मैच (16)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (2)
ENG v PAK (1)
USA vs BAN (1)
WI vs SA (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स : राहुल... नाम तो सुना होगा

कोलकाता में मिली जीत में रहा भारतीय गेंदबाज़ों का बोलबाला

KL Rahul steered India home with an unbeaten half-century, India vs Sri Lanka, 2nd ODI, Kolkata, January 12, 2023

मुश्किल परिस्थितियों में के एल राहुल ने भारत को जीत दिलाई  •  BCCI

कोलकाता की कठिन पिच और ठंड में भारत ने एक संघर्षपूर्ण जीत दर्ज कर श्रीलंका के विरुद्ध वनडे सीरीज़ में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली। टी20 और टी10 के समय में इस मैच ने 1990 के दशक के दिनों की याद दिला दी, जहां गेंदबाज़ हमेशा मैच में हावी रहते थे। इस जीत में किसने किया प्रभावित और कौन पड़ गया फीका? सारी जानकारी मिलेगी यहां।

क्या सही और क्या ग़लत?


विश्व कप की तैयारी के मद्देनज़र यह भारतीय मध्य क्रम के लिए कड़ी चुनौती थी और खिलाड़ियों ने इससे अच्छे ढंग से पूरा किया। इसके अलावा गेंदबाज़ों का लगातार विकेट झटकना एक अच्छा संकेत है।
शीर्ष क्रम हमेशा से भारत का मज़बूत पक्ष रहा है और टॉप तीन में से किसी एक बल्लेबाज़ का बड़ा स्कोर बनाना एक तरह से आवश्यक है। साथ ही फ़ील्डिंग में भारतीय टीम को काम करने की ज़रूरत है।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)


शुभमन गिल, 7 : पहली पारी में गिल के रन आउट ने मैच में भारत की वापसी में चार चांद लगाए थे और दूसरी पारी में उनकी तेज़ शुरुआत ने जीत की नींव रखी। हालांकि कुछ आकर्षक शॉट लगाने के बाद वह अपने पसंदीदा बैकफ़ुट पर पुल लगाने के प्रयास में लपके गए।
रोहित शर्मा, 6 : रोहित और ईडन गार्डंस का तो बहुत पुराना याराना है। इसी रिश्ते को बरक़रार रखते हुए रोहित ने अपनी छोटी पारी में आतिशी बल्लेबाज़ी की। उनका यह अंदाज़ विश्व कप वर्ष में भारतीय टीम के लिए शुभ संकेत है।
विराट कोहली, 4 : पिछले मैच के शतकवीर कोहली इस पारी को भुलाना चाहेंगे। श्रीलंका ने उन्हें पारी की शुरुआत में आसानी से अपना खाता खोलने का मौक़ा नहीं दिया। इसके बाद जब उनके बल्ले से रन निकलना शुरू हो ही रहे थे कि अंदर आने वाली गेंद उनके स्टंप्स बिखेर गई।
श्रेयस अय्यर, 7 : तीन लगातार विकेट गंवाने के बाद भारत को एक साझेदारी की तलाश थी और श्रेयस ने इसमें योगदान दिया। पिछले साल ख़ूब रन बनाने वाले इस खिलाड़ी ने पांच चौके लगाए लेकिन शायद ऐसे समय पर आउट हुए जहां भारत को उनसे बड़े स्कोर की उम्मीद थी।
के एल राहुल, 10 : फ़ॉर्म, स्ट्राइक रेट, रवैया, कप्तानी - इन सभी आलोचनाओं के तूफ़ान से गुज़रने के बाद राहुल ने दिखाया कि क्यों वह भारतीय वनडे टीम के प्रमुख विकेटकीपर हैं। मुश्किल पिच पर कठिन स्थिति में फंसी टीम की नैय्या पार लगाने में राहुल का बहुत बड़ा हाथ था। श्रीलंका और जीत के बीच राहुल डटकर खड़े रहे और 64 रन बनाकर नाबाद लौटे।
हार्दिक पंड्या, 9 : फ़ील्डिंग में उन्होंने कप्तान को थोड़ा निराश किया लेकिन उनकी गेंदबाज़ी और बल्लेबाज़ी बेहतरीन रही। जब साझेदारी की आवश्यकता थी तब हार्दिक ने राहुल का साथ दिया और पारी को संभाला। वह अर्धशतक से तो चूके लेकिन उनकी पारी उससे कहीं ज़्यादा अनमोल थी।
अक्षर पटेल, 9.5 : अगर आप बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ी ऑलराउंडर हैं तो आपका एक ख़तरनाक फ़ील्डर होना शायद ज़रूरी है। ऐसा मैं नहीं कह रहा बल्कि अक्षर साबित कर रहे हैं। कप्तान ने गेंद थमाई तो पहले ओवर में विकेट दिलाई। फिर बैकवर्ड प्वाइंट क्षेत्र में तीन बढ़िया कैच लपककर श्रीलंकाई विकेटों के पतन में उन्होंने अपना बड़ा योगदान दिया। बल्ले के साथ उनके 21 रन भी एक महत्वपूर्ण मोड़ पर आए।
कुलदीप यादव, 9.5 : वनडे टीम में वापसी करने का इससे अच्छा तरीक़ा नहीं हो सकता था कुलदीप के लिए। अपनी गेंदों को दोनों दिशाओं में स्पिन करवाते हुए उन्होंने श्रीलंकाई मध्य क्रम की कमर तोड़ दी। उनके पास पांच विकेट लेने का अच्छा मौक़ा था लेकिन वह इसमें नाकाम रहे। फ़ील्डिंग में उन्हें थोड़ी समस्या हो रही थी लेकिन इसकी भरपाई उन्होंने निचले क्रम में रन बनाकर की।
मोहम्मद शमी, 7 : इस मैच के शमी के आंकड़े देखकर ऐसा लगेगा कि उन्होंने बहुत संघर्ष किया लेकिन कहानी एकदम विपरीत थी। उनकी गेंदों पर बढ़िया स्विंग देखने को मिल रहा था और उन्होंने कई मौक़ों पर बल्ले के बाहरी किनारे को बीट किया और ग़लतियां करवाई। भाग्य का साथ मिलता तो शायद वह विकेट भी ले जाते। महंगे साबित होने के कारण उनके अंक कटे।
मोहम्मद सिराज, 9 : सिराज इस मैच में भारतीय टीम के सबसे सफल गेंदबाज़ बनकर उभरे। अपने दूसरे ओवर में लगातार तीन चौके खाने के बाद उन्होंने अच्छी वापसी की और एक बार फिर भारत को पावरप्ले में विकेट दिलाई। इसके बाद जब कप्तान ने उन्हें पारी समेटने की ज़िम्मेदारी दी और यह काम भी उन्होंने बख़ूबी पूरा किया। कुल मिलाकर सिराज ने तीन शिकार किए।
उमरान मलिक, 8 : प्रसिद्ध कृष्णा की चोट ने उमरान मलिक के भारतीय वनडे टीम में आने का दरवाज़ा खोल दिया। अब उमरान दर्शा रहे हैं कि वह मध्य ओवरों में विकेट झटकने की कला में माहिर हैं। अतिरिक्त गति और नियंत्रण का संगम बैठाकर उन्होंने दो सफलताएं अपने नाम की।

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।