भारतीय आलराउंडर हार्दिक पंड्या गेंदबाज़ी करने के लिए अभी भी फ़िट नहीं हैं। उन्होंने आईपीएल के दोनों चरण में एक भी गेंद नहीं फेंकी थी। हालांकि टीम में उनकी जगह निश्चित है। पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मुक़ाबले से पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी कुछ यही संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि हार्दिक एक ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ हैं, जिनकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। वह एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के रूप में भी टीम में जगह बनाने की योग्यता रखते हैं। पंड्या को पीठ की समस्या है, जिसकी उन्होंने 2019 में सर्जरी करवाई थी। हालांकि फिर भी यह पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाई है।

कोहली ने मैच से पहले प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, "सच कहूं तो हार्दिक की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है और वह टूर्नामेंट के अहम मौक़ों पर कम से कम दो ओवर गेंदबाज़ी करने के लिए तैयार हैं। हम उन्हें समय देने के लिए तैयार हैं, इसके अलावा बीच के ओवरों में एक या दो ओवर करने के लिए हमारे पास एक-दो दूसरे विकल्प भी हैं। इसलिए यह कोई चिंता की बात नहीं है। जो वह नंबर छह पर बल्लेबाज़ी के दौरान कर सकते हैं, उसे प्राप्त करने के लिए रातों-रात विकल्प नहीं तैयार किया जा सकता है।"

हालांकि पंड्या की बल्लेबाज़ी भी हाल के दिनों में कुछ ख़ास नहीं रही है। उन्होंने आईपीएल 2021 की 11 पारियों में सिर्फ़ 127 रन बनाए हैं। कोहली ने इशारा किया कि पिछले साल ऑस्ट्रेलिया को टी20 सीरीज़ में 2-1 से हराने में पंड्या की आतिशी बल्लेबाज़ी का ख़ासा योगदान था। पंड्या ने सिडनी में 22 गेंदों में 42 रन बनाए थे और भारत को सीरीज़ जिताने में मदद की थी।

उन्होंने कहा, "मैं ऑस्ट्रेलिया दौरे से ही उन्हें सिर्फ़ एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के रूप में खेलने के लिए प्रोत्साहित कर रहा हूं। जब वह फ़ॉर्म में होते हैं, तो अकेले दम पर मैच को दूर ले जाने की क्षमता रखते हैं। यह बस बात करने की बातें हैं कि अगर वह गेंदबाज़ी नहीं करेंगे तो बाहर हो जाएंगे। टी20 क्रिकेट में कोई भी टीम नंबर छह पर पंड्या जैसे बल्लेबाज़ का विकल्प चाहेगी, जो खेल पर अपनी छाप छोड़ सके। वह ना सिर्फ़ ताबड़तोड़ बल्कि ज़रुरत पड़ने पर लंबी पारी भी खेल सकते हैं। इसलिए हमारे लिए उनकी बल्लेबाज़ी अधिक ज़रूरी है ना कि गेंदबाज़ी, जो वह अभी करने के लिए तैयार नहीं हैं।"

आईपीएल के दौरान यूएई की पिचें बहुत अधिक धीमी थीं, जिससे बल्लेबाज़ों को स्ट्रोक खेलने में बाधा आ रही थी। कोहली को भरोसा है कि दुबई और अबू धाबी की पिच विश्व कप के दौरान अच्छा खेलेगी।

कोहली ने कहा, "टी20 विश्व कप में पिचें आईपीएल से बेहतर होने जा रही हैं। आईसीसी का टूर्नामेंट होने के कारण पिचों को कुछ निश्चित मानक पूरा करने होंगे। दुबई में ओस बहुत बड़ा कारक होने जा रहा है। अबू धाबी की पिच भी बेहतर खेलेगी, वहीं शारजाह की पिच पहले की ही तरह धीमी रहेगी। मैं वहां पर अधिक बड़े स्कोर के मैच की उम्मीद नहीं करता।"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर दया सागर ने किया है