मैच (16)
IPL (3)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (2)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

मुझे ऐसा लगा कि मैं अच्छी बल्लेबाज़ी नहीं कर रहा हूं : कोहली

भारतीय बल्लेबाज़ इस कठिन दौर से गुज़रने के बाद ख़ुद को अधिक महत्व देने लगे हैं

28 अगस्त को अपना 100वां टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल सकते हैं विराट कोहली  •  BCCI

28 अगस्त को अपना 100वां टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेल सकते हैं विराट कोहली  •  BCCI

पूर्व भारतीय कप्तान विराट कोहली के अनुसार वह इंग्लैंड के हालिया दौरे पर सहज महसूस नहीं कर रहे थे। कोहली ने बताया कि उन्हें एहसास हुआ कि वह बिल्कुल भी अच्छी बल्लेबाज़ी नहीं कर रहे हैं।
स्टार स्पोर्ट्स के विशेष कार्यक्रम गेम प्लान में बात करते हुए कोहली ने कहा, "इंग्लैंड में जो हुआ वह एक पैटर्न था। वह कुछ ऐसा (मुद्दा) था जिस पर मैं काम कर सकता था। मुझे ऐसा नहीं लग रहा था कि मैं अच्छी बल्लेबाज़ी कर रहा हूं।"
इंग्लैंड दौरे के बाद से कोहली ने कोई प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है। उन्हें वेस्टइंडीज़ और ज़िम्बाब्वे के दौरे के लिए टीम में नहीं चुना गया था और बीसीसीआई ने उन्हें टीम से बाहर रखने के कारण की जानकारी नहीं दी थी। एशिया कप के लिए कोहली भारतीय टीम में वापस आ गए हैं।
कोहली के लिए एशिया कप अपने बुरे दौर को आख़िरकार पीछे छोड़ने और अच्छे फ़ॉर्म को वापस पाने का बढ़िया अवसर प्रदान करेगा। कोहली के बल्ले से शतक का इंतज़ार कब ख़त्म होगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा लेकिन पाकिस्तान के विरुद्ध 28 अगस्त को भारत के पहले मैच में वह टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों का सैंकड़ा ज़रूर पूरा कर सकते हैं।
टीम से बाहर रहते हुए कोहली को विचार करने और अपने खेल को बेहतर ढंग से समझने का समय मिला।
कोहली ने बताया कि उन्हें किसी एक चीज़ पर कड़ी मेहनत करनी पड़ी जिसे बार-बार उजागर किया जा सकता था। उनके अनुसार वह उस चीज़ पर विजय प्राप्त कर चुके हैं।
33 वर्षीय बल्लेबाज़ के लिए पिछले कुछ महीने इतने अच्छे नहीं रहे है। शतक बनाए हुए उन्हें 1000 से अधिक दिन हो चुके हैं। आईपीएल के पिछले तीन सीज़नों में उनका स्ट्राइक रेट 125 से कम रहा है। इसके अलावा ऐसा लग रहा था कि वह आउट होने के नए तरीक़े तलाश रहे हैं। इंग्लैंड दौरे पर जहां दो टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कोहली ने 12 रन बनाए, वनडे सीरीज़ के दो मुक़ाबलों में उनके बल्ले से कुल 33 रन निकले।
कोहली के अनुसार यह कठिन दौर उनके करियर के लिए बहुत महत्वपूर्ण रहा है और इसने खेल और जीवन के प्रति उनके दृष्टिकोण में सुधार किया है।
उन्होंने कहा, "मुझे पता है कि मेरा खेल किस पड़ाव पर है। मेरे लिए इस दौर को समझना आसान है लेकिन मैं इसे भुलाना नहीं चाहता। मैं इससे सीखना चाहता हूं। मैं समझना चाहता हूं कि एक खिलाड़ी और एक इंसान के रूप में मेरे मूल मूल्य क्या हैं। जब तक मैं उन बातों पर खरा उतर रहा हूं, मुझे पता है कि उतार-चढ़ाव आएंगे और जब मैं इस दौर से बाहर आऊंगा तो मुझे पता है कि मैं कितना निरंतर हो सकता हूं।"
कोहली ने यह भी बताया की वह अब ख़ुद को अधिक महत्व देने लगे हैं।

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।