ख़बरें

विश्व कप की अनदेखी पर पूनम राउत : लगातार बाहर रहना निराशाजनक

शीर्ष क्रम की इस बल्लेबाज़ ने 2021 में 73.75 की औसत से रन बनाए

Punam Raut goes big, England Women vs India Women, 1st ODI, Bristol, June 27, 2021

Punam Raut goes big  •  Getty Images

अनुभवी शीर्ष क्रम बल्लेबाज़ पूनम राउत ने महिला वनडे विश्व कप के लिए भारतीय टीम में नहीं चुने जाने पर हताशा व्यक्त करते हुए कहा, "लगातार बाहर रहना बहुत निराशाजनक है।"
गुरुवार को बीसीसीआई ने मार्च-अप्रैल में न्यूज़ीलैंड में होने वाले आगामी विश्व कप के लिए 18 खिलाड़ियों के दल की घोषणा की, जिसमें जेमिमाह रॉड्रिग्स और शिखा पांडे के नाम नहीं थे। हालांकि दल की घोषणा करने वाली रिलीज़ में उन्हें नहीं शामिल करने के पीछे का कारण नहीं बताया गया।
32 वर्षीय राउत पिछले साल इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के दौरे के लिए वनडे टीम का हिस्सा थी और विश्व कप के पिछले संस्करण में भी शामिल थी। राउत ने 2021 में खेले गए छह वनडे मैचों में 73.75 की औसत से 295 रन बनाए, जिसमें एक शतक भी शामिल है।
राउत ने ट्विटर पर लिखा, "अनुभवी बल्लेबाज़ों में शुमार और भारत के लिए लगातार रन बनाने के बावजूद मैं विश्व कप टीम का हिस्सा नहीं बनकर बेहद निराश हूं।" "2021 में मैंने छह वनडे मैचों में 73.75 की औसत से 295 रन बनाए, जिसमें एक शतक और दो अर्धशतक शामिल थे। प्रदर्शन करने के बाद भी लगातार टीम से बाहर रहना बहुत निराशाजनक है। यह कहकर, मैं भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली सभी खिलाड़ियों को अपनी शुभकामनाएं देना चाहूंगी।"
राउत ने 73 वनडे मैचों में 34.83 की औसत से 2299 रन बनाए हैं और तीन वनडे विश्व कप और चार टी20 विश्व कप का हिस्सा रही हैं। यह पहली बार नहीं है जब दाएं हाथ की बल्लेबाज़ को युवा और आक्रामक बल्लेबाज़ों ने मात दी हो। 2018 में भी, जब टीम प्रबंधन ने युवा रॉड्रिग्स को तैयार करना शुरू किया, तब उन्हें टीम में जगह नहीं मिली थी।
हालांकि राउत की अक्सर धीमा खेलने पर आलोचना की जाती रही है। वह 2021 में अपने स्ट्राइक रेट को बढ़ाकर 68.92 पर ले गई। इससे पहले उनका करियर स्ट्राइक रेट 56.96 था।
राउत ने पिछले साल मार्च में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ के दौरान कहा था, "मैं स्ट्राइक रेट के बारे में ज़्यादा नहीं सोचती। मैं टीम में अपने योगदान पर ध्यान देती हूं। जहां तक ​​वापसी करने की बात है मानसिक रूप से मज़बूत रहना महत्वपूर्ण है। ऐसे लोग हैं जो मुझे बताते हैं कि मेरा स्ट्राइक रेट कम है, लेकिन मैं इससे चिंतित नहीं होती। मैं अपना काम करती रहती हूं, यानि खेलती रहती हूं।"
2021 में राउत को बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंधों में ग्रेड सी से बी में भी पदोन्नत किया गया था।