्पिनर के प्रबल दावेदार बनते हैं। ऐसे में चहल का चयन मुश्किल हो सकता है। इसके संकेत भी भारतीय टीम प्रबंधन द्वारा दे दिए गए, जब उन्हें वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ के दौरान एक भी मैच में नहीं चुना गया।

ऑफ़ स्पिनर का क्या?

भारतीय दल में एकमात्र कमी ऑफ़ स्पिनर की है। 113 वनडे मैचों के अनुभव वाले आर अश्विन ने अपना आख़िरी वनडे जनवरी 2022 में खेला था, वहीं वॉशिंगटन सुंदर कई चोटों से उबरने के बाद घरेलू क्रिकेट के ज़रिये वापसी की कोशिशों में लगे हैं। हालांकि इस दौरान उनका प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा है। ऐसे में देखना होगा कि चयनकर्ता इन दोनों विकल्प की तरफ़ सोच रहे हैं या नहीं!
एशिया कप के लिए संभावित भारतीय दल (उपलब्धता के आधार पर): रोहित शर्मा (कप्तान), शुभमन गिल, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, केएल राहुल (विकेटकीपर),सूर्यकुमार यादव/तिलक वर्मा, इशान किशन (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रवींद्र जाडेजा, शार्दुल ठाकुर, कुलदीप यादव, मोहम्मद सिराज, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, अक्षर पटेल/युज़वेंद्र चहल/प्रसिद्ध कृष्णा

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं