i>ऑस्ट्रेलिया 121-5 (स्मिथ 35, स्टॉयनिस 24*, वेड 15*, नॉर्ख़िए 2-21) ने साउथ अफ़्रीका 117-9 (मारक्रम 40, हेज़लवुड 2-19, ज़ैम्पा 2-21) को पांच विकेट से हराया

स्पिन गेंदबाज़ के ख़िलाफ़ पहली ही गेंद पर विकेट। टीम के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ खेल बैठते हैं एक अजीबोग़रीब शॉट। एक बल्लेबाज़ का दौड़ते समय पैर फंसता है और वह रनआउट हो जाता है। सही मायनों में ये सभी चीज़ें दर्शाती हैं कि साउथ अफ़्रीका का आज दिन अच्छा नहीं था, लेकिन इसके बाद भी उन पर कोई फ़र्क़ नहीं पड़ा और उन्होंने 118 रनों के स्कोर को क़रीब-क़रीब डिफ़ेंड कर ही लिया था। तेंबा बवूमा के नेतृत्व में इस टीम ने जो जुझारूपन दिखाया है वह लंबे समय तक याद रखा जाएगा। हालांकि इसके बाद भी टी20 विश्वकप 2021 में सुपर-12 का आग़ाज़ उनके लिए हार के साथ हुआ।

दूसरी तरफ़ 119 रनों के आसान से लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम कई बार मुश्किलों से बाहर आई, ऐसा लगा ये दिन उन्हीं का था। इसके लिए उन्हें अपने उन खिलाड़ियों का शुक्रगुज़ार भी होना चाहिए जिन्होंने हाल ही में ख़त्म हुए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपनी-अपनी फ़्रेंचाइज़ी के लिए बेहतरीन प्रदर्शन किया था। जॉश हेज़लवुड (4-1-19-2) और ग्लेन मैक्सवेल (4-0-24-1) ने तो गेंद से अबू धाबी की इस पिच पर बेहतरीन प्रदर्शन किया। इन दोनों ही गेंदबाज़ों ने अपनी दिशा, लंबाई और सटीकता से बल्लेबाज़ों को ख़ासा परेशान किया।

हालांकि बल्लेबाज़ी में ऑस्ट्रेलिया की पारी एक बार फिर लड़खड़ा गई थी, जो उनकी ताक़त है भी नहीं लेकिन मार्कस स्टॉयनिस और मैथ्यू वेड उस समय टीम के लिए खड़े हुए जब सबसे ज़्यादा ज़रूरत थी। इन दोनों के बीच छठे विकेट के लिए 26 गेंदों पर 40 रनों की नाबाद साझेदारी ने ऑस्ट्रेलिया को आख़िरी ओवर में पांच विकेट से जीत दिला दी। इस ग्रुप ऑफ़ डेथ में पहला मैच जीतना बेहद अहमियत रखता है।

पावरप्ले में बिना पावर का खेल

मैच की पहली पांच गेंदों पर तो बवूमा ने धमाकेदार आग़ाज़ किया था और मिचेल स्टार्क के ओवर में 11 रन बटोर लिए थे। प्वाइंट और कवर के बीच में से जिस अंदाज़ में बवूमा ने दो चौके लगाए थे, वह टी20 विश्वकप में इस टीम के इरादे को दर्शा रहा था। हाल ही में इस टीम ने मौजूदा विश्व चैंपियन और पूर्व वर्ल्ड चैंपियन के ख़िलाफ़ लगातार दो टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में जीत हासिल की थी। लेकिन मैक्सवेल की पहली ही गेंद पर बवूमा क्लीन बोल्ड हो गए और वहां से साउथ अफ़्रीकी बल्लेबाज़ तू चल मैं आया की धुन पर पवेलियन की राह पकड़ ली थी।

लड़खड़ा गई पारी

पावरप्ले में तीन विकेट गंवाने के बाद एडन मारक्रम ने 36 गेंदों पर 40 रनों की पारी खेलते हुए टीम को वापसी दिलाने की कोशिश की थी, लेकिन ऐडम ज़ैम्पा के एक ओवर में दो विकेट गिरने के बाद पारी फिर लड़खड़ा गई और छह गेंदों के अंतराल में साउथ अफ़्रीका 80/4 से 80/7 हो गया था। अंतिम लम्हों में कगिसो रबाडा ने 19 रनों की नाबाद पारी खेलते हुए स्कोर बोर्ड पर 118/9 रन पहुंचा दिया था।

अलगप्पन मुथु ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।