बड़ी तस्वीर

टी20 विश्व कप में किसी भी टीम का कोई बड़ा रिकॉर्ड नहीं है और पहले हारने से ग्रुप 1 के आगे बढ़ने में बहुत बड़ा असर हो सकता है। ऐसे में, हाल के फॉर्म और आईसीसी टी20 रैंकिंग के आधार पर, ऑस्ट्रेलिया नहीं, साउथ अफ़्रीका को दावेदार के तौर पर शुरू करना चाहिए। साउथ अफ़्रीका ने टूर्नामेंट में आने से पहले अपने पिछले 10 मैचों में से नौ जीते हैं और अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ अपने दो अभ्यास मैचों में यह टीम प्रभावशाली दिखी है।दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया ने अपने पिछले 10 टी20 में से आठ हारे हैं और अपनी पिछली चार सीरीज़ गंवाई हैं। उन्होंने अपने पहले अभ्यास मैच में बमुश्किल न्यूज़ीलैंड को पीछे छोड़ा और दूसरे अभ्यास मैच में भारत से हार गए।

लेकिन ऑस्ट्रेलिया का साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ हाल ही में एक अच्छा रिकॉर्ड है, जब ऑस्ट्रेलिया ने 2020 में साउथ अफ़्रीका में अपनी पिछली सीरीज़ जीती, जो काफ़ी हद तक ऐरन फ़िंच और डेविड वॉर्नर और उनके शक्तिशाली गेंदबाज़ी आक्रमण की वजह से मिली। फ़िंच और वॉर्नर जब इस टूर्नामेंट में पहुंचे तो दोनों ने अभ्यास मैचों में रनों के लिए संघर्ष किया।

वैसे इस पहले मैच में टी20 रैंकिंग में नंबर एक गेंदबाज़ तबरेज़ शम्सी अपनी घुमती हुई गेंदों से ऑस्ट्रेलिया की परीक्षा लेंगे, जबकि ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ साउथ अफ़्रीका के शीर्ष क्रम को चुनौती देने के लिए तैयार होंगे।

पिछले पांच मैच

ऑस्ट्रेलिया : हार, जीत, हार, हार हार

साउथ अफ़्रीका : जीत, जीत, जीत, जीत, जीत

चर्चाओं में खिलाड़ी

साल भर फ़ॉर्म से जूझने के बाद वॉर्नर पर रन बनाने का दबाव है। 0, 2, 0 और 1 के स्कोर के साथ पहुंचने के बाद संयुक्त अरब अमीरात में उनसे उम्मीद करना बेकार है। उनकी टीम के साथी यह कहते रहे हैं कि वे उम्मीद करते हैं कि वह टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करेंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर की तुलना में टी20 विश्व कप में उनका रिकॉर्ड ख़राब है। 23 पारियों में केवल तीन अर्धशतकों के साथ 129 रन, लेकिन वह साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेलना पसंद करते हैं, उन्होंने किसी भी अन्य देश की तुलना में उनके ख़िलाफ़ टी20 में सबसे अधिक रन बनाए हैं।

तबरेज़ शम्सी एक कैलेंडर वर्ष में सबसे अधिक टी20 अंतर्राष्ट्रीय विकेट लेने से सिर्फ़ चार विकेट दूर हैं, जिन्होंने 2021 में अब तक 28 विकेट लिए हैं। वर्ष की शुरुआत में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ उनका प्रदर्शन कमाल का था, जहां उन्होंने सीरीज़ में सात विकेट लिए थे, वह भी 4.0 के इकॉनमी से। ऐसे में उनकी विरोधी टीम उनको सम्मान देने के बारे में तो सोच ही सकती हैं।

पिच और परिस्थिति

दिन के दौरान अबू धाबी रात के मुक़ाबले एक अलग चुनौती पेश करता है। 33 डिग्री सेल्सियस के पूर्वानुमान के साथ तापमान बहुत ज़्यादा रहेगा। टीमें विश्व कप में अब तक लक्ष्य का पीछा करने में सफल रही हैं, चार में से तीन टीम ने दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए जीत हासिल की है। लेकिन अबू धाबी में 2021 में सभी टी20 में ज़्यादातर टीमों ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए जीत हासिल की है। इस साल स्पिनरों की तुलना में तेज़ गेंदबाज़ों के लिए भी सतह अधिक अनुकूल रही है।

टीम की ख़बरें

फ़िंच ने पुष्टि की कि ऑस्ट्रेलिया अतिरिक्त ओवर फेंकने के लिए ग्लेन मैक्सवेल, मिच मार्श और मार्कस स्टॉयनिस मौजूद रहेंगे। ऐसे में टीम सात बल्लेबाज़ों और चार विशेषज्ञ गेंदबाज़ों के साथ खेलेगी। इसका मतलब है कि पैट कमिंस, जोश हेज़लवुड या केन रिचर्डसन में से केवल एक के लिए जगह बनती है।

संभावित एकादश

ऑस्ट्रेलिया : 1 ऐरन फ़िंच (कप्तान), 2 डेविड वॉर्नर, 3 मिचेल मार्श, 4 ग्लेन मैक्सवेल 5 स्टीवन स्मिथ 6 मार्कस स्टॉयनिस, 7 मैथ्यू वेड, 8 एश्टन एगार, 9 मिशेल स्टार्क, 10 एडम ज़ैंपा, 11 जोश हेज़लवुड

साउथ अफ़्रीका : 1 क्विंटन डिकॉक, 2 तेम्बा बावूमा (कप्तान), 3 एडन मारक्रम, 4 रासी वान दर दुसें, 5 डेविड मिलर, 6 हेनरिक क्लासेन, 7 वियान मुल्डर, 8 कैगिसो रबाडा, 9 केशव महाराज, 10 अनरिख़ नॉर्खिये/लुंगिसानी एनगिडी, 11 तबरेज़ शम्सी

ऐलेक्‍स मैल्‍कम ESPNcricinfo में एसोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।